Death of Sun: धीरे-धीरे बूढ़ा हो रहा हमारा सूरज, सामने आई तारीख, पता चला कब होगी उसकी मौत

Death of Sun: प्रकृति में हर वस्तुओं का खत्म होना तय है। जैसे इंसानों की उम्र एक समय आने के बाद खत्म हो जाती है और इंसान इस ग्रह को छोड़कर चला जाता है। वैसे ही अब हमारा सूर्य भी बुढ़ा होने लगा है। हा आपने सही पढ़ा, हमारे सूर्य का भी उम्र होता है और इसका भी उम्र खत्म होते जा रहा है।

Ravi Prashant Written By: Ravi Prashant @iamraviprashant
Updated on: August 17, 2022 15:08 IST
Death of Sun- India TV Hindi News
Image Source : TWITTER Death of Sun

Highlights

  • सूर्य वर्तमान में कई परेशानियों का सामना कर रहा है
  • सुर्य में हाइड्रोजन को हीलियम में फ्यूज लगातार हो रहा है
  • सूरज से 9 संसपॉट्स कैसे टूटे हैं

Death of Sun: प्रकृति में हर वस्तुओं का खत्म होना तय है। जैसे इंसानों की उम्र एक समय आने के बाद खत्म हो जाती है और इंसान इस ग्रह को छोड़कर चला जाता है। वैसे ही अब हमारा सूर्य भी बूढ़ा होने लगा है। हा आपने सही पढ़ा, हमारे सूर्य का भी उम्र होता है और इसका भी उम्र खत्म होते जा रहा है। सूर्य के अंदर सौर ज्वालाएं फूट रही है। कोरोनल मास इजेक्शन से सुर्य लड़ रहा है। ये मध्य युग से गुजर रहा है फिलहाल सुर्य का उम्र अनुमानत 4.57 बिलियन वर्ष है। ब्रह्मांड का सबसे सटीक नक्शा बनाने गैया ने इस बात की खुलासा की है।  उन्होनें ही हमारे सौर मंडल के केंद्र में चमकते तारे के अतीत और भविष्य का खुलासा किया है। इस साल जून में गैया अंतरिक्ष यान को जारी किए गए नए आंकड़ों से एक खुलासा किया था उन्होंने बताया कि तारे कितने बदल रहे हैं, उनकी स्वभाव में कितना बदलाव आ रहे हैं। आगे खुलासा किया कि कौने से तारे कितने गर्म है और आने वाले भविष्य में कितने बड़े होने वाले हैं। 

सूरज अब बुढ़ापे की ओर 

यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि लगभग 4.57 अरब वर्ष की आयु के साथ सूर्य वर्तमान में कई परेशानियों का सामना कर रहा है। सुर्य में हाइड्रोजन और हीलियम में फ्यूज लगातार हो रहा है जबकि ये और आमतौर पर स्थिर होता है। सूर्य पिछले सप्ताह 17 कोरोनल मास इजेक्शन से गुजरा है। वही नौ सनस्पॉट भी सुर्य के अंदर फटा था।
हालांकि भविष्य में जैसे ही हाइड्रोजन खत्म हो जाएगा और सुर्य की टुटने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी तो यह एक लाल विशालकाय तारे में बदल जाएगा। जिसके बाद इस प्रक्रिया में इसकी सतह का तापमान कम हो जाएगा।

वैज्ञानिक करना क्या चाह रहे हैं 
वैज्ञानिक ये जानने की कोशिश कर रहे हैं कि आखिर यह पूरी प्रक्रिया कैसे होती है। सूरज के तापमान पर कैसे तय हो सकता है, किस तरह से किसी तारों का रासायनिक निर्माण होता है। इस पूरी प्रक्रिया पर वैज्ञानिक नजर बनाए हुए हैं। वही सूरज से 9 संसपॉट्स कैसे टूटे हैं और कैसे 17 कोरोनाल मास इजेक्शन से गुजर रहा है। हालांकि कुछ हदतक गैया आंकड़े से इसे सुलझाने सफल हुए हैं। 

क्या सूरज खत्म हो जाएगा?
वैज्ञानिकों के मुताबिक, सूरज की भी एक आयु होती है। एक समय के बाद ये भी खत्म हो जाएगा। Gaia के मुताबिक 8 बिलियन साल बाद सूरज का तापमान सबसे अधिक होगा। इतना अधिक होगा कि सुर्य के अंदर एक विस्फोट होगा जिसके बाद धीरे-धीरे सूरज पर फिर से तापमान एक दम हो जाएगा। इसी दौरान सूरज अपना शेप भी बदल लेगा और साथ ही साथ रंग में बदलाव देखने को मिलेगी। जब सुर्य का उम्र 1011 बिलियन साल की हो जाएगी तो सुर्य अपने अंतकाल की ओर चला जाएगा। और फिर इसके बाद धीरे-धीरे खत्म हो जाएगा। खगोल वैज्ञानिकों का मानना है कि सुर्य की आयु ज्यादा दिन की नहीं रही है।

Latest India News

navratri-2022