1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. लगातार छठवें महीने घटा देश का निर्यात, जनवरी में 1.66 प्रतिशत घटकर रहा 25.97 अरब डॉलर

लगातार छठवें महीने घटा देश का निर्यात, जनवरी में 1.66 प्रतिशत घटकर रहा 25.97 अरब डॉलर

चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-जनवरी 2019-20 के दस माह के दौरान निर्यात एक साल पहले की इसी अवधि की तुलना में 1.93 प्रतिशत गिरकर 265.26 अरब डॉलर रहा।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: February 14, 2020 19:25 IST
Exports dip 1.66pc in Jan- India TV Paisa

Exports dip 1.66pc in Jan

नई दिल्ली। वाणिज्य मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक देश के निर्यात में लगातार छठे महीने गिरावट का रुख जारी रहा और यह जनवरी 2020 के दौरान निर्यात सालाना आधार पर 1.66 प्रतिशत घटकर 25.97 अरब डॉलर रहा। इस दौरान आयात में भी 0.75 प्रतिशत की गिरावट आई और यह 41.14 अरब डॉलर के बराबर रहा।

इस तरह जनवरी माह में व्यापार घाटा (निर्यात से अधिक आयात) 15.17 अरब डॉलर रहा। जनवरी 2019 में व्यापार घाटा 15.05 अरब डॉलर था। आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-जनवरी 2019-20 के दस माह के दौरान निर्यात एक साल पहले की इसी अवधि की तुलना में 1.93 प्रतिशत गिरकर 265.26 अरब डॉलर रहा। इस दौरान आयात में 8.12 प्रतिशत गिरावट रही और यह 398.53 अरब डॉलर रहा। इस 10 माह की अवधि में व्यापार घाटा 133.27 अरब डॉलर रहा। 

अगले वित्त वर्ष में भारत का दलहन आयात 60 प्रतिशत घट सकता है

उद्योग संगठन आईपीजीए ने शुक्रवार को कहा कि दलहन के आयात पर मौजूदा रोक जारी रही तो भारत का दलहन आयात वर्ष 2020-21 में 60 प्रतिशत घटकर 10 टन रह सकता है। इस गिरावट में घरेलू फसल के बेहतर रहने की संभावना और भारी मात्रा में उपलब्ध बफर स्टॉक का भी योगदान होगा।

भारतीय दलहन एवं अनाज संघ (आईजीपीए) के अध्यक्ष जीतू भेड़ा ने बताया कि अगले साल भी आयात कम होगा क्योंकि हो सकता है आगे व्यापारी आयात कोटा आदेश में खामियों का फायदा उठा कर आयात करने में सफल न हों क्योंकि सरकार इस कमजोरी को दूर कर रही है। आयात कोटा आदेश को कड़ा करने के लिए विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) जयपुर उच्च न्यायालय में मुकदमा लड़ रहा है। भेडा ने दलहन सम्मेलन 2020 के मौके पर कहा कि चालू वर्ष में कुल दलहन आयात 25 लाख टन होने की उम्मीद है, जिसमें से लगभग 15 लाख टन का आयात किया जा चुका है। 

Write a comment
X