Wednesday, July 24, 2024
Advertisement

लोको पायलट एवरेज कितने घंटे काम करते हैं, ड्यूटी खत्म होने के बाद कहां रेस्ट करते हैं? रेल मंत्री ने बताया

लोको पायलट के मुद्दों को संसद में उठाने वाले विपक्ष के बयान के बाद अब रेल मंत्री ने पलटवार किया है। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि फर्जी खबरों से रेलवे परिवार का मनोबल गिराने का प्रयास विफल होगा। साथ ही उन्होंने बताया कि लोको पायलट एवरेज कितने घंटे काम करते हैं और ड्यूटी खत्म होने के बाद कहां रेस्ट करते हैं।

Edited By: Akash Mishra @Akash25100607
Updated on: July 10, 2024 13:40 IST
रेल मंत्री अश्विणी वैष्णव- India TV Hindi
Image Source : PTI(FILE) रेल मंत्री अश्विणी वैष्णव

हाल में विपक्ष की तरफ से लोको पायलट से जुड़े मुद्दों को संसद में उठाने के बयान दिए गए थे। इसके बाद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का एक बयान सामने आया है। उन्होंने एक्स पर एक पोस्ट करते हुए कहा,"लोको पायलट रेलवे परिवार के महत्वपूर्ण सदस्य हैं। चूंकि विपक्ष हमारे लोको पायलटों को हतोत्साहित करने के लिए बहुत सारी गलत सूचनाएं और नाटक कर रहा है, इसलिए मैं यह बात बहुत स्पष्ट कर देना चाहता हूं।" उन्होंने अपनी पोस्ट में आगे कहा- 

बेहतर कार्य परिस्थितियां

लोको पायलटों के ड्यूटी घंटों की सावधानीपूर्वक निगरानी की जाती है। ट्रिप के बाद आराम की व्यवस्था सावधानीपूर्वक की जाती है। औसत ड्यूटी घंटे निर्धारित घंटों के भीतर बनाए रखे जाते हैं। इस वर्ष जून के महीने में औसत ड्यूटी 8 घंटे से कम है। केवल आपातकालीन स्थितियों में ही ट्रिप की अवधि निर्धारित घंटों से अधिक होती है।

पायलट लोको कैब से इंजनों का संचालन करते हैं। 2014 से पहले, कैब बहुत खराब स्थिति में थीं। 2014 के बाद से, कैब को एर्गोनोमिक सीटों के साथ बेहतर बनाया गया है, और 7000 से अधिक लोको कैब वातानुकूलित हैं। नए इंजनों का निर्माण AC कैब के साथ किया जाता है।

ड्यूटी के दौरान आराम करने की सुविधा

जब पायलट अपनी यात्रा पूरी कर लेते हैं, तो वे मुख्यालय से बाहर होने पर आराम करने के लिए रनिंग रूम में आते हैं।

2014 से पहले, रनिंग रूम बहुत खराब स्थिति में थे। लगभग सभी (558) रनिंग रूम अब वातानुकूलित हैं। कई रनिंग रूम में फुट मसाजर भी उपलब्ध हैं। संयोग से, लोको पायलटों की कार्य स्थितियों को समझे बिना कांग्रेस द्वारा इसकी आलोचना की गई थी।

रिक्रूटमेंट 

पिछले कुछ सालों में बड़ी भर्ती प्रक्रिया पूरी की गई और 34,000 रनिंग स्टाफ की भर्ती की गई। वर्तमान में 18,000 रनिंग स्टाफ की भर्ती प्रक्रिया चल रही है। 

उन्होंने आगे कहा कि फर्जी खबरों से रेलवे परिवार का मनोबल गिराने की कोशिश नाकाम होगी। पूरा रेल परिवार देश सेवा में एकजुट है।

ये भी पढ़ें- DM की एक महीने की सैलरी कितनी होती है?

 

 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement