Wednesday, April 17, 2024
Advertisement

Rajat Sharma's Blog | बंगाल में मोदी का फोकस : संदेशखाली में अत्याचार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि संदेशखाली की महिलाओं ने अपने ऊपर हुए जुल्म की दास्तां रो-रोकर सुनाई लेकिन ममता बनर्जी का दिल नहीं पसीजा। वह जुल्म करने वाले गुंडे को, गरीबों की जमीनों पर कब्जा करने वाले अपने नेता को बचाती रहीं।

Rajat Sharma Written By: Rajat Sharma @RajatSharmaLive
Updated on: March 02, 2024 16:03 IST
Rajat Sharma Blog, Rajat Sharma Blog Latest, Rajat Sharma- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV इंडिया टीवी के चेयरमैन एवं एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस वक्त बिहार, झारखंड और बंगाल के तूफानी चुनावी दौरे पर हैं। बंगाल में मोदी ने संदेशखाली की महिलाओं पर अत्याचार और भ्रष्टाचार को मुख्य मुद्दा बनाया है। शुक्रवार को बंगाल के आरामबाग में रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि "संदेशखाली की माओं-बहनों के साथ जो कुछ हुआ, उससे पूरा देश शर्मसार है।" शनिवार को बंगाल के कृष्णनगर की रैली में मोदी ने कहा कि तृणमूल के नेताओं ने "स्कीम को स्कैम" का रूप देने में महारत हासिल कर ली है। मोदी को एक बात के लिए दाद देनी होगी। गुरुवार की रात को बीजेपी के मुख्यालय में साढ़े 3 बजे तक उम्मीदवारों की सूची को अंति रूप देने के बाद मोदी घर लौटे, और अगले दिन सुबह झारखंड और फिर बंगाल पहुंच गए। शुक्रवार को मोदी ने कोलकाता के राज भवन में रात बितायी और अगले दिन कृष्णनगर के बाद बिहार में औरंगाबाद, पटना और बेगूसराय की तरफ रवाना हो गए। आरामबाग की रैली में मोदी ने ममता बनर्जी पर तीखे हमले किए। सबसे पहले संदेशखाली का मुद्दा उठाया और सवाल किया कि आखिर 56 दिन एक अपराधी बगैर राजनीतिक संरक्षण के कैसे पुलिस के शिकंजे से दूर रह सकता है। मोदी ने कहा कि संदेशखाली की महिलाओं ने अपने ऊपर हुए जुल्म की दास्तां रो-रोकर सुनाई लेकिन ममता बनर्जी का दिल नहीं पसीजा। वह जुल्म करने वाले गुंडे को, गरीबों की जमीनों पर कब्जा करने वाले अपने नेता को बचाती रहीं। मोदी ने संदेशखाली के मामले में इंडी अलायंस के सहयोगी दलों की चुप्पी पर सवाल उठाया। मोदी ने कहा कि संदेशखाली की महिलाओं की बातें सबने सुनी लेकिन इंडी अलायंस के नेताओं ने अपनी आंख, कान और मुंह बंद कर लिया, इंडी अलायंस में शामिल पार्टियों के नेताओं ने ममता बनर्जी से सवाल पूछना तो दूर, संदेशखाली की महिलाओं की तरफ नज़र घुमाकर भी नहीं देखा।

