ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. Yahoo ने भारत में बंद की अपनी समाचार वेबसाइट्स, FDI नियमों में बदलाव के कारण लिया फैसला

Yahoo ने भारत में बंद की अपनी समाचार वेबसाइट्स, FDI नियमों में बदलाव के कारण लिया फैसला

यदि आप याहू मेल यूजर हैं तो इस बदलाव से आपके ऊपर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। इस नए फैसले से याहू मेल और याहू सर्च अप्रभावित रहेंगे।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: August 26, 2021 13:03 IST
Yahoo shuts down news sites in India- India TV Paisa
Photo:YAHOO

Yahoo shuts down news sites in India

नई दिल्‍ली। सर्च और मेल सेवा प्रदाता याहू (Yahoo) ने भारत में अपनी समाचार वेबसाइट्स को बंद करने की घोषणा की है। कंपनी ने कहा कि यह फैसला डिजिटल सामग्री का परिचालन और प्रकाशन करने वाली मीडिया कंपनियों के विदेशी स्वामित्व को सीमित करने वाले नए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) नियमों के कारण लिया गया है। बंद होने वाली वेबसाइट्स में याहू न्यूज, याहू क्रिकेट, फाइनेंस, एंटरटेनमेंट और मेकर्स इंडिया शामिल हैं।

कंपनी ने कहा कि हालांकि इस फैसले से भारत में उसके यूजर्स के लिए याहू ई-मेल और सर्च सर्विस पर कोई असर नहीं पड़ेगा। याहू वेबसाइट ने एक नोटिस में कहा कि 26 अगस्त 2021 से याहू इंडिया अब कंटेंट प्रकाशित नहीं करेगी। आपका याहू खाता, मेल और खोज अनुभव किसी भी तरह से प्रभावित नहीं होंगे और पहले की तरह काम करेंगे। हम आपके समर्थन के लिए धन्यवाद करते हैं।

अमेरिकी प्रौद्योगिकी कंपनी वेरिजॉन ने 2017 में याहू का अधिग्रहण किया था। याहू ने कहा कि उसने 26 अगस्त 2021 से भारत में सामग्री का प्रकाशन रोक दिया है और देश में याहू के कंटेंट परिचालन को बंद कर दिया गया है। नोटिस में कहा गया कि हमने जल्दबाजी में यह निर्णय नहीं लिया है। याहू इंडिया भारत में नियामक कानूनों में बदलाव से प्रभावित हुआ, जो भारत में डिजिटल कंटेंट को संचालित और प्रकाशित करने वाली मीडिया कंपनियों के विदेशी स्वामित्व को सीमित करता है।

याहू का भारत के साथ एक लंबा जुड़ाव रहा है। याहू ने आगे कहा कि चूंकि याहू क्रिकेट में समाचार भी शामिल हैं, इसलिए यह नए एफडीआई नियमों से प्रभावित हुआ, जो ऐसी मीडिया कंपनियों के विदेशी स्वामित्व को सीमित करता है, जो भारत में समाचार तथा समसामयिक मामलों में डिजिटल कंटेंट प्रकाशित करती हैं। याहू ने पिछले दो दशकों में भारत में उपयोगकर्ताओं से मिले समर्थन और विश्वास के लिए धन्यवाद दिया। 

नए एफडीआई नियमों के तहत, जो अक्‍टूबर से प्रभावी होंगे, भारत में डिजिटल मीडिया कंपनियों को विदेशी निवेश के रूप में 26 प्रतिशत तक निवेश प्राप्‍त करने की अनुमति होगी और इसके लिए केंद्र सरकार से मंजूरी लेनी होगी। यदि आप याहू मेल यूजर हैं तो इस बदलाव से आपके ऊपर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। इस नए फैसले से याहू मेल और याहू सर्च अप्रभावित रहेंगे।

यह भी पढ़ें: ड्रोन इस्‍तेमाल को सरकार ने बनाया अब बहुत आसान, नहीं होगी लाइसेंस लेने की जरूरत

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार का तोहफा, बैंक कर्मचारियों के लिए फैमिली पेंशन बढ़ाई

यह भी पढ़ें: गन्‍ने का FRP बढ़ने के बाद उपभोक्‍ताओं पर महंगाई की मार, उठने लगी चीनी का बिक्री मूल्‍य बढ़ाने की मांग

यह भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल की चोरी अब नहीं होगी आसान, IOC कर रही है टेक्‍नोलॉजी का इस्‍तेमाल

Write a comment
elections-2022