1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. नए कृषि कानून का मिला लाभ, महामारी में एक कृषक उत्पादक संगठन ने किया 6.5 करोड़ रुपये का कारोबार

नए कृषि कानून का मिला लाभ, महामारी में एक कृषक उत्पादक संगठन ने किया 6.5 करोड़ रुपये का कारोबार

कृषक उत्पादक संगठन (एफपीओ) के साथ करीब 600 किसान जुड़े हुए हैं। साथ ही, ऐप के माध्यम से इसने 22,000 से अधिक ग्राहकों को भी जोड़ रखा है जो कि मुंबई और पुणे से हैं। ट्रेड में कोई बिचौलिया न होने से किसानो को मंडियों के मुकाबले ज्यादा दाम मिल रहे हैं।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: February 08, 2021 15:00 IST
एक FPO का साल भर में 6.5...- India TV Paisa
Photo:PTI

एक FPO का साल भर में 6.5 करोड़ रुपये का कारोबार

नई दिल्ली। किसान कानून पर जारी आंदोलन के बीच नए कानून  के लाभ भी सामने आने लगे हैं। अपनी फसल को कहीं भी बेचने की आजादी से महाराष्ट्र के अहमदनगर में स्थित एक कृषक उत्पादक संगठन ने कोरोना काल में 6.5 करोड़ रुपये का कारोबार किया है। खास बात ये है कि बिचौलिए न होने की वजह से किसानों को उनकी उपज के बेहतर दाम भी मिले हैं।

क्या है ये खास आइडिया

किसान कनेक्ट नामक इस एफपीओ के संस्थापक अहमदनगर जिले के सारंग निर्मल ने बताया कि कोरोना काल में जब किसान अपने फल व सब्जियां नहीं बेच पा रहे थे तभी उनके मन में एक आइडिया आया कि क्यों न मुंबई और पुणे में रहने वाले लोगों से सीधे संपर्क कर उनको ताजे फल व सब्जियां भेजा जाए।  आईएएनएस को उन्होने बताया कि व्हाट्सऐप के जरिए मुंबई और पुणे के निवासियों से फलों और सब्जियों का ऑर्डर लेना शुरू किया और उनके ऑर्डर के मुताबिक ताजे फल व सब्जियों का पैकेट बनाकर उन्हें डिलीवर करने लगे।

कितना फैला कारोबार

निर्मल ने बताया कि मार्च में उन्होंने व्हाट्सऐप के जरिए यह काम शुरू किया और अब तक किसान कनेक्ट ने 6.5 करोड़ रुपये का कारोबार किया है और इसे लगातार बढ़ाने की योजना पर वह काम कर रहे हैं। इस कृषक उत्पादक संगठन (एफपीओ) के साथ करीब 600 किसान जुड़े हुए हैं। साथ ही, ऐप के माध्यम से इसने 22,000 से अधिक ग्राहकों को भी जोड़ रखा है। एफपीओ के ये सभी ग्राहक देश की आर्थिक राजधानी मुंबई और पुणे में हैं। किसानों से फल और सब्जी लेकर सीधे ग्राहकों को बेचने से किसानों को मंडियों से ज्यादा दाम मिलता है क्योंकि इस प्रकार के ट्रेड में कहीं बिचैलिया नहीं है। किसान कनेक्ट किसानों का संगठन है और इसके जरिए होने वाले व्यापार का फायदा भी एफपीओ से जुड़े किसानों को मिलता है।

पढ़े: इस कंपनी के कर्मचारियों को मिलेगा तगड़ा बोनस, 700 करोड़ रुपये बांटने की योजना

नए कानून का कैसे मिला फायदा

निर्मल ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नये कृषि कानून से उनका काम और आसान हो गया है क्योंकि नये कानून में कृषि उपज का कारोबार पूरे देश में कहीं भी बेरोकटोक किया जा सकता है जबकि पहले व्यापार के मकसद से किसान भी जब एक शहर से दूसरे शहर अपनी उपज ले जाते थे तो वहां की एपीएमसी वाले उनके पीछे लगे रहते थे।

पढ़ें: अर्थव्यवस्था से लेकर रक्षा क्षेत्र तक भारत की क्षमता को दुनिया ने देखा: प्रधानमंत्री

पढ़ें: SBI के कार्ड धारकों को देना पड़ सकता है जुर्माना, जानिए बैंक ने नियमों में क्या किया बदलाव

Write a comment
Click Mania
uttar pradesh chunav manch 2021