उमर अब्दुल्ला खुली आंखों से देख रहे अजीबोगरीब सपने, अनुच्छेद 370 पर दिया ये बयान

Omar Abdullah on Article 370 in J&K: नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के नेता उमर अब्दुल्ला दिन में ही खुली आंखों से कभी पूरे नहीं होने वाले सपने देख रहे हैं। सोमवार को उन्होंने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने को लेकर बड़ा बयान दिया है।

Dharmendra Kumar Mishra Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Updated on: December 06, 2022 6:23 IST
जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला- India TV Hindi
Image Source : PTI जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला

Omar Abdullah on Article 370 in J&K: नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) के नेता उमर अब्दुल्ला दिन में ही खुली आंखों से कभी पूरे नहीं होने वाले सपने देख रहे हैं। सोमवार को उन्होंने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने को लेकर बड़ा बयान दिया है। अब्दुल्ला का कहना है कि उनकी पार्टी ने अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के केंद्र के फैसले को कानूनी रूप से चुनौती दी है और उन्हें यकीन है कि जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा बहाल होगा। 

घाटी में मुख्यधारा के अन्य राजनीतिक दलों द्वारा उनकी पार्टी की आलोचना किए जाने का जिक्र करते हुए अब्दुल्ला ने कहा कि नेकां अनुच्छेद 370 के मुद्दे पर लोगों को अंधेरे में नहीं रख रही है। उन्होंने कहा, ‘‘हम लोगों को अंधेरे में कैसे रख रहे हैं? हम केवल यह कह रहे हैं कि हम इसे बहाल करने के लिए शांतिपूर्वक लड़ेंगे। हम संविधान और कानून के तहत इसके लिए लड़ेंगे।’’ जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे लोग चाहते हैं कि पार्टी माहौल बिगाड़े ‘‘ताकि उन्हें हमें निशाना बनाने का और बहाना मिले।’’ उन्होंने कहा कि नेकां ने पांच अगस्त 2019 के केंद्र के फैसले को कानूनी चुनौती दी है, जब उसने संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर दिया था। 

अब्दुल्ला ने कहा दिल कहता है 370 होगी बहाल

अब्दुल्ला ने पार्टी प्रतिनिधियों की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच कहा, ‘‘लेकिन हम अपना धैर्य नहीं खोएंगे, हम सही तरीके से इससे लड़ेंगे और मेरा दिल कहता है कि हम इस लड़ाई में कामयाब होंगे।’’ वह पार्टी के डेलीगेट सत्र को संबोधित कर रहे थे, जिसमें उनके पिता फारूक अब्दुल्ला को निर्विरोध फिर से नेकां अध्यक्ष चुना गया। पार्टी कार्यकर्ताओं को चिंता न करने की सलाह देते हुए नेकां के उपाध्यक्ष ने कहा, ‘‘हम न तो घुटने टेकेंगे और न ही भीख मांगेंगे, बल्कि जम्मू कश्मीर के लोगों का हक मांगेंगे। हम उनसे सुरक्षा या बंगले, न वाहन और न ही किसी और चीज की भीख मांगेंगे। हम केवल जम्मू कश्मीर की प्रतिष्ठा, उसकी समृद्धि और पहचान मांग रहे हैं। ईश्वर ने चाहा तो वह दिन दूर नहीं, जब हम इस लड़ाई में कामयाब होंगे और फिर लोगों के सामने खुद को पेश करेंगे।’’

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन