1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. दाल के आयात के लिये अफ्रीकी देशों के साथ बातचीत जारी, 2 देशों से समझौते हुए: विदेश राज्यमंत्री

दाल के आयात के लिये अफ्रीकी देशों के साथ बातचीत जारी, 2 देशों से समझौते हुए: विदेश राज्यमंत्री

दाल आयात को लेकर मलावी और मोजाम्बिक के साथ भारत ने समझौते किये हैं। भारत दाल का सबसे बड़ा उत्पादक और उपभोक्ता देश है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: September 14, 2021 21:27 IST
दाल आयात के लिये...- India TV Paisa
Photo:PTI

दाल आयात के लिये अफ्रीकी देशों के साथ सरकार की बातचीत

नई दिल्ली। विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन ने मंगलवार को कहा कि भारत ने दाल की घरेलू जरूरतों को पूरा करने के लिये इसके आयात को लेकर मलावी और मोजाम्बिक के साथ समझौते किये हैं। इसके अलावा कुछ अन्य अफ्रीकी देशों के साथ भी दाल आयात को लेकर बातचीत चल रही है। भारत-अफ्रीका कृषि और फूड प्रोसेसिंग शिखर सम्मेलन 2021 के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अफ्रीका के लिये भारत चौथा सबसे बड़ा व्यापार भागीदार है और पांचवां सबसे बड़ा निवेशक बन गया है। भारत का कुल निवेश अफ्रीका में 70.7 अरब डॉलर है। 

केन्द्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि अफ्रीका के साथ भारत आर्थिक और वाणिज्यिक संबंधों को और मजबूत बनाने को लेकर संभावनाएं टटोल सकता हे। उन्होंने कहा कि खाद्य सुरक्षा भारत और अफ्रीका को जोड़ती है। भारत ने मानवीय सहायता के रूप में विभिन्न अफ्रीकी देशों को 1.58 करोड़ डॉलर की खाद्य सहायता उपलब्ध कराई है। मुरलीधरन ने कहा, ‘‘भारत ने घरेलू मांग को पूरा करने के लिये दाल आयात को लेकर मलावी और मोजाम्बिक के साथ समझौते किये हैं। फिलहाल हम दाल के आयात को लेकर कुछ और अफ्रीकी देशों के साथ समझौता ज्ञापन पर बातचीत कर रहे हैं।’’ 

भारत दाल का सबसे बड़ा उत्पादक और उपभोक्ता देश है। उन्होंने कहा कि अफ्रीका के पास काफी भूमि है जिसे वह विभिन्न उत्पादों के उत्पादन के लिये उपलब्ध करा सकता है। 

मंत्री ने कहा, ‘‘भारत बड़े पैमाने पर रोजगार और आय पैदा करने के साथ कृषि-प्रसंस्करण सुविधाओं के निर्माण के माध्यम से विदेशों में निवेश करने और फसलों का उत्पादन करने का अवसर तलाशना चाहता है।’’ उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र की कंपनियां पहले ही कई अफ्रीकी देशों में इस क्षेत्र में निवेश करना शुरू कर चुकी हैं। उन्होंने कहा, ‘‘अफ्रीकी महाद्वीपीय मुक्त व्यापार क्षेत्र (एएफसीएफटीए) एक जनवरी, 2021 में अमल में आया है। इसके पूरे अफ्रीका में कृषि विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की उम्मीद है।’’ मंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने अफ्रीकी देशों समेत दुनिया की वृद्धि को प्रभावित किया है। 

Write a comment
Click Mania