Monday, February 26, 2024
Advertisement

इजरायल के भीषण हमले से खान यूनिस में हाहाकार, लोग पूछ रहे- कहां है UN, किधर है रेडक्रॉस?

हमास के साथ सीजफायर के खत्म होने के बाद इजरायल ने गाजा पट्टी पर एक नई ताकत के साथ हमला करना शुरू कर दिया है और इसका असर खान यूनिस पर देखने को मिल रहा है।

Vineet Kumar Singh Edited By: Vineet Kumar Singh @VickyOnX
Published on: December 05, 2023 20:58 IST
Israel Hamas War, Gaza War, Khan Younis Attack- India TV Hindi
Image Source : AP मिसाइल दागता हुआ इजरायल का अपाचे हेलीकॉप्टर।

गाजा पट्टी: इजरायल ने गाजा में युद्ध के नए खूनी चरण के तहत गाजा के दूसरे सबसे बड़े शहर खान यूनिस में और उसके आस पास मंगलवार सुबह अपनी बमबारी और तेज कर दी। हमला इतना भयावह था कि इसके बाद एम्बुलेंस और निजी कारें घायलों को स्थानीय अस्पताल ले जाते दिखीं। भारी जनहानि से बचने के अमेरिका के दबाव के तहत इजरायल ने कहा है कि हमला ज्यादा सटीक तरीके से किया जा रहा है। इजरायल, उत्तर के अधिकांश हिस्से को नष्ट करने के बाद दक्षिणी गाजा में अपना आक्रमण बढ़ा रहा है। हवाई बमबारी और जमीनी हमले ने पहले ही क्षेत्र के 23 लाख लोगों में से तीन-चौथाई को अपने घरों को छोड़ने पर मजबूर कर दिया है।

‘रात 10 बजे से मेरे बच्चे मलबे में हैं’

खान यूनिस के नासिर अस्पताल में एम्बुलेंस रात भर में दर्जनों घायल लोगों को लेकर पहुंची। एक स्थान पर एक कार रुकी और एक आदमी खून से लथपथ एक युवा लड़के को लेकर बाहर आया, जिसका हाथ बमबारी में उड़ गया था। आपातकालीन विभाग के बाहर एक महिला पूछती रही,‘रेड क्रॉस कहां है? संयुक्त राष्ट्र कहां है? रात 10 बजे से मेरे बच्चे अब तक मलबे में हैं।’ रविवार को ली गई सैटेलाइट तस्वीरों में टैंक और सैनिकों को खान यूनिस के बाहर जमा होते देखा गया जो कि आक्रामक हमले का हालिया निशाना है। जंग से पहले यह इलाका 4 लाख से ज्यादा लोगों का घर था।

गाजा की अधिकांश आबादी UN पर निर्भर

इजरायल ने जिस तरह से उत्तर के इलाकों से लोगों को जाने को कहा था वैसे ही उसने पूरे इलाके के बजाय लगभग 2 दर्जन आसपास के इलाकों से लोगों को बाहर करने का आदेश दिया है। गाजा की अधिकांश आबादी पहले ही दक्षिण में UN के रहमोकरम पर है, इसलिए ऐसे कुछ ही स्थान बचे हैं जिन्हें खाली कराया जाना है। इजरायल ने जंग की शुरुआत में उत्तर से भागे लोगों को वहां लौटने से रोक दिया है। फिलिस्तीनियों ने कहा कि इजरायल के इस क्षेत्र में हमले जारी हैं, ऐसे में कोई इलाका नहीं बचा है जहां वे सुरक्षित महसूस करते हों। कई लोगों को डर है कि अगर वे अपने घरों को छोड़ देंगे तो उन्हें कभी वापस लौटने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

‘लोगों को ह्यूमन शील्ड बना रहा हमास’

इजरायल का कहना है कि 7 अक्टूबर जैसे हमले को दोबारा होने से रोकने के लिए हमास के मिलिट्री इंफ्रास्ट्रक्चर को नष्ट करना होगा और उसे सत्ता से हटाना होगा। हमास और अन्य फिलिस्तीनी आतंकवादियों के अचानक किए गए हमले में लगभग 1200 लोग मारे गए जिनमें ज्यादातर आम नागरिक थे और उन्होंने लगभग 240 पुरुषों, महिलाओं और बच्चों को बंधक बना लिया। इजरायली सेना ने हमास पर नागरिकों को ‘ह्यूमन शील्ड’ के रूप में इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। इजरायली सेना ने कहा कि हमास आबादी से भरे इलाकों में लड़ता है जहां उसने सुरंग, बंकर, रॉकेट लॉन्चर और स्नाइपर ठिकाने बना रखे हैं।

Israel Hamas War, Gaza War, Khan Younis Attack

Image Source : AP
इजरायल के हमले के बाद लोग रोते-चिल्लाते देखे गए।

‘आसमान में जैसे बिजली चमक रही थी’

इजरायल की सेना ने कहा कि गाजा आक्रमण में उसके 84 सैनिक मारे गए हैं। इजरायली सेना द्वारा जारी किए गए निकासी मानचित्रों के अनुसार सीजफायर खत्म होने के बाद से सेना ने खान यूनिस और उसके आसपास के लगभग 62 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र से आबादी को बाहर करने का आदेश दिया है। खान यूनिस के पास लगातार बमबारी से सोमवार शाम शहर के आसमान में बार-बार बिजली-सी चमकती रही। इजरायली सेना द्वारा गिराए गए पर्चों में लोगों को दक्षिण में मिस्र की सीमा की ओर जाने की चेतावनी दी गई है। हालांकि वे गाजा भी नहीं छोड़ सकते क्योंकि इजरायल और पड़ोसी मिस्र दोनों ने किसी भी रिफ्यूजी को लेने से इनकार कर दिया है।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement