Friday, July 19, 2024
Advertisement

Exclusive: अमरनाथ यात्रा में आतंकी हमले की साजिश, लाहौर-बहावलपुर में तैयार हुआ दहशतगर्दी का प्लान

अमरनाथ यात्रा में आतंकी हमले का साया है। पाकिस्तान के लाहौर और बहावलपुर में हमले को लेकर आतंकी संगठन से जुड़े लोगों की मीटिंग हुई है। अमरनाथ यात्रा के साथ ही जम्मू और कश्मीर में फिदायीन हमले की साजिश रची गई है।

Reported By : Manish Prasad Edited By : Dhyanendra Chauhan Updated on: June 25, 2024 9:52 IST
जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी अब्दुल रहमान मक्की- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी अब्दुल रहमान मक्की

अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाने के लिए पाकिस्तान में साजिश रची जा रही है। हथियारों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचाने के लिए लाहौर और बहावलपुर में भी मीटिंग हुई है। लश्कर आतंकी संगठन की एक बड़ी मीटिंग जम्मू-कश्मीर को लेकर लाहौर में हुई है। इस मीटिंग में लश्कर का नंबर टू का आतंकी आमिर अब्दुल रहमान मक्की शामिल था। इस मीटिंग का मेन एजेंडा कम से कम 20 M फोर अमेरिकी हथियार को जम्मू-कश्मीर में भेजने का है। इसके जरिए अमरनाथ यात्रा के पूरे रूट पर अलग-अलग जगहों पर अटैक करना है।

जम्मू-कश्मीर में फिदायीन हमले की भी तैयारी

वहीं, दूसरी मीटिंग जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों की बहावलपुर में हुई है। इस मीटिंग को मुफ्ती अब्दुल रऊफ ने पाकिस्तानी ISI और आतंकियों के साथ मिलकर किया है। इसमें जैश-ए-मोहम्मद के ओवर ग्राउंड वर्कर और इन्फॉर्म वर्ष को पैसा पहुंचाकर एक्टिव करने के लिए कहा गया है। साथ में घाटी के अंदर ही नहीं बल्कि जम्मू में भी हथियार पहुंचाकर फिदायीन हमला करने की साजिश रची गई है।

INDIA TV को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी

हाल ही में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान घबराया हुआ है। इंडिया TV को एक्सक्लूसिव जानकारी मिली है कि इस समय पाकिस्तान की 10 corps को इस बात का अंदेशा है कि भारत फिजिकल रेड यानी भारतीय सेना के जवान बॉर्डर पार कर अंदर घुसकर आतंकी अड्डों को निशाना बना सकते हैं। वहीं, दूसरी तरफ सीजफायर वायलेशन और पाकिस्तानी घुसपैठियों को भगाने के लिए फायरिंग भारत की तरफ से की जा सकती है। 

पाकिस्तान ने जवानों की बढ़ाई बॉर्डर पर तैनाती

भारतीय सेना के एक्शन का डर इस समय पाकिस्तानी आर्मी में भी दिखाई दे रहा है। इसीलिए इंडिया TV को यह जानकारी मिली कि पाकिस्तान ने अपने जवानों की तैनाती बॉर्डर पर बढ़ा दी है। पाकिस्तान सेना की 649 Mujahid Battalion (Baroh) और 65 Frontier Force (Tandar) जो की पाकिस्तान की 4 POK ब्रिगेड, 23 infantry division में आती हैं। साथ ही 10 Corps का 27 विंग काला खटाई (wing Kala Khatai) का इलाका, जो की भारत के अमृतसर सेक्टर के सामने आता है। यह पर पाकिस्तान को डर है कि तीसरी बार मोदी सरकार बनने के बाद भारतीय सेना यहां रेड न कर दे।

बहावलपुर में है जैश का आतंकी अड्डा

पाकिस्तान ने 4 corps के 5 wing जो की बहावलपुर में है। ये इलाका भारत के अनूपगढ़ के सामने पड़ता है। बहावलपुर में जैश का आतंकी अड्डा होने की वजह से डर सता रहा है। पाकिस्तान ने अपनी 31 corps की 50 wing जो की सोराह में है और ये जैसलमेर के सामने पड़ता है। यहां पर पाकिस्तान ने डर के मारे अपने टैंक और तोपो की संख्या बढ़ाई है। पाकिस्तानी खुफिया सूत्रों ने पाकिस्तानी सेना को अलर्ट रहने पाकिस्तानी 5 corps और 18 इन्फेंट्री डिवीजन के हेडक्वार्टर जो कि हैदराबाद में है। उनको भी सतर्क रहने को कहा गया है।

आतंकियों को इस बात का भी है डर

इन सभी को साफ कहा गया है कि भारत की नई मोदी सरकार भारतीय सेना के जरिए physical raid (घर में घुसकर आतंकियों का सफाया या फिर पाकिस्तान की फॉरवर्ड लोकेशन पर हमला कर सकती है) ceasefires violation (भारत और पाकिस्तान के बीच इस समय सीजफायर है। इसका मतलब है दोनों में से कोई भी गोलाबारी नहीं करेगा लेकिन पाकिस्तान जम्मू के इलाके और कश्मीर में घुसपैठ के साथ जो आतंकी वारदात कर रहा है। उससे पाकिस्तानी आर्मी को इस बात का अंदेशा है कि भारतीय सेना इसका जवाब बॉर्डर पर अपने तोपों से या फिर एक्शन कर कर देगी)।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement