1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. भारत विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर बढ़ रहा है आगे, सरकार उठा रही है सुधार के कदम

भारत विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर बढ़ रहा है आगे, सरकार उठा रही है सुधार के कदम

भारत 2,600 अरब डॉलर के साथ अमेरिका, चीन, जापान, जर्मनी और ब्रिटेन के बाद विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 25, 2019 23:02 IST
PM Modi- India TV Paisa
Photo:PM MODI

PM Modi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि देश विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार देश में निवेश का माहौल सुधारने के लिए रोजाना आधार पर सुधार के कदम उठा रही है। 

उन्होंने यहां भारत-दक्षिण अफ्रीका कारोबार शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भारत विश्व की सबसे तेजी से वृद्धि करती प्रमुख अर्थव्यवस्था है और सरकार नई पीढ़ी की बुनियादी संरचना के साथ नया भारत बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। भारत 2,600 अरब डॉलर के साथ अमेरिका, चीन, जापान, जर्मनी और ब्रिटेन के बाद विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। 

मोदी ने मेक इन इंडिया के जरिये घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने और डिजिटल इंडिया के जरिये अर्थव्यवस्था के डिजिटलीकरण समेत सरकार की विभिन्न मुहिमों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि हम वैश्विक स्तर पर पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर हैं। हम अंकटाड की सूची में एफडीआई पाने वाले शीर्ष देशों में से एक हैं। लेकिन हम अभी संतुष्ट नहीं हैं। दैनिक आधार पर हम जरूरी बदलाव कर रहे हैं और अर्थव्यवस्था के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सुधार कर रहे हैं।  

मोदी ने दक्षिण अफ्रीका के और देश के कारोबारियों को बताया कि विश्व बैंक के नई कारोबार सुगमता रिपोर्ट में भारत छलांग लगाकर 77वें स्थान पर पहुंच गया है। पिछले चार साल में इस रैंकिंग में 65 स्थानों का सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि हम नई पीढ़ी की बुनियादी संरचना के साथ तथा गति, कौशल एवं स्तर पर जोर देकर नया भारत बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

उन्होंने कहा कि टाटा, सिप्ला और महिंद्रा जैसी 150 से अधिक भारतीय कंपनियां दक्षिण अफ्रीका में कारोबार कर रही हैं। वेदांता के 1.6 अरब डॉलर के निवेश से दक्षिण अफ्रीका में आर्थिक विकास और औद्योगिकीकरण की एक नई लहर चली है।

Write a comment