1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. टेक
  4. न्यूज़
  5. आ गई मेड इन इंडिया सोशल मीडिया ऐप in:collab, फेसबुक, टिकटॉक की खूबियों से लैस

आ गई मेड इन इंडिया सोशल मीडिया ऐप in:collab, फेसबुक, टिकटॉक की खूबियों से लैस

लॉकडाउन के बीच सोशल मीडिया की बढ़ती मांग के बीच भारत में एक और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की एंट्री हुई है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: August 28, 2020 10:19 IST
In Collab- India TV Hindi
Image Source : FILE In Collab

लॉकडाउन के बीच सोशल मीडिया की बढ़ती मांग के बीच भारत में एक और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की एंट्री हुई है। नेक्स्टजेन डेटासेंटर ने आज देश में in:collab नामक एक नया सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म लॉन्च किया है। बता दें कि भारत सरकार ने 100 से अधिक चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है, जिसके बाद से धड़ाधड़ भारतीय एप्स लॉन्च किए जा रहे हैं। in:collab NxtGen द्वारा विकसित एक ऐसा ही एक ऐप है। ऐप गूगल प्ले स्टोर के साथ ही ऐप्पल ऐप स्टोर दोनों पर डाउनलोड के लिए उपलब्ध है।

सिक्योरिटी, क्लाउड-बेस्ड, डिजास्टर रिकवरी, और डेटा प्रोटेक्शन सर्विसेज को मैनेज करने वाली कंपनी NxtGen DataCenter के अनुसार वर्तमान में, हम में से लगभग हर एक अपना अधिकांश काम उस समय करने के लिए इंटरनेट पर निर्भर है, जब हम में से कोई भी कोविड-19 के डर से बाहर नहीं निकल रहा है।

राजगोपाल, प्रबंध निदेशक और सीईओ NxtGen और MD, MultiVerse Technologies ने कहा कि in:collab ऐप को यूजर्स को न केवल अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ बल्कि सहयोगियों के साथ जोड़ने के लिए तैयार किया गया है। प्लेटफॉर्म एक कुशल तरीके से काम करने के लिए उपयोगकर्ताओं को अपने सहयोगियों से जोड़ना सुनिश्चित करता है।

मिलेंगी टिकटॉक और फेसबुक की खूबियां 

in:collab फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप, टिकटॉक, ट्विटर आदि जैसे कई सामाजिक मीडिया प्लेटफार्मों का मेल है। प्लेटफ़ॉर्म इन सभी प्लेटफ़ॉर्मों में से प्रत्येक को एक ऐप में एक साथ लाता है। किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के लिए आज का समय सुरक्षित होना और यूजर डेटा को सुरक्षित रखना महत्वपूर्ण है। NxtGen का दावा है कि सभी उपयोगकर्ता डेटा को देश के भीतर सुरक्षित रूप से संग्रहीत किया जाता है।

फैक्ट चैकर्स की टीम रखेगी ध्यान 

in:collab सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कंटेंट मॉडरेशन कार्यक्रम का दावा करता है। राजगोपाल ने कहा कि फैक्ट चैकर्स की एक टीम है जो प्लेटफॉर्म पर पोस्ट की गई सभी कंटेंट को मॉडरेट करती है। उन्होंने आगे खुलासा किया कि यदि कोई सामग्री सामुदायिक दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने के लिए पाई जाती है। in:collab उपयोगकर्ताओं को टैग करके इसके खिलाफ चेतावनी देता है।

कई भाषाओं में आएगा एप

वर्तमान में, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म केवल अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध है लेकिन आने वाले दिनों में in:collab को कुछ क्षेत्रीय भाषाओं में भी उपलब्ध होने के लिए कहा जा रहा है। कंपनी को अभी भाषाओं की सूची का खुलासा नहीं करना है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Tech News News in Hindi के लिए क्लिक करें टेक सेक्‍शन
Write a comment