1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. पेंशनरों द्वारा निजी अस्पताल में लगवाए गए कोरोना टीके का भुगतान CGHS करेगा?

पेंशनरों द्वारा निजी अस्पताल में लगवाए गए कोरोना टीके का भुगतान CGHS करेगा?

पेंशनर के निजी अस्पतलों में कोरोना टीका लगवाने और बिल की प्रतिपूर्ति सीजीएचएस द्वारा किए जाने को लेकर सही जानकारी सामने आयी है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: April 02, 2021 18:35 IST
Aadhar card compulsory,Corona Vaccination Drive,Corona Vaccine,corona vaccine @ 250,corona vaccine p- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO पेंशनरों द्वारा निजी अस्पताल में लगवाए गए कोरोना टीके का भुगतान CGHS करेगा?

नई दिल्ली। पेंशनर के निजी अस्पतलों में कोरोना टीका लगवाने और बिल की प्रतिपूर्ति सीजीएचएस द्वारा किए जाने को लेकर सही जानकारी सामने आयी है। दरअसल, सोशल मीडिया पर एक खबर का स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि पेंशनर निजी अस्पतालों में कोरोना टीका लगवाएं जिसका भुगतान सीजीएचएस करेगा। यूपी के कानपुर से प्रकाशित इस खबर में कहा गया है कि, सीजीएचएस के कर्मचारीयों और पेंशनरों को बड़ी राहत मिल मिल गई है। उन्हें निजी अस्पतालों में कोरोना का टीका लगवाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। टीका का सीजीएचएस की ओर भुगतान किया जाएगा।

जानिए दावे की सच्चाई

इस खबर को लेकर अब सरकार की ओर से सफाई सामने आई है। सरकार के पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) ने इस पर फैक्ट चेक किया है। पीआईबी फैक्ट चेक टीम ने ट्वीट कर कहा है कि, 'एक खबर का दावा है कि पेंशनरों द्वारा पैनल के निजी अस्पतालों में कोविड टीकाकरण कराने पर बिल की प्रतिपूर्ति सीजीएचएस द्वारा की जाएगी।' #PIBFactCheck: यह दावा फर्जी है। लाभार्थियों के निजी अस्पतालों में कोविड टीकाकरण कराने पर CGHS द्वारा बिल की प्रतिपूर्ति नहीं की जाएगी। 

कोरोना टीकाकरण के लिए ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन

देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच 1 अप्रैल से केंद्र सरकार ने 45 से अधिक उम्र के लोगों के लिए भी कोरोना वैक्सीन लगाने को मंजूरी दे दी है। यदि आप भी कोरोना वैक्सीन लगवाना चाहते है तो एडवांस बुकिंग cowin.gov.in के माध्यम से की जा सकती है। इसके अलावा अपने घर से पास मौजूद टीकाकरण केंद्र पर जाकर पंजीकरण करवा सकते हैं।

बता दें कि, सोशल मीडिया पर रोजाना वायरल होते मैसेज और तस्वीरों के लिए केंद्र सरकार ने पीआईबी के अंतर्गत एक फैक्ट चेक विंग बनाई है। केंद्र सरकार ने पीआईबी के माध्यम से कहा है, अगर आपको भी कोई ऐसा मैसेज मिलता है तो फिर उसको पीआईबी के पास फैक्ट चेक के लिए https://factcheck.pib.gov.in/ अथवा व्हाट्सऐप नंबर +918799711259 या ईमेलः pibfactcheck@gmail.com पर भेज सकते हैं। यह जानकारी पीआईबी की वेबसाइट https://pib.gov.in पर भी उपलब्ध है।

Click Mania
bigg boss 15