1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. SBI ने ग्राहकों को फिर दिया बड़ा झटका, FD पर ब्याज की दरें 0.40 फीसदी घटाईं, जानिए नई दरें

SBI ने ग्राहकों को फिर दिया बड़ा झटका, FD पर ब्याज की दरें 0.40 फीसदी घटाईं, जानिए नई दरें

SBI ने एक महीने में दूसरी बार फिक्स डिपॉजिट (FD/सावधि जमा) पर ब्याज दरें घटाने का फैसला किया है। बैंक ने सभी अवधि की एफडी पर ब्याज दरें 0.40 फीसदी (40 आधार अंकों) तक घटा दी हैं।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 27, 2020 14:17 IST
SBI, fd rates, SBI FD New Rates 2020 - India TV Paisa
Photo:PTI

SBI reduced fd rates check here SBI FD New Rates 2020 । File Photo 

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने करोड़ों ग्राहकों को बड़ा झटका दिया है। SBI ने एक महीने में दूसरी बार फिक्स डिपॉजिट (FD/सावधि जमा) पर ब्याज दरें घटाने का फैसला किया है। बैंक ने सभी अवधि की एफडी पर ब्याज दरें 0.40 फीसदी (40 आधार अंकों) तक घटा दी हैं। नई दरें आज यानी 27 मई (बुधवार) से लागू हो गई हैं। एसबीआई ने सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज में भी कटौती की है। एसबीआई ने अपने वेबसाइट पर इस बात की जानकारी दी है।

जानिए SBI के नए एफडी रेट

अवधि आम नागरिकों के लिए नई दर (प्रतिशत में)  वरिष्ठ नागरिकों के लिए नई दर (प्रतिशत में)
7 से 45 दिन 2.9   3.4 
46 से 179 दिन 3.9  4.4  
180 से 210 दिन 4.4 4.9
211 दिन से 1 साल से कम 4.4  4.9
1 से 2 वर्ष से कम 5.1 5.6
2 साल से 3 साल से कम 5.1 5.6
3 से 5 साल से कम  5.3 5.8
5 साल से लेकर 10 साल 5.4 6.2

बल्क डिपॉजिट्स के ऊपर भी ब्याज की दरें घटाई

इसके अलावा एसबीआई ने बल्क डिपॉजिट्स के ऊपर भी ब्याज की दरें घटाई हैं। 2 करोड़ या उससे ज्यादा के बल्क डिपॉजिट पर बैंक ने ब्याज की दरों में 0.50 फीसदी (50 बीपीएस) की कटौती कर दी है। बल्क डिपॉजिट पर अब जमाकर्ताओं को ज्यादा से ज्यादा 3 फीसदी तक का ब्याज मिलेगा। इस श्रेणी के अंतर्गत आने वाली नई दरें भी आज से ही लागू हो गई हैं।

सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज में भी की कटौती

एसबीआई ने 12 मई को ही फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) पर मिलने वाले ब्याज में 0.20 फीसदी की कटौती की थी। इसके बाद एसबीआई ने सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज में कटौती की थी। इसमें अब जमा पर 2.75 फीसदी सालाना ब्याज दिया जा रहा है, जो पहले 3 फीसदी था।

 

 

Write a comment