1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 5जी से बेहतर कारोबारी मॉडल मिलेगा, भारतीय बाजार में जल्द आने की उम्मीद: ट्राई सचिव

5जी से बेहतर कारोबारी मॉडल मिलेगा, भारतीय बाजार में जल्द आने की उम्मीद: ट्राई सचिव

ट्राई ने पहले ही 3,300-3,600 मेगाहर्ट्ज बैंड में स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए अपनी सिफारिश की है, जो दूरसंचार विभाग के तहत विचाराधीन है और उम्मीद है कि नीलामी जल्द ही आयोजित की जाएगी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: December 10, 2020 22:14 IST
भारत में जल्द आएगी...- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

भारत में जल्द आएगी 5जी 

नई दिल्ली। दूरसंचार नियामक ट्राई के सचिव ने गुरुवार को कहा कि पांचवीं पीढ़ी की प्रौद्योगिकी व्यवहार्य और किफायती कारोबारी मॉडल की पेशकश करती है और भारत के लिए यह खासतौर से उपयोगी है, साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि 5जी सेवाओं को बहुत जल्द भारतीय बाजार में पेश किया जाएगा। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के सचिव एस के गुप्ता ने स्पेक्ट्रम मूल्य निर्धारण के मुद्दे पर कहा कि नियामक ने यह सुनिश्चित करने के लिए हर कोशिश की है कि रेडियोवेव की कीमत वाजिब और बाजार के अनुकूल रहे। गौरतलब है कि भारतीय कंपनियों ने स्पेक्ट्रम को महंगा बताया है। गुप्ता ने इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) 2020 में कहा कि ट्राई ने पहले ही 3,300-3,600 मेगाहर्ट्ज बैंड में स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए अपनी सिफारिश की है, जो दूरसंचार विभाग के तहत विचाराधीन है और उम्मीद है कि नीलामी जल्द ही आयोजित की जाएगी। उन्होंने कहा कि 5जी सेवाओं को लागू करने के लिए मिलीमीटर वेव बैंड में स्पेक्ट्रम की पहचान करना महत्वपूर्ण है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस संबंध में ट्राई को दूरसंचार विभाग से जल्द ही टिप्पणी मिलने की उम्मीद है। गुप्ता ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि 5जी से आमूलचूल बदलाव होगा, जो भारत के लिए खासतौर से उपयोगी है और व्यवहार्य तथा किफायती कारोबारी मॉडल मुहैया कराता है। मैं बहुत आशावादी हूं और उम्मीद है कि 5जी को बहुत जल्द भारतीय बाजार में पेश किया जाएगा।’’ उन्होंने कहा कि ई और वी बैंड में स्पेक्ट्रम के आवंटन से सस्ती कीमतों पर तेजी के साथ 5जी सेवाओं को लागू करने में मदद मिलेगी।

मंगलवार को ही रिलायंस जियो ने कहा कि वो 5जी मोबाइल सेवा अगले वर्ष के मध्य तक शुरू करने की तैयारी में है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी ने इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) के पहले दिन एक सत्र में वीडियो कांफ्रेंस के जरिये कहा कि 5जी सेवाओं में शीघ्रता और इसको सब जगह सुलभ बनाने के लिए कुछ नीतिगत उपाय किए जाने की आवश्यकता है। अंबानी ने कहा, ‘मूझे पक्का विश्वास है कि जियो भारत में सबसे पहले 5जी की सेवाएं 2021 के मध्य तक करेगी। उसकी यह सेवा देश में ही विकसित नेटवर्क, कलपुर्जों और प्रौद्योगिकी पर आधारित होगी।’’ उन्होंने कहा कि यह सेवा आत्मनिर्भर भारत के सपने से प्रेरित एक योजना की सफलता का प्रमाण होगी।

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X