ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. RSS कार्यकर्ता की हत्या का जश्न मना रहे हैं SDPI के लोग, कहां है 'इनटॉलरेंस' ब्रिगेड: अमित मालवीय

RSS कार्यकर्ता की हत्या का जश्न मना रहे हैं SDPI के लोग, कहां है 'इनटॉलरेंस' ब्रिगेड: अमित मालवीय

अपने ट्वीट में अमित मालवीय ने लिखा, SDPI कार्यकर्ताओं ने 15 नवंबर की शाम को केरल के कोझीकोड में RSS कार्यकर्ता संजीत के हत्यारों की जय-जयकार करते हुए एक सेलिब्रेशन मार्च निकाला।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: November 30, 2021 19:08 IST
Amit Malviya, Amit Malviya SDPI, Amit Malviya RSS Sanjith SDPI, Amit Malviya Sanjith- India TV Hindi
Image Source : TWITTER.COM/AMITMALVIYA अमित मालवीय ने SDPI कार्यकर्ताओं पर RSS कार्यकर्ता संजीत की हत्या का जश्न मनाने का आरोप लगाया है।

Highlights

  • SDPI कार्यकर्ताओं पर RSS कार्यकर्ता की हत्या का जश्न मनाने का आरोप लगाया।
  • 27 वर्षीय संघ कार्यकर्ता संजीत की उनकी पत्नी के सामने हत्या कर दी गई थी।

नई दिल्ली: बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्विटर पर एक वीडियो ट्वीट कर SDPI कार्यकर्ताओं पर RSS कार्यकर्ता की हत्या का जश्न मनाने का आरोप लगाया है। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि SDPI कार्यकर्ताओं ने 15 नवंबर की शाम को केरल के कोझीकोड में RSS कार्यकर्ता संजीत की हत्या करने वालों की जय-जयकार करते हुए एक सेलिब्रेशन मार्च निकाला। अपने ट्वीट में मालवीय ने कहा कि असहिष्णुता बढ़ने का शोर मचाने वाली ब्रिगेड अब कहां है? मालवीय ने दावा किया कि इस दौरान आपत्तिजनक नारे भी लगाए गए।

15 नवंबर को हुई थी संघ कार्यकर्ता की हत्या

अपने ट्वीट में अमित मालवीय ने लिखा, 'SDPI कार्यकर्ताओं ने 15 नवंबर की शाम को केरल के कोझीकोड में RSS कार्यकर्ता संजीत के हत्यारों की जय-जयकार करते हुए एक सेलिब्रेशन मार्च निकाला। RSS कार्यकर्ता की पसली तोड़ने वाले लोगों को 1000 सलाम और इससे भी बदतर नारे सुने जा सकते हैं। ‘इनटॉलरेंस ऑन द राइज’ ब्रिगेड कहां है?' बता दें कि 27 वर्षीय संघ कार्यकर्ता संजीत की 15 नवंबर (सोमवार) को उनकी पत्नी के सामने उस समय हत्या कर दी गई थी, जब वह अपनी पत्नी को उसके कार्यालय छोड़ने जा रहे थे।


बीजेपी ने SDPI के लोगों पर लगाया हत्या का आरोप
इस बीच RSS कार्यकर्ता की हत्या के मामले की जांच कर रही पुलिस ने इस मामले में पिछले हफ्ते सोमवार को 3 लोगों को हिरासत में लिया था। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि मामले की जांच कर रही पुलिस ने 3 लोगों को हिरासत में लिया है। वही, बीजेपी एवं संघ परिवार संगठन ने आरोप लगाया कि इस हत्या के पीछे इस्लामिस्ट संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के राजनीतिक संगठन सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के लोगों का हाथ है। हालांकि, SDPI ने इन आरोपों को खारिज कर दिया।

elections-2022