1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सेमीकंडक्टर की कमी की वजह से यात्री वाहनों के लिए सुस्त रहेगा त्योहारी सीजन: FADA

सेमीकंडक्टर की कमी की वजह से यात्री वाहनों के लिए सुस्त रहेगा त्योहारी सीजन: FADA

अगस्त में यात्री वाहनों की बिक्री सालाना आधार पर 39 प्रतिशत बढ़कर 2,53,363 इकाई पर पहुंच गई है। वहीं दोपहिया वाहनों की बिक्री सात प्रतिशत बढ़कर 9,76,051 इकाई पर पहुंच गई

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: September 07, 2021 13:56 IST
त्योहारी सीजन पर...- India TV Paisa
Photo:FADA

त्योहारी सीजन पर सेमीकंडक्टर की कमी का असर

नई दिल्ली। चिप की कमी की वजह से त्योहारी सीजन के दौरान यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री पटरी से उतर सकती है। वाहन डीलरों के संगठन फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) ने यह आशंका जताई है। इस समय सेमीकंडक्टर की कमी की वजह से वाहन कंपनियां डीलरों को आपूर्ति पर्याप्त रखने के लिए संघर्ष कर रही हैं। फाडा ने सेमीकंडक्टर की कमी को एक बड़ा संकट करार देते हुए कहा कि विशेषरूप से यात्री वाहनों के डीलरों के लिए त्योहारी सीजन ठंडा रहेगा। इससे डीलरों के पास पर्याप्त भंडार नहीं होगा और व्यस्त त्योहारी सीजन की अवधि के दौरान उनके पास मॉडलों की उपलब्धता कम रहेगी। फाडा के अध्यक्ष विन्केश गुलाटी ने बयान में कहा, ‘‘वाहन डीलरों को अपने कारोबार के सबसे चुनौतीपूर्ण दौर से गुजरना पड़ रहा है। कोविड-19 महामारी का प्रभाव अभी जारी है। पिछले साल तक मांग की चुनौती थी, अब सेमीकंडक्टर की कमी की वजह से आपूर्ति बड़ी समस्या के रूप में उभर रही है। हालांकि, अब यात्री वाहनों की मांग ऊंची है।’’ उन्होंने कहा कि इस समय सभी डीलर शानदार त्योहारी सीजन की उम्मीद कर रहे हैं। लेकिन आपूर्ति की वजह से वित्त वर्ष के दौरान डीलरों के पास भंडार निचले स्तर पर है।

 उन्होंने कहा कि उपभोक्ता दोपहिया आदि की खरीद करने के बजाय बचत पर ध्यान दे रहा है। ऐसे में दोपहिया की मांग चिंता का विषय है। हालांकि, शैक्षणिक संस्थान अब खुलने लगे हैं जिससे आगामी महीनों में मांग सुधरने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि हमारा अनुमान है कि निकट भविष्य में परिदृश्य मिलाजुला रहेगा। जहां यात्री वाहनों के मामले में मांग-आपूर्ति का असंतुलन रहेगा वहीं दोपहिया खंड में मांग की कमी देखने को मिलेगी। गुलाटी ने कहा कि जुलाई में यात्री वाहनों के लिए औसत भंडार की स्थिति 25 से 30 दिन की थी। वहीं दोपहिया क्षेत्र के लिए यह 20 से 25 दिन की है। हाल के समय में वैश्विक स्तर पर वाहन उद्योग में सेमीकंडक्टर का प्रयोग काफी तेजी से बढ़ा है। प्रौद्योगिकी में सुधार और नए मॉडलों में अधिक से अधिक इलेक्ट्रॉनिक फीचर्स मसलन ब्लूटूथ कनेक्टिविटी और ड्राइवर एसिस्ट, नेविगेशन तथा हाइब्रिड इंजन प्रणाली के इस्तेमाल की वजह से सेमीकंडक्टर के प्रयोग में काफी तेजी आई है। हालांकि, सेमीकंडक्टर की कुल मांग में वाहन उद्योग का हिस्सा करीब 10 प्रतिशत ही है। शेष मांग इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और गैजेट उद्योग मसलन मोबाइल फोन और लैपटॉप की है। 

फाडा ने कहा कि अगस्त में यात्री वाहनों की बिक्री सालाना आधार पर 39 प्रतिशत बढ़कर 2,53,363 इकाई पर पहुंच गई। अगस्त, 2020 में यात्री वाहनों की बिक्री 1,82,651 इकाई रही थी। समीक्षाधीन महीने में दोपहिया वाहनों की बिक्री सात प्रतिशत बढ़कर 9,76,051 इकाई पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान महीने में 9,15,126 इकाई रही थी। इस दौरान वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 98 प्रतिशत के उछाल के साथ 53,150 इकाई रही। अगस्त, 2020 में यह आंकड़ा 26,851 इकाई का था। तिपहिया की बिक्री इस दौरान 80 प्रतिशत बढ़कर 30,410 इकाई रही, जो एक साल पहले समान महीने में 16,923 इकाई रही थी। अगस्त में विभिन्न श्रेणियों में कुल वाहन बिक्री 14 प्रतिशत बढ़कर 13,84,711 इकाई पर पहुंच गई। अगस्त, 2020 में कुल वाहन बिक्री 12,09,550 इकाई रही थी। 

 

यह भी पढ़ें: सस्ता होगा रेलवे के एसी क्लास में सफर, नये कोच से घटेगा किराया और बढ़ेंगी बर्थ

यह भी पढ़ें: बढ़ते साइबर क्राइम के बाद भी गंभीर नहीं भारतीय , पढ़िये एक सर्वे के चौंकाने वाले नतीजे

 

Write a comment