1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. Ford भारत में बंद करेगी EcoSport, Figo और Aspire की बिक्री, दोनों विनिर्माण संयंत्र भी होंगे बंद

Ford भारत में बंद करेगी EcoSport, Figo और Aspire की बिक्री, दोनों विनिर्माण संयंत्र भी होंगे बंद

फोर्ड मोटर इंडिया ने 1995 में भारत में अपना कारोबार शुरू किया था। जनरल मोटर्स के बाद फोर्ड दूसरी अमेरिकन कंपनी है जो भारत में अपने संयंत्र को बंद कर रही है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: September 09, 2021 16:02 IST
Ford will stop selling EcoSport, Figo and Aspire in india, shut down its manufacturing plants- India TV Paisa
Photo:FORD INDIA@TWITTER

Ford will stop selling EcoSport, Figo and Aspire in india, shut down its manufacturing plants

नई दिल्‍ली। अमेरिका की प्रमुख ऑटो कंपनी फोर्ड मोटर कंपनी (Ford Motor Co) भारत में अपने दो विनिर्माण संयंत्रों को बंद करेगी और रिस्‍ट्रक्‍चरिंग प्‍लान के तहत देश में केवल इम्‍पोर्टेड वाहनों की बिक्री करेगी। इस मामले से जुड़े सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। कंपनी ने अपने चेन्‍नई (तमिलनाडु) और साणंद (गुजरात) स्थित संयंत्रों में 2.5 अरब डॉलर का निवेश किया है। कंपनी इन दोनों संयंत्रों में बनने वाले वाहनों जैसे ईकोस्‍पोर्ट, फि‍गो और एस्‍पायर की बिक्री को भी बंद करेगी। कंपनी अब देश में कवेल इम्‍पोर्टेड व्‍हीकल जैसे मस्‍तंग (Mustang) की बिक्री करेगी।

इस मामले के जानकार एक सूत्र ने बताया कि यह एक रिस्‍ट्रक्‍चरिंग निर्णय है, जहां कंपनी इम्‍पोर्टेड व्‍हीकल्‍स पर शिफ्ट करेगी। इस संबंध में कंपनी ने आधिकारिक घोषणा भी कर दी है। फोर्ड पिछले कई सालों से भारतीय ऑटो बाजार में एक महत्‍वपूर्ण हिस्‍सेदारी हासिल करने के लिए संघर्ष कर रही है।

https://twitter.com/FordIndia/status/1435907031248953355

फोर्ड इंडिया के पास 6,10,000 इंजन और 4,40,000 वाहन प्रतिर्ष उत्‍पादन की स्‍थापित क्षमता है। यह अपने फ‍िगो, एस्‍पायर और ईकोस्‍पोर्ट मॉडल को पूरी दुनिया के 70 से अधिक देशों में निर्यात भी करती है। इस साल जनवरी में, फोर्ड मोटर कंपनी और महिंद्रा एंड महिंद्रा ने अपने पूर्व में घोषित ऑटोमोटिव ज्‍वॉइंट वेंचर को खत्‍म करने की घोषणा की थी और इसके स्‍थान पर अपने-अपने स्‍वतंत्र परिचालन को जारी रखने का निर्णय लिया था।  

अक्‍टूबर 2019 में, दोनों कंपनियों ने एक समझौते की घोषणा की थी, जिसके तहत महिंद्रा एंड महिंद्रा फोर्ड मोटर कंपनी की पूर्ण स्‍वामित्‍व वाली इकाई में अधिकांश हिस्‍सेदारी खरीदकर उसका भारत में अधिग्रहण करती। नई इकाई बाजार विकसित करती और भारत में फोर्ड ब्रांड के वाहनों को वितरित करती। समझौते के मुताबिक, एमएंडएम फोर्ड इंडिया में 51 प्रतिशत हिस्‍सेदारी का अधिग्रहण 657 करोड़ रुपये में करने के लिए तैयार हुई थी। शेष 49 प्रतिशत हिस्‍सेदारी फोर्ड मोटर कंपनी या इसकी किसी सहयोगी इकाई के पास रहती।   

फोर्ड मोटर इंडिया ने 1995 में भारत में अपना कारोबार शुरू किया था। जनरल मोटर्स के बाद फोर्ड दूसरी अमेरिकन कंपनी है जो भारत में अपने संयंत्र को बंद कर रही है। 2017 में जनरल मोटर्स ने भारत में अपने वाहनों की बिक्री बंद करने की घोषणा की थी। कंपनी ने गुजरात के हलोल स्थित अपने संयंत्र को एमजी मोटर को बेच दिया।

यह भी पढ़ें: Jio-BP ने इलेक्ट्रिक वाहनों से जुड़ी सबसे बड़ी चिंता का किया समाधान, लंबी दूरी तक का सफर होगा आसान 

यह भी पढ़ें:  LML करेगी बाजार में वापसी, लॉन्‍च होगा बिना पेट्रोल से चलने वाला स्‍कूटर

यह भी पढ़ें:  टीवी क्‍वीन एकता कपूर को लगा बड़ा झटका...

यह भी पढ़ें: अनिल अंबानी के लिए आई बड़ी खुशखबरी, सरकारी कंपनी से मिलेगा मोटा पैसा

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार ने किसानों को दी आज बड़ी खुशबबरी...

यह भी पढ़ें: अब पोस्‍ट ऑफ‍िस से मिलेगा सस्‍ता होम लोन, जानिए कैसे

Write a comment
Click Mania
Modi Us Visit 2021