सेना में अहीर रेजीमेंट की मांग को लेकर प्रदर्शन हुआ हिंसक, पुलिस ने सिंगर फाजिलपुरिया समेत कई लोगों को लिया हिरासत में

आंदोलन में शामिल हुए गायक और रैपर फाजिलपुरिया ने कहा कि, भारतीय सेना में अहीर रेजीमेंट के लिए शान्तिपूर्ण संघर्ष लम्बे समय से चल रहा है और इस मांग के लिए हम प्रदर्शन करेंगे। लेकिन इस दौरान पुलिस पर पथराव करना गलत है।

Sudhanshu Gaur Edited By: Sudhanshu Gaur @SudhanshuGaur24
Published on: November 18, 2022 23:28 IST
सेना में अहीर रेजीमेंट की मांग को लेकर प्रदर्शन हुआ हिंसक- India TV Hindi
Image Source : FILE सेना में अहीर रेजीमेंट की मांग को लेकर प्रदर्शन हुआ हिंसक

भारतीय थल सेना में अहीर रेजिमेंट बनाने की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हुई झड़प में कई लोग घायल हो गए। पुलिस ने 200 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि सैंकड़ों प्रदर्शनकारी शुक्रवार को सुबह करीब साढ़े 10 बजे प्रदर्शन स्थल पर जमा हुए और उन्होंने दिल्ली-जयपुर राजमार्ग रोकने की कोशिश की। जब पुलिस ने उन्हें हिरासत में लेना शुरू किया तो उनमें से कुछ ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। 

विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए गायक फाजिलपुरिया  

पुलिस ने कहा कि झड़प में तीन पुलिसकर्मियों समेत छह लोग घायल हो गए। सहायक पुलिस आयुक्त (मानेसर) सुरेश कुमार ने कहा, “प्रदर्शनकारी राजमार्ग बंद करना चाहते थे और हमने उन्हें हिरासत में ले लिया। हमने उनसे कहा है कि अगर वे विरोध प्रदर्शन करना चाहते हैं तो करें, लेकिन प्रदर्शन राजमार्ग पर नहीं करने दिया जाएगा।” विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए बॉलीवुड गायक और रैपर राहुल यादव उर्फ फाजिलपुरिया को भी पुलिस ने हिरासत में लिया, लेकिन बाद में छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि पहली बार अहीर समुदाय ने कोई मांग की है। 

सिंगर फाजिलपुरिया को भी पुलिस ने हिरासत में लिया, हालांकि बाद में उन्हें रिहा कर दिया गया

Image Source : FACEBOOK
सिंगर फाजिलपुरिया को भी पुलिस ने हिरासत में लिया, हालांकि बाद में उन्हें रिहा कर दिया गया

पुलिस पर पत्थरबाजी करना गलत - फाजिलपुरिया

फाजिलपुरिया ने कहा, “शांतिपूर्ण आंदोलन लंबे समय से चल रहा है और हम इस मांग के लिए संघर्ष करेंगे। हालांकि, पुलिस पर पथराव निंदनीय है।” विरोध प्रदर्शन के दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों ने नखदौला गांव के पास दिल्ली-जयपुर राजमार्ग पर एक ट्रक की चाबी निकालकर उसके पहियों की हवा निकाल दी तथा इस तरह उन्होंने सड़क जाम कर दिया। पुलिस ने कहा कि करीब 40 मिनट तक यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। 

20 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया

पुलिस ने बताया कि बाद में क्रेन की मदद से ट्रक को हटाकर राजमार्ग पर यातायात बहाल कर दिया गया। पुलिस ने कहा कि हिरासत में लिए गए प्रदर्शनकारियों को हरियाणा रोडवेज की 10 से अधिक बसों से विभिन्न थानों में ले जाया गया। लेकिन कुछ प्रदर्शनकारियों ने हिरासत में लिए गए लोगों को रास्ते में एक बस रोककर छुड़ा लिया। देर शाम खेरकी दौला थाने में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं के तहत दो अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की गईं और 20 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया। 

वीडियो और फोटो से पहचाने जा रहे पत्थरबाज 

मानेसर के ACP सुरेश कुमार ने कहा, “प्रदर्शनकारियों के खिलाफ शांति भंग करने और पथराव करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है, जबकि एक अन्य मामला हिरासत में लिए गए प्रदर्शनकारियों को उपद्रवियों द्वारा बस से छुड़ाने के लिए दर्ज किया गया। प्रदर्शनकारियों की पहचान के लिए फोटो और वीडियो की मदद ली जा रही है। 200 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया।” प्रदर्शनकारियों ने खेड़की दौला टोल के निकट विरोध प्रदर्शन करने की घोषणा की थी, जिसके बाद गुरुग्राम यातायात पुलिस ने बृहस्पतिवार को एक एडवाइजरी जारी किया था। 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन