1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. सेना ने ऑपरेशन उरी को दिया अंजाम, 7 दिन में 7 आतंकी ढेर, एक को जिंदा पकड़ा

सेना ने ऑपरेशन उरी को दिया अंजाम, 7 दिन में 7 आतंकी ढेर, एक को जिंदा पकड़ा

भारतीय सेना ने एक पाकिस्तानी आतंकी को जिंदा पकड़ा है। सेना ने मीडिया के साथ इस आतंकी की एक तस्वीर भी शेयर की है। आतंकी का नाम अली बाबर पात्रा है, वो पाकिस्तान के ओकारा जिले में दिपालपुर गांव का रहने वाला है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: September 28, 2021 14:33 IST

श्रीनगर. भारतीय सेना को उरी मे बड़ी सफलता मिली है। भारतीय सेना ने पिछले 7 दिनों में 7 आतंकवादियों को ढेर किया है। इसके अलावा भारतीय सेना ने एक पाकिस्तानी आतंकी को जिंदा पकड़ा है। सेना ने मीडिया के साथ इस आतंकी की एक तस्वीर भी शेयर की है। आतंकी का नाम अली बाबर पात्रा है, वो पाकिस्तान के ओकारा जिले में दिपालपुर गांव का रहने वाला है। आतंकी ने सेना को बताया कि वह लश्कर ए तैयबा का सदस्य है। उसको प्रशिक्षण भी मिला हुआ है। 2019 में वह 3 हफ्ते की आतंकी ट्रेनिंग खैबर कैंप गढ़ी हबीबुल्ला मुजफ्फराबाद में ले चुका है।

उरी में 10 दिन से चल रहा था सेना का ऑपरेशन

उरी में पिछले 10 दिनों से चल रहे ऑपरेशन के खत्म होने के बाद भारतीय सेना के मेजर जनरल विरेंद्र वत्स, GOC, 19 Infantry Division ने प्रेस कॉन्फ्रेस कर बताया कि यह ऑपरेशन 18 सितंबर की रात को शुरू हुआ था, LOC पर सेना की पेट्रोलिंग पार्टी ने कुछ संदिग्ध मूवमेंट देखी, मूवमेंट को देखते हुए फायरिंग की गई, जिसके बाद पता चला कि 6 आतंकी भारतीय सीमा में घुसने का कोशिश में थे।

उन्होंने बताया कि 2 भारतीय सीमा में घुस चुके थे और 4 दूसरी तरफ थे। भारतीय सेना की फायरिंग के बाद जो 4 आतंकी पाकिस्तान की तरफ से थे, वे अंधेरे का फायदा उठाकर पाकिस्तान की तरफ चले गए और जो 2 आतंकी भारतीय सीमा में दाखिल हो चुके थे वे फायरिंग के बाद और अंदर आ गए। उन्होंने बताया कि यह सब 18 सितंबर की रात को हुआ। इसके बाद दोनो आतंकवादियों को 25 सितंबर की शाम को एनकाउंटर में घेरा गया। इनमें से एक आतंकवादी को 26 सितंबर को मार दिया गया जबकि दूसरे ने सेना से अपनी जान बचाने की गुहार लगाई।

मेजर जनरल विरेंद्र वत्स ने बताया कि भारतीय सेना ने निहत्था होने की वजह से आतंकी पर फायरिंग नहीं की और उसे हिरासत में ले लिया। हिरासत में पूछताछ के दौरान आतंकी ने  बताया कि उसका नाम अली बाबर पात्रा है और वह 19 साल का है। उसने यह भी बताया कि उसको प्रशिक्षण भी मिला हुआ है, 2019 में वह 3 हफ्ते की आतंकी ट्रेनिंग खैबर कैंप गढ़ी हबीबुल्ला मुजफ्फराबाद में ले चुका है। ट्रेनिंग के बाद उसे घर भेज दिया गया, इसके बाद उसे इस साल कुछ जरूरी काम के लिए बुलाया गया। उसे उसकी मां का कॉन्टेक्ट नंबर भी दिया गया 03013668927।

भारतीय सेना ने बताया कि आतंकियों द्वारा घुसपैठ की यह कोशिश सलामाबाद नाला में की गई थी। यह वहीं क्षेत्र है जिसके जरिए 2016 में उरी में आत्मघाती हमले के लिए आतंकी घुसे थे। उन्होंने यह भी बताया कि घुसपैठियों को पाकिस्तान की तरफ से भारत में घुसने के लिए समर्थन दिया है। वह क्षेत्र पूरी तरह से पाक सेना के नियंत्रण में है, ऐसे में सेना की मंजूरी के बिना वह घुसपैठ नहीं कर सकते। 

Click Mania
bigg boss 15