Thursday, May 23, 2024
Advertisement

Chaitra Navratri 2024 5th Day: आज मां स्कंदमाता को जरूर अर्पित करें ये चीजें, संतान सुख से नहीं रहेंगे वंचित, पूरी होगी हर मुराद

Chaitra Navratri 2024 5th Day Maa Skandmata: नवरात्रि के पांचवें दिन मां स्कंदमाता की आराधना करने से संतान से जुड़ी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। तो आइए जानते हैं कि मां स्कंदमाता को आज क्या चीजें अर्पित करने चाहिए।

Written By : Acharya Indu Prakash Edited By : Vineeta Mandal Updated on: April 13, 2024 8:29 IST
Chaitra Navratri 2024- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Chaitra Navratri 2024

Chaitra Navratri 2024: आज चैत्र नवरात्रि का पांचवा दिन है। आज मां दुर्गा के पांचवें स्वरूप, स्कंदमाता की पूजा का विधान है। देवताओं के सेनापति कहे जाने वाले स्कंद कुमार, यानि कार्तिकेय जी की माता होने के कारण ही देवी मां को स्कंदमाता कहा जाता है। इनके विग्रह में स्कंद जी बालरूप में माता की गोद में बैठे हैं। माता का रंग पूर्णतः सफेद है और ये कमल के पुष्प पर विराजित रहती हैं, जिसके कारण इन्हें पद्मासना भी कहा जाता है। देवी मां की चार भुजायें हैं।ऊपर की दाहिनी भुजा में ये अपने पुत्र स्कंद को पकड़े हुए हैं और इनके निचले दाहिने हाथ तथा एक बाएं हाथ में कमल का फूल है, जबकि माता का दूसरा बायां हाथ अभय मुद्रा में रहता है। 

माना जाता है कि देवी मां अपने भक्तों पर ठीक उसी प्रकार कृपा बनाये रखती हैं, जिस प्रकार एक मां अपने बच्चों पर बनाकर रखती हैं। देवी मां अपने भक्तों को सुख-शांति और समृद्धि प्रदान करती हैं। साथ ही स्कंदमाता हमें सिखाती हैं कि हमारा जीवन एक संग्राम है और हम स्वयं अपने सेनापति। अतः देवी मां से हमें सैन्य संचालन की प्रेरणा भी मिलती है। इसके अलावा आपको बता दें कि मां स्कंदमाता की उपासना व्यक्ति को परेशानियों से छुटकारा दिलाने में भी मदद करती हैं।

इन मंत्रों का करें जाप

अगर आपका बिजनेस ठीक से नहीं चल रहा है, आपको व्यापार में मुनाफा नहीं मिल पा रहा है, तो आज नवरात्र के पांचवें दिन आपको स्कंदमाता की पूजा करके अवश्य ही लाभ उठाना चाहिए। साथ ही देवी मां के इस मंत्र का 11 बार जप भी करना चाहिए। मंत्र इस प्रकार है- सिंहासनगता नित्यं पद्माञ्चित करद्वया। शुभदास्तु सदा देवी स्कंदमाता यशस्विनी॥ आज स्कंदमाता के इस मंत्र का जप करने से आपको जीवन में आ रही परेशानियों से छुटकारा मिलेगा, साथ ही आपके घर में सुख-शांति और समृद्धि भी बनी रहेगी। 

स्कंदमाता को अर्पित करें ये चीजें

इसके अलावा आज नवरात्र के पांचवें दिन देवी मां को अंगराग, यानि सौन्दर्य प्रसाधन की चीजें और अपने सामर्थ्य अनुसार आभूषण चढ़ाने का विधान है। मां दुर्गा के पांचवें स्वरूप स्कंदमाता को सफेद रंग अत्यंत प्रिय है, इसलिए नवरात्र के पांचवें दिन माता रानी को दूध और चावल से बनी खीर और केले का भोग लगाएं।

स्कंदमाता पूरी करेंगी मुराद

नवरात्रि के पांचवें दिन मां स्कंदमाता की पूजा करने से सूनी गोद भर जाती है। स्कंदमाता की उपासना करने से स्वस्थ और तेजस्वनी संतान की प्राप्ति होती है। इसके अलावा कहते हैं कि जो भी विधि-विधान के साथ पूजा करता है और व्रत रखता है उसकी संतान की रक्षा  स्वयं मां स्कंदमाता करती हैं।

(आचार्य इंदु प्रकाश देश के जाने-माने ज्योतिषी हैं, जिन्हें वास्तु, सामुद्रिक शास्त्र और ज्योतिष शास्त्र का लंबा अनुभव है। इंडिया टीवी पर आप इन्हें हर सुबह 7.30 बजे भविष्यवाणी में देखते हैं।)

ये भी पढ़ें-

Mesh Sankranti 2024: आज अपनी उच्च राशि में प्रवेश करेंगे सूर्य, कर लें ये उपाय, पाएंगे पैसा-पद और आर्थिक लाभ

Chaitra Navratri 2024: कन्या पूजन के दौरान भूलकर भी न करें ये गलती, माता की कृपा से रह जाएंगे वंचित

Sun Transit 2024: 13 अप्रैल को सूर्य करेंगे मेष राशि में गोचर, जानें मेष से लेकर मीन राशि पर क्या पड़ेगा प्रभाव?

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Festivals News in Hindi के लिए क्लिक करें धर्म सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement