ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Power Crisis: कोयला मंत्री का आया बड़ा बयान, सरकार कर रही है बिजली संयंत्रों की मांग को पूरा करने का प्रयास

Power Crisis: कोयला मंत्री का आया बड़ा बयान, सरकार कर रही है बिजली संयंत्रों की मांग को पूरा करने का प्रयास

चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही के दौरान पावर सेक्टर के लिए लोडिंग 225.3 रैक प्रतिदिन रही, जो पिछले साल की समान अवधि के 176.3 रैक की तुलना में 28 प्रतिशत अधिक है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: October 12, 2021 19:31 IST
Govt making efforts to meet coal demand- India TV Paisa
Photo:PTI

Govt making efforts to meet coal demand

नई दिल्‍ली। केंद्रीय कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी ने मंगलवार को कहा कि सरकार बिजली उत्‍पादकों की कोयला मांग को पूरा करने के लिए सभी प्रयास कर रही है। उन्‍होंने कहा कि सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों से कोयले की आपूर्ति शीघ्र ही बढ़कर प्रतिदिन 20 लाख टन हो जाएगी, जो वर्तमान में 19.5 लाख टन प्रतिदिन है।

मंत्री ने कहा कि कोयला मंत्रालय और कोल इंडिया लिमिटेड मिलकर कोयला मांग को पूरा करने के पूरे प्रयास कर रहे हैं, कल (सोमवार) हमनें 19.5 लाख टन कोयले की आपूर्ति की। लगभग 16 लाख टन कोयला सीआईएल ने और शेष सिंगरेनी कोलियरीज कंपनी लि. द्वारा आपूर्ति किया गया। कोयला मंत्री का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब देश के बिजली संयंत्र कोयले की कमी से जूझ रहे हैं।  

मंत्री ने कहा कि मेरा मानना है कि भारत के इतिहास में, यह कोयले की अभी तक की सबसे अधिक आपूर्ति है, जो हमनें की है और मैं इस बात के लिए आश्‍वस्‍त हूं कि यह आपूर्ति आगे भी इसी तरह बनी रहेगी। उन्‍होंने कहा कि 20-21 अक्‍टूबर से हम प्रतिदिन 20 लाख टन कोयला आपूर्ति करने की कोशिश करेंगे, जो एक नया रिकॉर्ड होगा।   

मंत्री ने कहा कि अगले 30-40 साल तक कोयले पर निर्भरता बनी रहेगी। उन्‍होंने कहा कि आयातित कोयले की कीमत में तीन से चार गुना वृद्धि हो चुकी है और यदि भारत इस कीमत पर बड़ी मात्रा में कोयले का आयात करता है तो बिजली की कीमत भी दो से तीन गुना तक बढ़ जाएगी।

कोल इंडिया ने कहा है कि वह मांग-आपूर्ति के बीच अंतर को कम करने के लिए उपाय कर रही है। कंपनी ने कहा कि उसकी खदानों में 4 करोड़ टन कोयला भंडार मौजूद है और इसमें निरंतर वृद्धि हो रही है, इसलिए कोयले की उपलब्‍धता को लेकर कोई परेशानी नहीं है। सीआईएल के डायरेक्‍टर (मार्केटिंग) एसएन तिवारी ने कहा कि दुर्गा पूजा के बाद पावर सेक्‍टर को कोयले की आपूर्ति में तेजी आएगी।

चालू वित्‍त वर्ष की पहली छमाही के दौरान पावर सेक्‍टर के लिए लोडिंग 225.3 रैक प्रतिदिन रही, जो पिछले साल की समान अवधि के 176.3 रैक की तुलना में 28 प्रतिशत अधिक है।  

यह भी पढ़ें: दशहरा से पहले सोने के दाम में आया बड़ा बदलाव, चांदी 120 रुपये टूटी

यह भी पढ़ें: दशहरा का उपहार, 9499 रुपये में लॉन्‍च हुआ नया धासूं फोन

यह भी पढ़ें: राज्‍य सरकारों की खुली पोल, उपभोक्‍ताओं के लिए कटौती कर ऊंचे दाम पर बेच रहे हैं बिजली

यह भी पढ़ें: भारत के अदाणी ग्रुप ने लिया पाकिस्‍तान, ईरान और अफगानिस्‍तान पर बड़ा फैसला

यह भी पढ़ें: OMG। LPG रसोई गैस सिलेंडर हुआ 2657 रुपये का, मचा हाहाकार

Write a comment
elections-2022