Wednesday, April 10, 2024
Advertisement

राजस्थान: एयरफोर्स ऑफिसर ने ड्यूटी के दौरान की आत्महत्या, तीन लोगों पर लगे उकसाने के आरोप

राजस्थान निवासी एयरफोर्स ऑफिसर ने ड्यूटी के दौरान सुसाइड कर लिया है। परिजनों के मुताबिक, उसके दोस्त के पिता, दोस्त और उसकी पत्नी ने जवान को सुसाइड करने के लिए मजबूर किया।

Reported By : Manish Bhattacharya Edited By : Shailendra Tiwari Updated on: February 23, 2024 18:43 IST
Air force- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV मृतक एयरफोर्स ऑफिसर सुखाराम भींचर

राजस्थान के डीडवाना कुचामन जिले के मिदियान निवासी एक एयरफोर्स जवान ने हैदराबाद में ड्यूटी के दौरान सुसाइड कर लिया है। जवान का नाम सुखराम जाट बताया जा रहा है। इस मामले ने तब तूल पकड़ा जब लोगों ने सुखराम जाट का शव गच्छीपुरा थाने पहुंचने पर शुक्रवार को परिजनों ने विभिन्न मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। मृतक के परिजनों व पुलिस के बीच करीबन 4:00 बजे समझौता हुआ, जिसके बाद मृतक के शव को पैतृक ग्राम में अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया। ये मामला डीडवाना कुचामन जिले के गच्छीपुरा थाना क्षेत्र के मिदियान गांव का है।

हैदराबाद में तैनात था जवान

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह जानू ने बताया कि थाना इलाके के मिदियान गांव का रहने वाला 24 वर्षीय सुखाराम भींचर एयरफोर्स में हैदराबाद में तैनात था। 20 फरवरी को युवक ने अपने कमरे में फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। शुक्रवार सुबह परिजन शव लेकर गच्छीपुरा थाने पहुंचे और आरोपियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धर्मवीर जानू और सीओ भवानी सिंह ने एसआईटी का गठन कर मामले की जांच करवाने, दुर्व्यवहार करने वाले कान्स्टेबल किशन सिंह को सस्पेंड करने और आरोपी हेड कांस्टेबल को एपीओ करने का आश्वासन दिया। जिस पर परिजनों ने धरना समाप्त कर दिया और शव को अंतिम संस्कार के लिए ले गए।

मृतक के दोस्त, पत्नी और पिता पर लगे आरोप

मृतक युवक सुखाराम भींचर के पिता आशाराम ने गच्छीपुरा थाने में रिपोर्ट दी कि मृतक के दोस्त, उसकी पत्नी और दोस्त के पिता पर ब्लैकमेल, धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया। रिपोर्ट में पिता ने यह भी बताया उसके बेटे सुखाराम भींचर की जान-पहचान मकराना थाने में तैनात एक हेड कान्स्टेबल मोहम्मद सईद के बेटे से है। दोनों ने कुचामन में एक साथ पढ़ाई की थी। सुखाराम का साल 2017 वायु सेना में सेलेक्शन हुआ था। सुखाराम नौकरी से छुट्टी पर आता तो हेड कॉन्स्टेबल का बेटा उसे रुपए ऐंठने के लिए अपने साथ रखता था।

ब्रेनवाश कर हड़पने लगे सैलरी

अगस्त 2023 में वह छुट्टी लेकर आया तो हेड कॉन्स्टेबल का बेटा अपनी पत्नी को लेकर उसके घर आया और उनके घर पर रहा। इसके बाद आरोपियों ने सुखाराम और उसकी पत्नी पूजा को भी अपने घर मकराना बुलाया। इस दौरान हेड कॉन्स्टेबल, उसके बेटे और बहू ने षड्यंत्र करते उसके बेटे को हिंदू धर्म के खिलाफ भड़काया और उसका ब्रेनवाश कर उसकी एयरफोर्स की पूरी सैलरी तीनों आरोपी हड़पने लगे। इस दौरान आरोपियों ने बेटे सुखाराम पर धर्म परिवर्तन के लिए काफी दबाव बनाया और ऐसा नहीं करने पर बहू से झूठा मुकदमा दर्ज कराकर एयरफोर्स की नौकरी से निकलवाने की धमकी दी।

