1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. सिर्फ एक संकेत से जान लीजिए कि आप कोरोना के शिकार हैं या सिर्फ खांसी-बुखार है

सिर्फ एक संकेत से जान लीजिए कि आप कोरोना के शिकार हैं या सिर्फ खांसी-बुखार है

आपको बता दें कि फ्लू, कोरोना और सर्दी-जुकाम की समस्या अलग-अलग वायरस के कारण होती है। लेकिन इनके लक्षण इतना ज्यादा सामान्य होते हैं कि हर कोई कंफ्यूज हो जाता है। कि वास्तव में वह किस बीमारी का शिकार है।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: October 13, 2020 10:49 IST
सिर्फ इस एक लक्षण से जानिए कि आप कोरोना या फिर कोल्ड-फ्लू के हैं शिकार कि नहीं- India TV Hindi
Image Source : INSTAGRAM/MALAYALAMSAMAYAM सिर्फ इस एक लक्षण से जानिए कि आप कोरोना या फिर कोल्ड-फ्लू के हैं शिकार कि नहीं

कोरोना वायरस के केस देश में लगातार बढ़ते जा रहे हैं। बदलते मौसम के कारण अधिकतर लोगों को सर्दी-जुकाम की समस्या हो रही हैं। ऐसे में हर किसी के दिमाग में ख्याल आता है कि वह कोरोना से संक्रमित हो गया है। कोरोना वायरस से संक्रमित अधिकांश लोगों को बुखार, खांसी, जुकाम, स्वाद और सूंघने की शक्ति पर प्रभाव पडता है।

आपको बता दें कि फ्लू, कोरोना और सर्दी-जुकाम की समस्या अलग-अलग वायरस के कारण होती है। लेकिन इनके लक्षण इतना ज्यादा सामान्य होते हैं कि हर कोई कंफ्यूज हो जाता है। कि वास्तव में वह किस बीमारी का शिकार है। 

 नेशनल हेल्थ सर्विस के मुताबिक सर्दी-जुकाम की समस्या में कभी भी हाई टेंपरेचर नहीं होता है। अगर शरीर का तापमान 37.8 डिग्री सेल्सियस या इससे ज्यादा हैं तो इसे हाई टेंपरेचर कहा जाता है। ऐसा तभी होता है जब आपका शरीर किसी संक्रमण का शिकार हो गया हो। लेकिन आपको बता दें कि कोरोना का एक अहम लक्षण बुखार भी माना जाता है। 

कही आप गलत तरीके से नहीं कर रहे हैं योग, स्वामी रामदेव से जानिए सही तरीका

अगर आपका इतना टेंपरेचर हैं तो आप खुद को आइसोलेट कर सकते हैं।  नेशनल हेल्थ सर्विस के मुताबिक शरीर केो तापमान को 3 तरीके से मापा जा सकता है। पहला तरीका थर्मामीटर को मुंह में दबाना। दूसरा तरीका थर्मामीटर को बगल में दबाना और तीसरा तरीका है डिजिटल थर्मामीटर को कान में डालकर बटन दबाने मात्र से शरीर के तापमान का पता चल जाएगा। 

कोल्ड और फ्लू के सामान्यता एक जैसे ही लक्षण होते हैं जैसे ठंड लगना, सिरदर्द, थकान, गले में खराश, नाक बहना, मसल्स में पैन, खांसी और नाक बहना शामिल है। वहीं कोरोना की बात करें तो फ्लू और कोल्ड से थोड़ी अलग खांसी होती हैं। 

28 दिनों तक मोबाइल और नोट पर जिंदा रह सकता है कोरोना वायरस, जानें कैसे करें सैनिटाइज

कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति को लगातार खांसी आने की समस्या होती है। संक्रमित व्यक्ति को 1 घंटे या इससे ज्यादा देर भी लगातार खांसी आ सकती हैं। अगर  आपको लंबे वक्त से 'क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिसीज (COPD) के कारण खांसी हो रही है तो इसे हल्के में न लें।  अगर आपके साथ भी ऐसा 24 घंटे में 3-4 बार हो और बिल्कुल भी आराम न मिल रहा हैं तो एक बार कोरोना टेस्ट जरूर कराएं। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। सिर्फ एक संकेत से जान लीजिए कि आप कोरोना के शिकार हैं या सिर्फ खांसी-बुखार है News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन
Write a comment
X