1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. जानिए Yes Bank का क्या है DHFL कनेक्शन! SBI 2,450 करोड़ रुपए में खरीदेगा येस बैंक के 245 करोड़ शेयर

जानिए Yes Bank का क्या है DHFL कनेक्शन! SBI 2,450 करोड़ रुपए में खरीदेगा येस बैंक के 245 करोड़ शेयर

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) 2,450 करोड़ रुपए में येस बैंक के 10 रुपए अंकित मूल्य वाले 245 करोड़ शेयर खरीदेगा। बैंक ने शनिवार को कहा कि येस बैंक के पुनर्गठन के लिए जारी किए जाने वाले इन शेयरों की नए बैंक में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी।

India TV Business Desk India TV Business Desk
Updated on: March 08, 2020 10:38 IST
yes bank, Rana Kapoor, DHFL, SBI- India TV Paisa

Yes Bank crisis latest update

नयी दिल्ली। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) 2,450 करोड़ रुपए में येस बैंक के 10 रुपए अंकित मूल्य वाले 245 करोड़ शेयर खरीदेगा। बैंक ने शनिवार को कहा कि येस बैंक के पुनर्गठन के लिए जारी किए जाने वाले इन शेयरों की नए बैंक में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी। एसबीआई ने एक बयान में कहा कि पूंजी लगाने के तीन साल तक बैंक अपनी हिस्सेदारी को 26 प्रतिशत से कम नहीं कर सकता है। 

बयान में आगे कहा गया कि यस बैंक के नये निदेशक मंडल में मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) और प्रबंध निदेशक, गैर-कार्यकारी अध्यक्ष और गैर-कार्यकारी निदेशक का पद होगा। एसबीआई ने कहा, 'पुनर्गठित बैंक के कर्मचारी कम से कम एक साल की अवधि तक पहले से मिल रहे वेतन और समान नियम-शर्तों पर काम करते रहेंगे।' 

येस बैंक घटनाक्रम में अब तक क्या-क्या हुआ

नगदी संकट से जूझ रहे येस बैंक को लेकर आरबीआई ने कई तरह की पाबंदियां लगा दी हैं। साथ ही इसके लिए एक प्रशासक भी नियुक्त किया है। पूर्व एसबीआई सीएफओ प्रशांत कुमार को यस बैंक का प्रशासक नियुक्त किया गया है।  बैंक के खाताधारकों को एक महीने में केवल 50,000 रुपए निकालने की इजाजत है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने 30 दिनों के लिए यस बैंक बोर्ड को निलंबित कर दिया है। 

लंबी पूछताछ के बाद रविवार की अल सुबह प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में येस बैंक के संस्थापक राणा कपूर को ​उनके मुंबई आवास 'समुद्र महल' से गिरफ्तार कर लिया। राणा कपूर के घर से दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं। राणा कपूर के बयान को प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत एजेंसी ने दर्ज किया है। इसके अलावा कपूर के खिलाफ एक लुक आउट सर्कुलर भी जारी किया गया था, ताकि वह देश से बाहर न भाग सके।

ईडी ने दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन (डीएचएफएल) के खिलाफ अपनी जांच जारी रखने के क्रम में कपूर के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया, जिसमें कथित तौर पर पाया गया कि एक लाख फर्जी कर्जदारों का उपयोग करके 80 शेल कंपनियों को 12,500 करोड़ रुपए दिए गए। इन शेल कंपनियों के साथ लेन-देन की तारीख 2015 तक है। सूत्रों के मुताबिक ईडी की टीम ने राणा कपूर की तीन बेटियों से भी पूछताछ की। राणा कपूर की बेटी Duit Urban Ventures Pvt Limited की निदेशक हैं, जिसे DHFL से 600 करोड़ मिले। अब सवाल ये है कि क्या इस 600 करोड़ के ट्रांसजेक्शन और DHFL के NPA में कोई कनेक्शन तो नहीं है।

भ्रष्टाचार में लिप्त डीएचएफएल ने बैंक द्वारा दिए गए 4,450 करोड़ रुपए के लिए इस कंपनी को पैसे दिए थे, जिसकी जांच की जा रही थी। ईडी अधिकारियों ने कहा कि येस बैंक ने डीएचएफएल को 3,750 करोड़ रुपए का ऋण और डीएचएफएल द्वारा नियंत्रित फर्म आरकेडब्ल्यू डेवलपर्स को 750 करोड़ रुपए का एक और ऋण किया था।

प्रवर्तन निदेशालय के बाद सीबीआई भी येस बैंक मामले की जांच करने जा रही है। इस बाबत सीबीआई के अधिकारी वित्त मंत्रालय, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया और प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों से बात कर रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक सीबीआई इस मामले में प्राथमिक जांच शुरू कर सकती है या फिर अलग से एक एफआईआर दर्ज कर जांच कर सकती है।

अधिकारियों ने बताया कि और जानकारियां हासिल करने के लिए दिल्ली और मुंबई में राणा कपूर की तीन बेटियों के ठिकानों की तलाशी ली गई। राणा कपूर की तीनों बेटियों राखी कपूर टंडन, रोशनी कपूर और राधा कपूर के आवासीय परिसरों में तलाशी ली जा रही है। सूत्र ने कहा कि राणा कपूर की तीनों बेटियों राखी कपूर टंडन, रोशनी कपूर और राधा कपूर के आवासीय परिसरों में तलाशी ली जा रही है, क्योंकि वे घोटाले की कथित लाभार्थी हैं।

Write a comment
X