1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. वायरल न्‍यूज
  4. वायरल न्‍यूज
  5. Viral Story: बेगुनाह ने हत्या के आरोप में काटी 28 साल कैद, अमिताभ बच्चन की फिल्म से मिलती है ये सच्ची कहानी

Viral Story: बेगुनाह ने हत्या के आरोप में काटी 28 साल कैद, अमिताभ बच्चन की फिल्म से मिलती है ये सच्ची कहानी

हिंदी फिल्मों में आपने ऐसे कई किस्से देखे होंगे जहां बेगुनाह होने के बावजूद हीरो जेल की सजा काटता है और फिर मिलता है न्याय। यहां भी कुछ ऐसा हुआ है।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: January 05, 2021 8:39 IST
viral story- India TV Hindi
Image Source : TWITTER/PENNLIVE viral story

फिल्म 'अंधा कानून' तो आपने देखी होगी। कैसे अमिताभ बच्चन उस हत्या की सजा काटते हैं जो उन्होंने की ही नहीं थी। ऐसे ही निरपराधियों द्वारा सजा काटने के कई किस्से आपने हिंदी फिल्मों में देखे होंगे। लेकिन फिलाडेल्फिया में असल में ऐसा मामला हो गया जहां एक शख्स ने झूठे आरोप की बदौलत अपनी जिंदगी के 28 साल जेल में गुजार दिए। 28 साल  बाद मुख्य गवाह द्वारा गलती मानने के बाद इस शख्स को बाइज्जत रिहा किया गया तो अदालत के पास भी अफसोस करने के लिए शब्द नहीं थे। इस मसले पर जब एक सीरीज बनी तबसे ये मामला वायरल हो रहा है। 

Viral Video: रेल की पटरी पर हुआ सांसें रोक देने वाला वाकया, कांस्टेबल ने पहले बचाई जान और फिर...

हालांकि जेल से छूटने के बाद इस शख्स को इतना मुआवजा मिला है कि वो आराम से अपनी बाकी जिंदगी बिता पाएगा। 

मामला फिलाडेल्फिया का है। यहां चैस्लर होलमेन नामक शख्स को 1991 में पेन्सिलवेनिया के एक छात्र की हत्या और लूटपाट के आरोप में गिरफ्तार किया गया। होलमेन कहते रहे कि मैंने  हत्या नहीं की है। लेकिन मुख्य गवाह ने कहा कि होलमेन ने ही हत्या की है। गवाहों के आधार पर होलमेन को ताउम्र कैद दी गई। तब होलमेन महज 21 साल के जवान थे।

समोसे की तस्करी में पकड़ा गया शख्स, 'समोसे छिपाए कहां थे' ये जान लेंगे तो सिर पीट लेंगे

2019 में एक बार फिर ये मामला खुला। इस बार गवाह ने अपनी गलती मानी कि उससे हत्यारे को पहचानने में भूल कर दी। इसकी वजह थी इनोसेंस प्रोजेक्ट की, जो कैदियों के मानवाधिकार के लिए लड़ता है। इसने काफी काम किया और अंत में ये साबित कर दिया कि गवाह गलत था। जुलाई 2019 में आखिरकार होलमेन को बाइज्जत बरी किया गया। तब उनकी उम्र थी 49 साल। 

अदालत ने भी इस मामले में अपनी गलती मानते हुए होलमेन को $9.8 million यानी 72 करोड़  रुपए का मुआवजा दिया। फिलाडेल्फिया के इतिहास में यह दूसरा सबसे बड़ा मुआवजा माना जा रहा है। 

होलमेन ने रिहा होने के बाद कहा - मेरे पास शब्द नहीं है ये बयां करने के लिए कि मुझसे क्या छीन लिया गया है। लेकिन ये मुआवजा उस चेप्टर को बंद कर देगा और मैं एक नई राह पर चलने के लिए तैयार हूं। 

Viral Photo: नए साल पर शख्स ने लगाया डरावना मास्क, लोग डरकर भागे, लेकिन इस फोटो में एक और पेंच है!

आपको बता दें कि नेटफ्लिक्स की सीरीज द इनोसेंस फाइल में होलमेन की कहानी बताई गई है। 

bigg boss 15