Monday, April 22, 2024
Advertisement

केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने दिल्ली में किया महिला क्रिकेट टूर्नामेंट का उद्घाटन, बल्लेबाजी भी की

महिला क्रिकेट टूर्नामेंट का उद्घाटन करते हुए केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने कहा कि देश को आगे बढ़ाना है तो बेटियों को आगे बढाना ही होगा। देश के प्रधानमंत्री ने चार जातियों के बारे में बताया था- गरीब,युवा, महिला और किसान।

Subhash Kumar Edited By: Subhash Kumar @ImSubhashojha
Updated on: February 21, 2024 22:30 IST
मीनाक्षी लेखी ने किया क्रिकेट टूर्नामेंट का उद्घाटन।- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV मीनाक्षी लेखी ने किया क्रिकेट टूर्नामेंट का उद्घाटन।

फेयरवे फेयरप्ले चैरिटेबल ट्रस्ट के द्वारा दिल्ली के सिरी फोर्ट स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में मंगलवार को कल्पना चावला मेमोरियल महिला क्रिकेट टूर्नामेंट का उद्घाटन किया गया। केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने इस टूर्नामेंट का उदघाटन किया। केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने भी बल्लेबाजी करके दोनों ही टीम का हौसला बढ़ाया। बता दें कि ट्रस्ट के द्वारा इस तरह का यह पहला टूर्नामेंट करवाया जा रहा है। 

जानें टूर्नामेंट की खास बातें

इस टूर्नामेंट में कुल 12 टीमें भाग ले रही हैं। टूर्नामेंट में कुल 15 मैच खेले जाएंगे। टूर्नामेंट में 40 ओवर के मैच खेले जाएंगे जिसमें लाल गेंद और सफेद पोशाक का उपयोग किया जा रहा है। टूर्नामेंट में  भाग लेने वाली टीम को तीन लीग मैचों में प्रतिस्पर्धा करने का अवसर मिलेगा, जिससे प्रतिभागियों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा और सौहार्द को बढ़ावा मिलेगा। पहला मैच रोहतक रोड और नोएडा वंडर्स के बीच खेला गया जिसमें कल्पना चावला के भाई संजय चावला ने टॉस उछाला।

बेटियों को आगे बढाना ही होगा- मीनाक्षी लेखी

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने कहा कि देश को आगे बढ़ाना है तो बेटियों को आगे बढाना  ही होगा। देश के प्रधानमंत्री  ने चार जातियों के बारे में बताया था- गरीब,युवा, महिला और किसान। महिला जाति अगर आगे बढ़ती है तो समझना चाहिए कि पूरा समाज आगे बढ़ता है। मीनाक्षी लेखी ने कहा कि शोषित,वंचित, पीड़ितों में महिला हर बार कहीं ना कहीं पीछे छूट गई थी। उनको आगे लाने का काम नरेंद्र मोदी ने किया है। उसका सबसे बड़ा उदाहरण है कि प्रधानमंत्री ने 2014 में पानीपत से इसका इस लड़ाई का आगाज बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ क अभियान शुरू करके किया  था और आज  10 साल में 1000 लड़को के मुकाबले 1020 बेटियों का जन्म हुआ है। 

2047 का देश बेटियों का है

मीनाक्षी लेखी ने कहा कि  देश के लोगों का बेटियों के प्रति  ध्यान आकर्षित किया गया और बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए काम किया गया है। हर जगह बेटियों को आगे बढ़ने का काम किया जा रहा है। उसमें एक प्रयास आज फेयरवे फेयरप्ले चैरिटेबल ट्रस्ट ने किया है । जब पूरा समाज किसी विषय को लेकर एकत्र हो जाता है और बेटियों का पक्ष में खड़ा होता है तो तय कर लेना चाहिए कि काम होना ही है। जो आगाज  2014 में पानीपत से हुआ उसके नतीजे देश को देखने को मिले हैं। और 2047 में विकसित भारत का अमृतकाल ये पीढ़ी देखने जा रही है। मीनाक्षी लेखी ने कहा कि बेटी आगे बढ़ेगी तो देश आगे बढ़ेगा। 2047 का देश बेटियों का है। 

विजेताओं को पुरस्कार भी मिलेगा

इस क्रिकेट टूर्नामेंट में फेयरवे फेयरप्ले चैरिटेबल ट्रस्ट के द्वारा खिलाड़ियों को पुरस्कृत भी किया जाएगा। विजेताओं को 30,000 रुपये, उपविजेता के लिए 20,000 रुपये का इनाम रखा गया है। इसके अतिरिक्त, उत्कृष्ट प्रदर्शन को व्यक्तिगत स्तर पर स्वीकार किया जाएगा, जिसमें प्रत्येक मैच के उत्कृष्ट खिलाड़ियों को नकद पुरस्कार दिए जाएंगे। टूर्नामेंट का समापन ग्रैंड फिनाले में होगा जहां टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज, सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज और खिलाड़ी को सम्मानित किया जाएगा।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement