1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. कोसी रेल महासेतु का उदघाटन करेंगे पीएम मोदी, 90 वर्ष पुराना सपना होगा साकार

कोसी रेल महासेतु का उदघाटन करेंगे पीएम मोदी, 90 वर्ष पुराना सपना होगा साकार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार (18 सितंबर) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बिहार में कोसी रेल महासेतु का उदघाटन करेंगे। साथ ही कई और रेल परियोजनाओं का भी अनावरण करेंगे। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: September 17, 2020 18:16 IST
कोसी रेल महासेतु का उदघाटन करेंगें पीएम मोदी, 90 वर्ष पुराना सपना होगा साकार- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO कोसी रेल महासेतु का उदघाटन करेंगें पीएम मोदी, 90 वर्ष पुराना सपना होगा साकार

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार (18 सितंबर) को बिहार में कोसी रेल महासेतु का उदघाटन करेंगे और साथ में कई और रेल परियोजनाओं का भी अनावरण करेंगे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानंत्री मोदी दिल्ली से इस महासेतू को राष्ट्र के नाम समर्पित करेंगे। ऐसा माना जाता है कि कोसी नदी के ऊपर इस पुल की मांग 90 वर्षों से हो रही थी और अब जाकर यह मांग पूरी हुई है। 

प्रधानमंत्री मोदी जब इस पुल का उदघाटन करेंगे तो वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बिहार के राज्यपाल फागू चौहान, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, पीयूष गोयल और बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी उपस्थित होंगे। कोसी नदी पर बना यह रेल महासेतु 1.9 किलोमीटर लंबा है और 516 करोड़ रुपए की लागत से इसे बनाया गया है। पुल के बनने से भारत-नेपाल सीमा के नजदीक संपर्क और आवागमन आसान होगा। इस पुल के बनने के बाद बिहार में मिथिला और कोसी क्षेत्र रेल संपर्क से जुड़ जाएगा। पुल के बनने से बिहार में निर्मला और सरायगढ़ के बीच की रेल दूरी 296 किलोमीटर से घटकर सिर्फ 22 किलोमीटर रह जाएगी।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को बिहार में कोसी रेल महासेतु का उदघाटन करेंगे और साथ में कई और रेल परियोजनाओं का भी अनावरण करेंगे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानंत्री मोदी दिल्ली से इस महासेतू को राष्ट्र के नाम समर्पित करेंगे। ऐसा माना जाता है कि कोसी नदी के ऊपर इस पुल की मांग 90 वर्षों से हो रही थी और अब जाकर यह मांग पूरी हुई है। 

प्रधानमंत्री मोदी जब इस पुल का उदघाटन करेंगे तो वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बिहार के राज्यपाल फागू चौहान, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, पीयूष गोयल और बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी भी उपस्थित होंगे। कोसी नदी पर बना यह रेल महासेतु 1.9 किलोमीटर लंबा है और 516 करोड़ रुपए की लागत से इसे बनाया गया है। पुल के बनने से भारत-नेपाल सीमा के नजदीक संपर्क और आवागमन आसान होगा। इस पुल के बनने के बाद बिहार में मिथिला और कोसी क्षेत्र रेल संपर्क से जुड़ जाएगा। पुल के बनने से बिहार में निर्मला और सरायगढ़ के बीच की रेल दूरी 296 किलोमीटर से घटकर सिर्फ 22 किलोमीटर रह जाएगी।

अटल बिहारी वाजपेयी ने रखी थी नींव

बता दें कि, बिहार में वर्ष 1934 में आए भूकंप के दौरान कोसी नदी पर बना रेल पुल क्षतिग्रस्त हो गया था। इसके साथ ही उत्तर और पूर्व बिहार के बीच का रेल संपर्क टूट गया था। 6 जून 2003 को तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने कोसी नदी पर रेल पुल की नींव रखी थी। 17 साल बाद यह पुल बनकर तैयार हुआ है, जिसका उद्घाटन 18 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। 

बिहार में तीन पेट्रोलियम परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित

इससे पहले पीएम मोदी ने बिहार में तीन पेट्रोलियम परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित किया। इन परियोजनाओं में पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर पाइपलाइन परियोजना का दुर्गापुर-बांका खंड और दो एलपीजी बॉटलिंग संयंत्र शामिल था। इससे बिहार में रोजगार के प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष अवसर भी उपलब्ध होंगे।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment