Wednesday, February 28, 2024
Advertisement

मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर में 350 किलोमीटर प्रति घंटे रफ्तार से दौड़ेगी ट्रेन, मिली ये बड़ी कामयाबी

गुजरात के वलसाड में मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर पर बनी भारत की पहली सुरंग है, जिसमें एक ट्रेन 350 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गुजरेगी।

Vineet Kumar Singh Edited By: Vineet Kumar Singh @VickyOnX
Published on: October 06, 2023 22:39 IST
Mumbai-Ahmedabad high-speed rail corridor, Bullet Train India- India TV Hindi
Image Source : EAST JAPAN RAILWAY COMPANY भारत में बुलेट ट्रेन का रास्ता प्रशस्त करने की दिशा में एक बड़ी कामयाबी मिली है।

वलसाड: गुजरात के वलसाड में मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर यानी बुलेट ट्रेन के रास्ते में पहली पर्वतीय सुरंग बनाने में गुरुवार को कामयाबी मिल गयी। बता दें कि इस हाई स्पीड रेल कॉरिडोर पर 350 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बुलेट ट्रेनें दौड़ती नजर आएंगी। अधिकारियों ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा,‘350 मीटर लंबी इस सुरंग का व्यास 12.6 मीटर और ऊंचाई 10.25 मीटर है। घोड़े के नाल के आकार वाली इस सुरंग में 2 हाई स्पीड ट्रेन ट्रैक होंगे।’ 

‘इस मामले में भारत की पहली सुरंग’

नेशनल हाईस्पीड रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड (NHSRCL) ने मुंबई और अहमदाबाद के बीच 508 किलोमीटर लंबे ट्रैक पर इसके अलावा 6 और सुरंगें बनाने का प्लान बनाया है। वलसाड खंड के मुख्य प्रोजेक्ट मैनेजर एस. पी. मित्तल ने गुरुवार को बताया, 'हमें सबसे ज्यादा खुशी इस बात की है कि ये भारत की पहली सुरंग है, जिसमें एक ट्रेन 350 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गुजरेगी।' उन्होंने कहा कि उनकी टीम ने सुरंग की पूरी निर्माण अविध में एक भी अप्रिय घटना का सामना नहीं किया।


जानें, क्या था सबसे बड़ा चैलेंज
मित्तल ने कहा, 'हमारे सामने सबसे बड़ा चैलेंज था कि कैसे सुरंग के संरेखण को बिल्कुल सीधा रखा जाए, क्योंकि बुलेट ट्रेन 350 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ेगी और मामूली-सा भी घुमाव एक बड़े खतरे को पैदा कर सकता था। इसलिए हमने बहुत बारीकी से हर काम किया और आपको सुरंग में एक मिलीमीटर का भी घुमाव देखने को नहीं मिलेगा।' मित्तल के मुताबिक, सुरंग बनाने का काम पूरा करने में एक साल से ज्यादा और बड़ी संख्या में वर्कफोर्स लगी है। NHSRCL ने एक बयान में कहा कि ‘नई आस्ट्रियाई सुरंग विधि’ (NATM) के जरिये इस सुरंग का निर्माण किया गया है।

रेल मंत्री ने भी शेयर की तस्वीरें
इस कामयाबी के बारे में रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने भी X पर पोस्ट किया। बता दें कि यह सुरंग गुजरात में वलसाड के उम्बेरगांव तालुका में जरोली गांव से करीब एक किलोमीटर की दूरी पर है। मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर में पहाड़ों से गुजरने वाली 7 सुरंगें होंगी और उन सभी का निर्माण NATM के जरिए किया जाएगा। बुलेट ट्रेन के इस रास्ते में मुंबई में बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स और ठाणे जिले के शिल्पहटा के बीच भी 21 किलोमीटर लंबी सुरंग होगी, जिसका 7 किलोमीटर हिस्सा ठाणे क्रीक (खाड़ी) में होगा। इस तरह से यह समुद्र के नीचे से गुजरने वाली देश की पहली सुरंग होगी। (भाषा)

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें गुजरात सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement