1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. जम्मू कश्मीर: श्रीनगर के एनआईटी में कोरोना ने बरपाया कहर, 47 स्टूडेंट्स में 24 मिले संक्रमित

जम्मू कश्मीर: श्रीनगर के एनआईटी में कोरोना ने बरपाया कहर, 47 स्टूडेंट्स में 24 मिले संक्रमित

कोरोना अभी भी देश में फैल रहा है और कई लोग इसके नए वैरिएंट का भी शिकार हो रहे हैं। हालही में ये खबर सामने आई थी कि केंद्र सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जताई है और 5 राज्यों को पत्र लिखकर अलर्ट किया है।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 10, 2022 7:23 IST
Jammu and Kashmir - India TV Hindi
Image Source : PTI/FILE  Corona wreaks havoc in Srinagar 

Highlights

  • श्रीनगर के एनआईटी में 24 स्टूडेंट्स मिले संक्रमित
  • एनआईटी में 47 स्टूडेंट्स का किया गया था कोरोना टेस्ट
  • देश में कोरोना को लेकर अभी पूरी तरह राहत नहीं

जम्मू कश्मीर: देश में कोरोना का कोहराम अभी खत्म नहीं हुआ है। इस बार श्रीनगर के एनआईटी में कई स्टूडेंट्स कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, यहां 47 स्टूडेंट्स का कोरोना टेस्ट किया गया था, जिसमें से 24 स्टूडेंट्स संक्रमित पाए गए। 

ये जानकारी ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर हजराबाल ने सामाजिक और निवारक चिकित्सा, जीएमसी श्रीनगर के विभागाध्यक्ष को लिखे पत्र में दी है। इस पत्र में कहा गया है कि आपसे इस मामले को माइक्रो कंटेनमेंट जोन की आवश्यक घोषणा के लिए संबंधित अधिकारियों के साथ उठाने का अनुरोध किया जाता है।

गौरतलब है कोरोना अभी भी देश में फैल रहा है और कई लोग इसके नए वैरिएंट का भी शिकार हो रहे हैं। हालही में ये खबर सामने आई थी कि केंद्र सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जताई है और 5 राज्यों को पत्र लिखकर अलर्ट किया है।

दरअसल केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने शुक्रवार को प्रभावित राज्यों को पत्र लिखा था। उन्होंने दिल्ली, हरियाणा, महाराष्ट्र, केरल और मिजोरम के मुख्य सचिवों से कहा था कि बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को गंभीरता से लें। उन्होंने कोरोना वैक्सीनेशन तेज करने के लिए भी कहा और क्लस्टर जोन में निगरानी बढ़ाने के लिए भी कहा। इन पांच राज्यों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, इसलिए केंद्र ने इन पांच राज्यों को अलर्ट किया है। 

मीडिया रिपोर्ट्स से ये भी जानकारी मिली थी कि देश में कोरोना निगेटिव होने के बाद भी कई मरीजों के मल में कोरोना वायरस जिंदा मिला है। जिसकी वजह से सीवर लाइंस में जीवित कोरोना वायरस मौजूद है।

erussia-ukraine-news