1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. यूरोप
  5. रूस में ओमिक्रॉन ने मचाया कहर, दैनिक मामले एक लाख के पार होने की आशंका

रूस में ओमिक्रॉन ने मचाया कहर, दैनिक मामले एक लाख के पार होने की आशंका

रूसी अधिकारियों ने वृद्धि को रोकने के लिए कोई बड़ा प्रतिबंध लगाने से परहेज किया है और कहा है कि अस्पताल रोगियों की बढ़ती संख्या से निपट रहे हैं।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: January 28, 2022 23:46 IST
Russia Omicron, Omicron, Russia, Russia Covid-19, Covid-19, Covid-19 Russia- India TV Hindi
Image Source : AP REPRESENTATIONAL रूस में अधिकारियों ने शुक्रवार को संक्रमण के 98,000 से अधिक नए मामलों की पुष्टि की।

Highlights

  • रूस के सरकारी कोरोना वायरस कार्य बल ने शुक्रवार को पिछले 24 घंटों में 98,040 नए मामले दर्ज किए।
  • बहुत से लोग जांच नहीं करवाते हैं क्योंकि उनमें संक्रमण का कोई लक्षण नहीं होता है: क्रेमलिन प्रवक्ता
  • क्रेमलिन के प्रवक्ता ने यह भी माना कि प्रशासन में बहुत से लोग वायरस से संक्रमित हो गए हैं।

मॉस्को: रूस में अधिकारियों ने शुक्रवार को संक्रमण के 98,000 से अधिक नए मामलों की पुष्टि की। हालांकि, क्रेमलिन (राष्ट्रपति कार्यालय) के अनुसार, वास्तविक संख्या इससे बहुत अधिक होने की आशंका है, क्योंकि अत्यधिक संक्रामक ओमिक्रॉन स्वरूप का प्रकोप देश में जारी है। रूस के सरकारी कोरोना वायरस कार्य बल ने शुक्रवार को पिछले 24 घंटों में 98,040 नए मामले दर्ज किए, जो हाल के सप्ताह में देश में सर्वाधिक है। क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने शुक्रवार को कहा, ‘संख्या अधिक है और संभवतः बहुत अधिक है। बहुत से लोग जांच नहीं करवाते हैं क्योंकि उनमें संक्रमण का कोई लक्षण नहीं होता है।’

पेसकोव ने कहा कि रूस में संक्रमितों की संख्या ‘अमेरिका, पश्चिमी यूरोपीय देशों की तुलना में बहुत कम है, इसलिए कोई भी इस बात से इनकार नहीं कर सकता कि मामले और बढ़ेंगे।’ क्रेमलिन के प्रवक्ता ने यह भी माना कि प्रशासन में बहुत से लोग वायरस से संक्रमित हो गए हैं। पेसकोव ने कहा, ‘अधिकांश लोग पृथक-वास में रहकर भी घर से काम करना जारी रखे हुए हैं।’ रूस में कोरोना वायरस संक्रमण लगभग 3 सप्ताह पहले बढ़ना शुरू हुआ, दैनिक नए मामले 10 जनवरी को लगभग 15,000 थे जो बढ़कर शुक्रवार को लगभग 1,00,000 हो गए।

हालांकि, रूसी अधिकारियों ने वृद्धि को रोकने के लिए कोई बड़ा प्रतिबंध लगाने से परहेज किया है और कहा है कि अस्पताल रोगियों की बढ़ती संख्या से निपट रहे हैं। पेसकोव ने ‘दुनिया के अनुभव’ का हवाला देते हुए शुक्रवार को कहा कि ‘कड़े प्रतिबंध’ लगाने का कोई मतलब नहीं है। इस महीने की शुरुआत में संसद ने अनिश्चित काल के लिए टीकाकरण नहीं करवाने वाले लोगों पर प्रतिबंध को स्थगित कर दिया, जो रूस में टीके को लेकर लोगों की झिझक की पुष्टि करता है।

इस सप्ताह स्वास्थ्य अधिकारियों ने बिना कोई स्पष्टीकरण दिए कोविड-19 रोगियों के संपर्क में आने वालों के लिए पृथकवास की अवधि को 14 दिनों से घटाकर 7 दिन कर दिया। रूस में 2020 में केवल एक बार लॉकडाउन लगा था। रूस के सरकारी कोरोना वायरस कार्य बल ने संक्रमण के 1.15 करोड़ से अधिक मामलों और 329,443 मरीजों की मौतों की पुष्टि की है, जो यूरोप में सर्वाधिक है। रूस की 14.60 करोड़ आबादी में से लगभग आधी का पूर्ण टीकाकरण हुआ है, भले ही रूस स्वदेशी विकसित कोविड-19 रोधी टीके को मंजूरी देने और टीकाकरण की शुरुआत करने वाला दुनिया का पहला देश होने का दावा करता हो।

जुलाई 2021 से छह महीने से अधिक समय पूर्व टीके की सभी खुराक ले चुके लोग ‘बूस्टर’ खुराक के योग्य हैं। लेकिन देश भर में टीकाकरण पर नजर रखने वाली वेबसाइट के अनुसार, शुक्रवार तक 2.4 करोड़ लोगों में से केवल 97 लाख लोगों ने अपनी बूस्टर खुराक ली है। रूस में कोविड-19 के कारण बच्चों के अस्पताल में भर्ती होने के मामलों में वृद्धि के बीच इस सप्ताह 12-17 वर्ष की आयु के लाभार्थियों के लिए देश में विकसित कोविड-19 रोधी टीका स्पुतनिक एम (स्पुतनिक वी टीके का स्वरूप) से टीकाकरण अभियान शुरू किया गया।

erussia-ukraine-news