बंगाल में ममता पर मुस्लिम तुष्टीकरण का आरोप कई साल से लगता है। इल्जाम यही लगाया जा रहा है कि शेख शाहजहां मुस्लिम था, ममता को मुस्लिम वोट बैंक की फिक्र थी, इसीलिए शेख शाहजहां इतने दिनों तक बचा रहा। मोदी ने इसी बात को मुद्दा बनाया और कहा कि महिलाओं का सम्मान सर्वोपरि है, सम्मान के मामले में इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि महिला हिन्दू है या मुसलमान। मोदी ने कहा कि महिलाओं के सम्मान से खिलवाड़ तो मुस्लिम बेटियां भी बर्दाश्त नहीं करेंगी,वो ममता बनर्जी की सरकार को उखाड़ फेंकेंगी। मोदी ने आरामबाग की रैली में ममता बनर्जी के शासन में हो रहे भ्रष्टाचार, घोटाले और परिवारवाद का भी मुद्दा उठाया। मोदी ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल में भ्रष्टाचार का एक नया मॉडल पैदा किया है। मोदी ने कहा कि बंगाल में जिन लोगों ने जनता को लूटा है, उन्हें लूट का माल सूद के साथ लौटाना पड़ेगा। मोदी ने कहा कि कोई कितनी भी गाली दे, वो डरने वाले नहीं हैं, लूटने वालों को जेल भेजकर ही रहेंगे। मोदी के आरामबाग दौरे से तृणमूल कांग्रेस में खलबली है क्योंकि अपनी पहली रैली के लिए मोदी ने ये सीट बहुत सोच समझकर चुनी है। 2019 के चुनाव में इस रिजर्व सीट पर बीजेपी के तापस रॉय तृणमूल कांग्रेस की अपरूपा पोद्दार से सिर्फ 1146 वोट से हारे थे। 2014 में आरामबाग सीट तृणमूल कांग्रेस ने ही जीती थी लेकिन लैफ्ट फ्रंट का उम्मीदवार दूसरे नंबर पर था। बीजेपी बड़े अंतर से तीसरे नंबर पर आई थी लेकिन इस बार बीजेपी को लगता है कि ये सीट आसानी से निकाली जा सकती है।

दिलचस्प बात ये है कि तृणमूल कांग्रेस की सांसद अपरूपा पोद्दार ने मुस्लिम से शादी कर ली है और अब उनका नाम आफरीन अली हो गया है। इसलिए अब वो दलित कोटे की सीट पर चुनाव लड़ पाएंगी या नहीं, इस पर भी संशय है। दूसरा, अगर लड़ती हैं तो भले ही उन्हें मुस्लिम वोट थोड़ा ज्यादा मिल जाए लेकिन हिन्दू वोट कटने का खतरा है, इसलिए उन्हें ममता मैदान में उतारेंगी, इस पर सस्पेंस है। इसीलिए बीजेपी ने इस सीट पर फोकस किया है। इसके अलावा इस बार बीजेपी ममता के राज में मुस्लिम तुष्टीकरण और महिलाओं पर अत्याचार को बड़ा मुद्दा बनाएगी और आज मोदी ने इन्ही दो मुद्दों पर फोकस किया। असदुद्दीन ओवैसी की नजर भी बंगाल पर है। ओवैसी इस बार लोकसभा चुनाव के दौरान बंगाल में भी अपनी पार्टी के उम्मीदवार खड़े कर सकते हैं।। ओवैसी का कहना है कि ममता सिर्फ मुसलमानों को सत्ता पाने की सीढ़ी समझती हैं, ममता मुसलमानों पर सिर्फ जुबानी जमा खर्च करती हैं, उन्होंने मुसलमानों के लिए कुछ नहीं किया है। असल में असद्दुदीन ओवैसी इस बार "आपकी अदालत" शो में मेरे मेहमान हैं। मैंने ओवैसी से पूछा कि ममता बनर्जी तो खुद को मुसलमानों का सबसे बड़ा खैरख्वाह बताती हैं। इस पर ओवैसी ने तपाक से कहा कि बंगाल जाकर देखिए हकीकत समझ आ जाएगी। उन्होंने इस पर डिटेल में जबाव दिया। पूरा जवाब आप देख पाएंगे शनिवार और रविवार रात दस बजे। (रजत शर्मा)

देखें: ‘आज की बात, रजत शर्मा के साथ’ 01 मार्च, 2024 का पूरा एपिसोड

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement