1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. कर्नाटक में होगा नेतृत्व परिवर्तन? येदियुरप्पा ने की पीएम मोदी से मुलाकात

येदियुरप्पा ने की प्रधानमंत्री से मुलाकात, नेतृत्व परिवर्तन संबंधी सवालों को टाल गए

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और मेकेदातु बांध परियोजना सहित राज्य के विकास से जुड़ी लंबित परियोजनाओं के जल्द क्रियान्वयन का आग्रह किया।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 16, 2021 22:45 IST
Karnataka, Karnataka BS Yediyurappa, BS Yediyurappa, BS Yediyurappa Narendra Modi- India TV Hindi
Image Source : TWITTER कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की।

नई दिल्ली: कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और मेकेदातु बांध परियोजना सहित राज्य के विकास से जुड़ी लंबित परियोजनाओं के जल्द क्रियान्वयन का आग्रह किया। राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच दिल्ली पहुंचे मुख्यमंत्री से जब इस बारे में सवाल दागा तो येद्दियुरप्पा ने कोई सीधा जवाब नहीं दिया। उन्होंने हंसते हुए पत्रकारों से कहा, ‘मैं नहीं जानता। आप ही बताओ। मैंने प्रधानमंत्री से राज्य के कुछ विकास कार्यो को जल्द क्रियान्वित करने का आग्रह किया। वह इस पर सहमत हो गए हैं।’

यह पूछे जाने पर कि क्या मेकेदातु बांध परियोजना पर भी प्रधानमंत्री से चर्चा हुई, येदियुरप्पा ने कहा, ‘सभी मुद्दों पर चर्चा हुई।’ मुख्यमंत्री ने कहा कि बेंगलुरू लौटने से पहले वह शनिवार को सारी जानकारी विस्तृत रूप से साझा करेंगे। प्रधानमंत्री से मुलाकात से पहले भारतीय जनता पार्टी के नेता येदियुरप्पा ने दिल्ली पहुंचने पर कर्नाटक भवन में पत्रकारों को बताया कि वह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत अन्य केंद्रीय मंत्रियों से भी मुलाकात करेंगे। येदियुरप्पा का दिल्ली दौरा ऐसे समय में हुआ है जब राज्य में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर तमाम तरह की चर्चाएं हैं।


प्रदेश में मंत्रिपरिषद में फेरबदल के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बारे में यदि उनकी शीर्ष नेताओं से कोई चर्चा होगी तो वह जरूर बताएंगे। येदियुरप्पा के साथ दिल्ली दौरे पर राज्य सरकार का कोई अन्य मंत्री नहीं आया है। अलबत्ता उनके पुत्र बी वाई राघवन जरूर आए हैं। येदियुरप्पा ने कहा कि मेकेदातु परियोजना किसी भी तरह से तमिलनाडु को प्रभावित नहीं करेगी और यह परियोजना निश्चित रूप से अस्तित्व में आएगी। उन्होंने कहा, ‘मैंने पहले ही उनसे (तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन) अपील की है और उन्हें एक पत्र लिखा है कि मेकेदातु पेयजल परियोजना के चालू होने से तमिलनाडु पर कोई असर नहीं पड़ेगा।’

येदियुरप्पा ने कहा कि वह शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलेंगे और शनिवार को शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और कर्नाटक से नए केंद्रीय मंत्रियों सहित अन्य मंत्रियों से मुलाकात करेंगे। उन्होंने कहा, ‘मैं सभी के साथ मेकेदातु परियोजना पर चर्चा करूंगा और हम इसे पूरा करने के लिए ईमानदारी से प्रयास करेंगे।’ उन्होंने कर्नाटक के लोगों को आश्वासन दिया कि यह परियोजना ‘100 प्रतिशत’ लागू होगी। येदियुरप्पा ने कहा, ‘इसके बारे में कोई भ्रम नहीं होने दें। मैं कर्नाटक के लोगों को आश्वस्त करता हूं कि इस परियोजना को 100 प्रतिशत लागू किया जाएगा।’ उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें इस बात की परवाह नहीं है कि तमिलनाडु और पुडुचेरी परियोजना का विरोध कर रहे हैं।

येदियुरप्पा ने कहा, ‘हमें मेकेदातु परियोजना शुरू करने का पूरा अधिकार है। मैं तमिलनाडु से अनुरोध करता हूं कि वह हमें परेशान न करे क्योंकि यह कर्नाटक और तमिलनाडु दोनों की मदद करने के लिए है।’ रामनगर जिले में कावेरी नदी के पार 9,000 करोड़ रुपये की मेकेदातु जलाशय और पेयजल परियोजना का उद्देश्य 400 मेगावाट बिजली पैदा करने के अलावा बेंगलुरु और पड़ोसी क्षेत्रों में पीने के उद्देश्यों के लिए 4.75 TMC पानी का उपयोग करना है। हालांकि, तमिलनाडु सरकार इसका यह कहते हुए विरोध कर रही है कि यह तमिलनाडु के हितों को प्रभावित करेगी और उसके किसानों को सिंचाई के लिए पानी से वंचित करेगी।

Click Mania
bigg boss 15