1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. बैन को अंगूठा दिखाते हुए उत्तर कोरिया ने किया इस खास रॉकेट लॉन्चर का परीक्षण

बैन को अंगूठा दिखाते हुए उत्तर कोरिया ने किया इस खास रॉकेट लॉन्चर का परीक्षण

उत्तर कोरिया ने एक बार फिर अमेरिकी दबाव को नजरअंदाज करते हुए नई किस्म के रॉकेट लॉन्चर का परीक्षण किया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: August 01, 2019 11:10 IST
North Korea claims successful test of new rocket launch system | AP File- India TV Hindi
North Korea claims successful test of new rocket launch system | AP File

सियोल: उत्तर कोरिया ने एक बार फिर अमेरिकी दबाव को नजरअंदाज करते हुए नई किस्म के रॉकेट लॉन्चर का परीक्षण किया है। इस परीक्षण को देश के नेता किम जोंग-उन की निगरानी में किया गया। इस नए रॉकेट लॉन्चर की खास बात यह है कि इससे एक साथ कई रॉकेट्स को दागा जा सकता है। उत्तर कोरिया की सरकारी संवाद समिति ‘KCNA’ ने गुरुवार को बताया कि किम की निगरानी में 31 जुलाई को एक ऐसी निर्देशित रॉकेट प्रणाली का परीक्षण किया गया, जिससे कई रॉकेट एक साथ दागे जा सकते हैं।

दक्षिण कोरियाई सेना ने बुधवार को बताया कि उत्तर कोरिया के पूर्वी तट पर वॉनसान से 2 बैलिस्टिक मिसाइलें दागी गईं। ‘KCNA’ ने कहा, ‘किम ने परीक्षण को लेकर कई बार संतोष जताया और राष्ट्रीय रक्षा विज्ञान और युद्ध सामग्री उद्योग कर्मियों की सराहना की, जिन्होंने कोरियाई शैली के एक और शानदार रॉकेट लॉन्चर का निर्माण किया है, जिससे कई रॉकेट एक साथ दागे जा सकते हैं।’ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल प्रक्षेपण प्रतिबंध लगा रखा है लेकिन उसने बुधवार को एक बार फिर इसका उल्लंघन किया। एक सप्ताह के भीतर किया गया यह दूसरा उल्लंघन है। 

उत्तर कोरियाई नेता किम और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच पिछले महीने हुई बातचीत के बावजूद प्योंगयांग ने यह कदम उठाया है। प्योंगयांग ने अमेरिका और दक्षिण कोरिया को संयुक्त सैन्य अभ्यास ना करने की चेतावनी दी थी लेकिन दोनों देशों ने इसके बावजूद इसे जारी रखने का निर्णय लिया। वहीं UNSC उत्तर कोरिया के हालिया बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षणों पर चर्चा के लिए गुरुवार को बंद कमरे में बैठक करेगा। उत्तर कोरियाई के UNSC के प्रस्तावों का उल्लंघन करते हुए बड़े हथियारों का निर्माण जारी रखने को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी ने बैठक करने का अनुरोध किया था।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment