1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. भारत ने निभाया पड़ोसी होने का धर्म, 20 लाख से ज्यादा कोरोना वैक्सीन की डोज पहुंचाई

भारत ने निभाया पड़ोसी होने का धर्म, 20 लाख से ज्यादा कोरोना वैक्सीन की डोज पहुंचाई

भारत ने एक उपहार के रूप में कोविड-19 की 20 लाख से अधिक खुराकों को बृहस्पतिवार को आधिकारिक रूप से बांग्लादेश को सौंप दिया।

Bhasha Bhasha
Updated on: January 21, 2021 23:22 IST
भारत ने निभाया पड़ोसी होने का धर्म, 20 लाख से ज्यादा कोरोना वैक्सीन की डोज पहुंचाई- India TV Hindi
Image Source : TWITTER/@DRSJAISHANKAR भारत ने निभाया पड़ोसी होने का धर्म, 20 लाख से ज्यादा कोरोना वैक्सीन की डोज पहुंचाई

ढाका: भारत ने एक उपहार के रूप में कोविड-19 की 20 लाख से अधिक खुराकों को बृहस्पतिवार को आधिकारिक रूप से बांग्लादेश को सौंप दिया। बांग्लादेश को ये टीके ऐसे महत्वपूर्ण समय पर दिये गये है जब देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या में वृद्धि हो रही है। बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ एके अब्दुल मोमेन ने कहा कि भारतीय उच्चायुक्त विक्रम दोरईस्वामी ने टीकों को सौंपा है। 

उन्होंने कहा, ‘‘भारत (1971) मुक्ति युद्ध के दौरान बांग्लादेश के साथ खड़ा था और आज जब महामारी दुनिया पर कहर ढा रही है, भारत फिर से टीकों के उपहार के साथ आगे आया है।’’ एअर इंडिया का एक विमान कोविशील्ड के टीकों को लेकर ढाका के हजरत शाहजलाल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचा। भारतीय उच्चायुक्त विक्रम दोरईस्वामी ने एक औपचारिक कार्यक्रम में टीकों को मोमेन को सौंपा। 

मोमेन ने कहा कि टीके की आपूर्ति सद्भावना का एक उपहार है जिसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी बांग्लादेशी समकक्ष शेख हसीना ने दो पड़ोसी देशों के बीच मजबूत साझेदारी बनाने के माध्यम से हासिल किया है। इससे पूर्व भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ‘‘वैक्सीनमैत्री’’ पर ट्वीट किया था जिसमें कहा गया था कि भारत बांग्लादेश के साथ संबंधों को ‘‘सर्वोच्च प्राथमिकता’’ देता है। 

भारत में कोरोना वायरस से निपटने के लिए 16 जनवरी को टीकाकरण अभियान की शुरूआत हुई थी। भारत ने नेपाल को भी टीकों की दस लाख से अधिक खुराक सौंपी हैं। भारत ने बुधवार को भूटान को कोविशील्ड की 1,50,000 और मालदीव को 1,00,000 खुराक भेजी थी। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment