1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 4जी के नाम पर कम स्‍पीड देने वाली कंपनियों की अब खैर नहीं

4जी के नाम पर कम स्‍पीड देने वाली कंपनियों की अब खैर नहीं

4जी के नाम पर कम स्‍पीड देने वाली कंपनियों की अब खैर नहीं। ट्राई ने ग्राहकों की समस्‍यों के मद्देनजर देश में टेलीकॉम टैरिफ पर नियंत्रण की शुरुआत कर दी है।

Manish Mishra Manish Mishra
Published on: February 18, 2017 15:45 IST
4जी के नाम पर कम स्‍पीड देने वाली कंपनियों की अब खैर नहीं, ट्राई ने टेलीकॉम टैरिफ नियंत्रण की कर दी है शुरुआत- India TV Paisa
4जी के नाम पर कम स्‍पीड देने वाली कंपनियों की अब खैर नहीं, ट्राई ने टेलीकॉम टैरिफ नियंत्रण की कर दी है शुरुआत

नई दिल्ली। 4जी के लिए भारी-भरकम पैसे का भुगतान करने के बावजूद अगर आपको सुस्‍त इंटरनेट स्‍पीड और सिग्‍नल की समस्‍या से जूझना पड़ रहा है तो आपके लिए यह खबर काम की है। टेलीकॉम नियामक ट्राई ने ग्राहकों की समस्‍यों के मद्देनजर देश में टेलीकॉम टैरिफ पर नियंत्रण की शुरुआत कर दी है।

यह भी पढ़ें :ट्राई ने ऑपरेटरों के सहयोग से कॉल ड्रॉप पर परीक्षण अभियान किया शुरू, तुरंत मिलेगी क्वालिटी की जानकारी

  • ट्राई ने अपने नए कंसलटेशन पेपर में टेलीकॉम कंपनियों के टैरिफ प्लान्स में पारदर्शिता, योजनाओं की वैधता, महंगी प्राइसिंग और मोबाइल कंपनियों की मनमर्जी से लेकर उपभोक्ताओं को होने वाली सभी समस्याओं पर चर्चा की है।
  • ट्राई का कहना कि उसने ग्राहकों को उपलब्‍ध होने वाली सेवाओं की पारदर्शिता के लिए कई कदम उठाए हैं।
  • इसके बावजूद उपभोक्ताओं की टैरिफ ऑफर्स से लेकर तमाम मामलों पर काफी शिकायतें आ रही हैं।

यह भी पढ़ें : बिना झंझट सेकेंडों में पता करें अपना EPF बैलेंस, ये हैं सबसे आसान तरीके

ट्राई ने कहा है कि

  • डाटा से जुड़े नए प्लान काफी लोकप्रिय हो रहे हैं लेकिन टेलीकॉम ऑपरेटरों द्वारा ज्यादा चार्ज करने की शिकायतें भी बढ़ रही हैं।
  • डाटा से जुड़े कई पैक्स में रात में ज्यादा चार्ज किया जाता है जिसकी जानकारी सही तरह से नहीं दी जाती।
  • ऐसे ही नेट स्पीड से जुड़ी जानकारी भी उपभोक्ता को साफ शब्दों में नहीं दी जाती।
  • ट्राई ने इन मसलों से निपटने के लिए सुझाव मांगे हैं।
  • ट्राई ने ऑपरेटरों द्वारा ज्‍यादा चार्ज करने के बावजूद सही सेवाएं न दे पाने की बात को भी उठाया है।
  • इस कंसलटेशन पेपर पर ट्राई ने 17 मार्च तक सुझाव मांगे हैं।
Write a comment
bigg boss 15