1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Budget 2021: अगले हफ्ते सरकार देगी बड़ा तोहफा, कई वस्तुओं पर घटा सकती है सीमा शुल्क

Budget 2021: अगले हफ्ते सरकार देगी बड़ा तोहफा, कई वस्तुओं पर घटा सकती है सीमा शुल्क

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को वर्ष 2021-22 का बजट पेश करेंगी। सूत्रों ने बताया कि इन सामानों पर शुल्कों को कम करने से आत्मनिर्भर भारत अभियान को बढ़ावा मिलेगा

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 26, 2021 8:57 IST
Budget 2021: Govt may tweak customs duties on host of goods - India TV Paisa
Photo:MINISTRYOFFINANACE@TWITTER

Budget 2021: Govt may tweak customs duties on host of goods

नई दिल्‍ली। सरकार अगले सप्ताह पेश किए जाने वाले आम बजट (Budget 2021) में कई वस्तुओं पर सीमा शुल्क में कटौती कर सकती है, जिसमें फर्नीचर का कच्चा माल, तांबा भंगार, कुछ रसायन, दूरसंचार उपकरण और रबड़ उत्पाद शामिल हैं। सूत्रों ने बताया कि पॉलिश किए गए हीरे, रबड़ के सामान, चमड़े के कपड़े, दूरसंचार उपकरण और कालीन जैसे 20 से अधिक उत्पादों पर आयात शुल्क में कटौती की जा सकती है। इसके अलावा फर्नीचर बनाने में इस्तेमाल होने वाली कुछ बिना रंगी लकड़ियों और हार्डबोर्ड आदि पर सीमा शुल्क पूरी तरह खत्म किया जा सकता है।

सूत्रों ने बताया कि महंगा कच्चा माल अंतरराष्ट्रीय बाजार में भारत की कीमत प्रतिस्पर्धा को प्रभावित करता है। देश से फर्नीचर का निर्यात बहुत कम (लगभग एक प्रतिशत) है, जबकि चीन और वियतनाम जैसे देश इस क्षेत्र के प्रमुख निर्यातक हैं। सूत्रों के अनुसार सरकार कोलतार और तांबा स्क्रैप पर सीमा शुल्क को कम करने पर भी विचार कर सकती है। सरकार ने घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए पहले ही कई कदम उठाए हैं। एयर कंडीशनर और एलईडी लाइट सहित कई क्षेत्रों के लिए उत्पादन आधारित विनिर्माण योजना (पीएलआई) को शुरू किया गया है।

यह भी पढ़ें: सरकार ने BSNL-MTNL के विलय को टाला, BSNL को दी जमीन बेचने की मंजूरी

सरकार कुछ तैयार उत्‍पादों जैसे रेफ्रीजरेटर, वॉशिंग मशीन और क्‍लॉथ ड्रायर आदि पर शुल्‍कों को बढ़ाने पर भी विचार कर सकती है। पिछले साल सरकार ने फर्नीचर, खिलौने और फुटवियर आदि विभिन्‍न उत्‍पादों पर इंपोर्ट ड्यूटी को बढ़ाया था।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को वर्ष 2021-22 का बजट पेश करेंगी। सूत्रों ने बताया कि इन सामानों पर शुल्कों को कम करने से आत्मनिर्भर भारत अभियान को बढ़ावा मिलेगा और घरेलू विनिर्माण में तेजी आएगी।  

यह भी पढ़ें: 14 करोड़ लोगों में से प्रत्‍येक के खाते में जमा हो सकते हैं 94,045 रु.

यह भी पढ़ें: आसमान छूती महंगाई से निपटने के लिए इस देश ने जारी किया 5000 रुपये का नया बैंक नोट

यह भी पढ़ें: क्रेडिट कार्ड बिल से आप हो गए हैं परेशान, तो ऐसे कराएं अपना कार्ड बंद या कैंसिल

Write a comment
X