2020 से ऐंठ रहे रुपये

पिता ने अपनी आगे बताया कि हैदराबाद में ही उसके गांव का मोतीराम मार्बल का व्यापार करता है। दो महीने पहले रविवार को सुखाराम गांव के ही मोतीराम से मिले पहुंचा। जहां उसने मोतीराम को बताया कि उसका दोस्त पैसे के लालच में आ गया है और अब उस पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बना रहा है। साल 2020 से वह उससे रुपये ऐंठ रहा है। साथ ही पुलिस में झूठा मुकदमा दर्ज कराकर नौकरी से निकलवाने की धमकी दे रहा है। पिता ने बताया दोस्त की पत्नी ने 19 फरवरी को परबतसर थाने में रेप का झूठा मामला दर्ज कराया है, जिससे तनाव में आकर उसे बेटे सुखाराम ने अगले ही दिन 20 फरवरी की रात को हैदराबाद में ड्यूटी पर आत्महत्या कर ली।

पिता ने बताया कि उसका बेटा ऑफिस के बाहर किराए पर कमरा लेकर रहता था। उधर परिजन आरोपियों की गिरफ्तारी होने तक मृतक का अंतिम संस्कार नहीं करने की मांग पर अड़े थे। धरने पर बैठे पूर्व विधायक श्रीराम भींचर व लोकेश गोदारा ने बताया कि शुक्रवार को एक कांस्टेबल किशनसिंह ने मृतक के परिजनों से बदतमीजी की थी, जिसे सस्पेंड करने और आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ करने की मांग परिजनों ने रखी है।

मृतक पर दर्ज हुआ था दुष्कर्म का मुकदमा

जानकारी के अनुसार, मकराना थाने में तैनात आरोपी हेड कांस्टेबल परबतसर थाना क्षेत्र में रहता है। बीकानेर निवासी उसकी बहू ने पति के दोस्त सुखा उर्फ सुखाराम भींचर पर 19 फरवरी को दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवाया था। रिपोर्ट में उसने बताया कि 4 मार्च 2021 को उसका निकाह हुआ था। निकाह के बाद वह अपने ससुर के अलॉट सीओ क्वार्टर में रहने चली गई थी। उसके पति का दोस्त सुखाराम पारिवारिक संबंध के कारण घर आता रहता था। वह छेड़छाड़ करता, जिसकी शिकायत करने पर उसका पति ध्यान नहीं देता।

28 जनवरी 2024 को उसका ससुर, सास व ननद बीकानेर गए थे और उसका पति और 18 माह की पुत्री ही घर पर थे। उस समय सुखाराम उसके घर पर आया और उसके साथ दुष्कर्म किया। विवाहिता ने आरोप लगाया कि पति ने कुछ भी बोलने व विरोध करने पर उसकी बच्ची को जान से मारने की धमकी दी। जिस पर परबतसर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। इसके अगले दिन सुखाराम ने हैदराबाद में सुसाइड कर लिया।

पुलिस मौके पर तैनात

परबतसर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह जानू ने कहा मामले को लेकर गच्छीपुरा सहित डीडवाना कुचामन जिले के थानों की पुलिस को मौके पर तैनात किया गया। समझौता वार्ता सफल होने के बाद पंचनामा की कार्यवाही करते हुए परिजन शव को अंतिम संस्कार हेतु गांव ले गए। जहां पर ससम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

ये भी पढ़ें:

इस नामी बैंक में हुई फायरिंग, डकैती करने घुसे बदमाशों ने कैशियर को मारी गोली; CCTV वीडियो

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें राजस्थान सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement