Hanuman Chalisa: हनुमान चालीसा पढ़कर भी नहीं मिल रहा है मनवांछित फल? कहीं आप भी तो नहीं कर रहे हैं ये गलती

Hanuman Chalisa: हनुमान चालीसा की शक्तियों का वर्णन हमने खूब सुना है, इसे पढ़ने मात्र से सारे कष्ट दूर हो जाते हैं, लेकिन कई बार लोगों को शिकायत होती है कि उन्हें इसका फल नहीं मिल रहा है, आइए जानते हैं कहां गलती करते हैं आप।

Jyoti Jaiswal Written By: Jyoti Jaiswal @@TheJyotiJaiswal
Published on: August 09, 2022 5:00 IST
Hanuman Chalisa- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Hanuman Chalisa

Highlights

  • हनुमान चालीसा पढ़ने से मन शांत होता है
  • हनुमान चालीसा आपका डर दूर करती है
  • हनुमान चालीसा पढ़ने या सुनने से निगेटिविटी दूर होती है

Hanuman Chalisa: हनुमान चालीसा में इतनी शक्ति होती है कि आप पर किसी भी मुसीबत का पहाड़ टूटा हो इसके पढ़ने मात्र से सारे दुख दर्द दूर हो जाते हैं। हनुमान चालीसा में तो इतनी शक्ति होती है कि आप इसे पढ़कर सिद्ध हो सकते हैं, लेकिन इसके पढ़ने का सही तरीका होता है तभी इसका सही फल मिलता है। वरना कई बार लोग परेशान होते हैं कि वो तो नियमित हनुमान चालीसा पढ़ रहे हैं फिर क्यों उन्हें उसका रिजल्ट नहीं मिल रहा है। आप हनुमान जी की शरण में हों और हनुमान जी समस्या का समाधान न दें ये संभव नहीं है, इसलिए कुछ नियमों का पालन करें और फिर देखें हनुमान जी कैसे आपके सारे कष्ट दूर करते हैं।

  1. 'तुलसीदास सदा हरि चेरा' ये पंक्ति पढ़ते वक्त अपना नाम बोलने की जरूरत नहीं है, तुलसीदास जी ने जैसा लिखा है वैसा ही इसका पाठ करें।
  2. हनुमान चालीसा में इतनी शक्ति होती है कि आप इसके 10 हजार पाठ करके सिद्ध हो सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपको अपना भोजन और आचरण पवित्र रखना होगा।
  3. हनुमान चालीसा से सिद्ध होने का विधान तो स्वयं तुलसीदास जी ने बताया है- जो यह पढ़े हनुमान चालीसा होय सिद्धि साखी गौरीसा। हनुमान चालीसा से सिद्धि पाने के लिए आपको किसी बाबा से यंत्र या ताबीज लेने की जरूरत भी नहीं है।
  4. तुलसीदास जी ने चालीसा में लिखा है- जो यह पढ़े हनुमान चालीसा... इसका मतलब ये है कि इसे नर और नारी दोनों पढ़ सकते हैं, जो पढ़ेगा उसे इसका फल मिलेगा ऐसा बिल्कुल नहीं है कि महिलाएं हनुमान चालीसा का पाठ नहीं कर सकती हैं।
  5. साधु संत के तुम रखवारे... इस पंक्ति को याद रखें कि वो हमेशा सभी की रक्षा करने के लिए तत्पर हैं, बस आपको अपना आचरण अच्छा रखना होगा।
  6. जै जै जै हनुमान गोसाईं, कृपा करहु गुरुदेव की नाईं... इस पंक्ति को जब आप पढ़ते हैं तो ये भी याद रखें कि एक सच्चा गुरु वही है जो आपके मनविरूद्ध जाकर भी आपका भला करता है अतः हनुमान जी वही देंगे जो आपके लिए वास्तव में हितकारी है न कि वह जो आप चाहते हैं। कई बार आपको लगता है कि मैंने ये मांगा था भगवान से मगर मुझे मिला नहीं, लेकिन यकीन रखिए जो आपको मिलता है वो वास्तव में आपके लिए बहुत अच्छा है।

Sawan Somwar 2022: सावन का आखिरी सोमवार आज, महादेव को प्रसन्न करने के लिए करें ये खास पूजा

Hanuman Chalisa
Image Source : PIXABAY
Hanuman Chalisa

हनुमान चालीसा पढ़ने के फायदे

  1. आपके शारीरिक कष्ट दूर होते हैं
  2. आपका मन शांत होता है
  3. निगेटिव विचार दूर होते हैं
  4. आपको हर क्षेत्र में सफलता मिलती है
  5. हनुमान चालीसा पढ़ने से आप विनम्र बनते हैं
  6. आपका डर कम होता है, बुरे सपने आने बंद हो जाते हैं
  7. शनि का प्रभाव कम होता है

Chanakya Niti: ऐसे लोगों से दूरी बनाने में है आपकी भलाई, वरना तबाह हो जाएगा जीवन

Hanuman Chalisa
Image Source : PIXABAY
Hanuman Chalisa

हनुमान चालीसा

श्रीगुरु चरन सरोज रज निज मनु मुकुरु सुधारि

बरनऊं रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि
बुद्धिहीन तनु जानिके सुमिरौं पवन कुमार
बल बुद्धि बिद्या देहु मोहिं हरहु कलेस बिकार

जय हनुमान ज्ञान गुन सागर
जय कपीस तिहुं लोक उजागर
रामदूत अतुलित बल धामा
अंजनि पुत्र पवनसुत नामा
महाबीर बिक्रम बजरंगी
कुमति निवार सुमति के संगी
कंचन बरन बिराज सुबेसा
कानन कुंडल कुंचित केसा
हाथ बज्र औ ध्वजा बिराजै
कांधे मूंज जनेऊ साजै
संकर सुवन केसरीनंदन
तेज प्रताप महा जग बन्दन
विद्यावान गुनी अति चातुर
राम काज करिबे को आतुर
प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया
राम लखन सीता मन बसिया
सूक्ष्म रूप धरि सियहिं दिखावा
बिकट रूप धरि लंक जरावा
भीम रूप धरि असुर संहारे
रामचंद्र के काज संवारे
लाय सजीवन लखन जियाये
श्रीरघुबीर हरषि उर लाये
रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई
तुम मम प्रिय भरतहि सम भाई
सहस बदन तुम्हरो जस गावैं
अस कहि श्रीपति कंठ लगावैं
सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा
नारद सारद सहित अहीसा
जम कुबेर दिगपाल जहां ते
कबि कोबिद कहि सके कहां ते
तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा
राम मिलाय राज पद दीन्हा
तुम्हरो मंत्र बिभीषन माना
लंकेस्वर भए सब जग जाना
जुग सहस्र जोजन पर भानू
लील्यो ताहि मधुर फल जानू
प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माहीं
जलधि लांघि गये अचरज नाहीं
दुर्गम काज जगत के जेते
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते
राम दुआरे तुम रखवारे
होत न आज्ञा बिनु पैसारे
सब सुख लहै तुम्हारी सरना
तुम रक्षक काहू को डर ना
आपन तेज सम्हारो आपै
तीनों लोक हांक तें कांपै
भूत पिसाच निकट नहिं आवै
महाबीर जब नाम सुनावै
नासै रोग हरै सब पीरा
जपत निरंतर हनुमत बीरा
संकट तें हनुमान छुड़ावै
मन क्रम बचन ध्यान जो लावै
सब पर राम तपस्वी राजा
तिन के काज सकल तुम साजा
और मनोरथ जो कोई लावै
सोइ अमित जीवन फल पावै
चारों जुग परताप तुम्हारा
है परसिद्ध जगत उजियारा
साधु संत के तुम रखवारे
असुर निकंदन राम दुलारे
अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता
अस बर दीन जानकी माता
राम रसायन तुम्हरे पासा
सदा रहो रघुपति के दासा
तुम्हरे भजन राम को पावै
जनम-जनम के दुख बिसरावै
अन्तकाल रघुबर पुर जाई
जहां जन्म हरि भक्त कहाई
और देवता चित्त न धरई
हनुमत सेइ सर्ब सुख करई
संकट कटै मिटै सब पीरा
जो सुमिरै हनुमत बलबीरा
जै जै जै हनुमान गोसाईं
कृपा करहु गुरुदेव की नाईं
जो सत बार पाठ कर कोई
छूटहि बंदि महा सुख होई
जो यह पढ़ै हनुमान चालीसा
होय सिद्धि साखी गौरीसा
तुलसीदास सदा हरि चेरा
कीजै नाथ हृदय मंह डेरा

पवन तनय संकट हरन मंगल मूरति रूप
राम लखन सीता सहित हृदय बसहु सुर भूप

Vastu Tips: जानिए मंदिर में किस तरह रखनी चाहिए भगवान की मूर्ति, भूलकर भी न करें ये गलती

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं। इंडिया टीवी इस बारे में किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं करता है। इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है।)

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Festivals News in Hindi के लिए क्लिक करें धर्म सेक्‍शन