Tuesday, June 04, 2024
Advertisement

Mangal Gochar 2024: 1 जून को मंगल करेंगे राशि परिवर्तन, जानें इस गोचर का आपकी राशि पर क्या होगा असर?

Mars Transit 2024: जून के पहले दिन मंगल मेष राशि में गोचर करने जा रहे हैं। इस गोचर का सभी 12 राशियों पर अलग-अलग प्रभाव पड़ेगा। तो आइए आचार्य इंदु प्रकाश से जानते हैं कि मंगल गोचर का आपकी राशि पर क्या असर होगा।

Written By : Acharya Indu Prakash Edited By : Vineeta Mandal Updated on: May 21, 2024 8:00 IST
Mangal Gochar 2024- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Mangal Gochar 2024

Mangal Gochar 2024: 1 जून को मंगल का गोचर होने जा रहा है। 1 जून को दोपहर बाद 3 बजकर 38 मिनट पर मंगल मेष राशि में प्रवेश करेंगे और 12 जुलाई की शाम 6 बजकर 59 मिनट तक मेष राशि में ही गोचर करते रहेंगे। इसके बाद मंगल वृष राशि में प्रवेश कर जाएंगे। मंगल के मेष राशि में इस प्रवेश से मेष राशि के साथ ही बाकी ग्यारह राशियों पर क्या प्रभाव होगा। आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए कि मंगल आपकी जन्मपत्रिका में किस स्थान पर गोचर करेंगे साथ ही 12 जुलाई तक मंगल की शुभ स्थिति के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए और अशुभ फलों से बचने के लिए आपको क्या उपाय करने चाहिए

मेष राशि:

मंगल आपके पहले स्थान यानि लग्न स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका में लग्न यानि पहले स्थान का संबंध हमारे शरीर और मुख से है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपको धन लाभ होगा। समाज में आपका मान-सम्मान बढ़ेगा। लेकिन यहां आपको एक बात बता दूं कि जन्मपत्रिका में पहले चौथे सातवें आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल का गोचर जातक को अस्थायी रूप से मांगलिक बना देता है। अतः आपके पहले स्थान पर मंगल का ये गोचर 12 जुलाई तक के लिए आपको अस्थायी रूप से मांगलिक बना देगा और अगर आप विवाहित हैं तो आपको इस बात पर खास ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले चौथे सातवें आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर हां तो अच्छा है वरना आपको सतर्क होकर मंगल के इस गोचर के उपाय जरूर करने चाहिए। आपको मंदिर में मसूर की दाल दान करनी चाहिए।

वृष राशि:

मंगल आपके बारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के बारहवें स्थान का संबंध आपके व्यय और शय्या सुख से है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से 12 जुलाई तक आपकी आर्थिक स्थिति अच्छी रहेगी। जीवन में सुख बना रहेगा। इस दौरान शत्रु आपका कुछ नहीं बिगाड़ पायेंगे। लेकिन यहां आपको ये भी बता दूं कि किसी की जन्मपत्रिका के पहले चौथे सातवें आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल हो तो जातक अस्थायी रूप से मांगलिक कहलाता है। अतः वृष राशि वालों को मंगल का ये गोचर 12 जुलाई तक के लिए अस्थायी रूप से मांगलिक दर्शायेगा। ऐसे में जो लोग विवाहित हैं उन्हें इस बात पर खास ध्यान देना चाहिए कि क्या उनके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले चौथे सातवें आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर ऐसा है तो ठीक है अन्यथा सतर्क होकर आपको मंगल के इस गोचर के उपाय जरूर करना चाहिए। अतः 12 जुलाई तक अस्थायी तौर मांगलिक प्रभाव से बचने के लिए आपको मंदिर या किसी धर्मस्थल पर बताशे दान करने चाहिए। 

मिथुन राशि:

मंगल आपके ग्यारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के ग्यारहवें स्थान का संबंध हमारे आय और इच्छाओं की पूर्ति से होता है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से 12 जुलाई तक आपकी कोई इच्छा पूरी हो सकती है। आपको आमदनी के नये स्रोत भी मिल सकते हैं। आध्यात्मिक कार्यों के प्रति आपकी आस्था बढ़ेगी। अतः 12 जुलाई तक लाभ की स्थिति सुनिश्चित करने के लिए मंदिर में शहद का दान करें और कुत्ते को रोटी खिलाएं।

कर्क राशि:

मंगल आपके दसवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के दसवें स्थान का संबंध हमारे करियर राज्य और पिता से होता है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपको करियर में सफलता पाने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। आपके पिता को भी अपने काम पर थोड़ा ध्यान देने की जरूरत है। इस दौरान आपको अपने घर में सोने के आभूषणों का भी थोड़ा ध्यान रखना चाहिए। लिहाजा मंगल के अशुभ फलों से बचने के लिए 12 जुलाई तक चूल्हे पर दूध उबालते समय इस बात का ध्यान रखें कि दूध उबलकर बर्तन से बाहर न गिरे।

सिंह राशि:

मंगल आपके नवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के नौवें स्थान का संबंध हमारे भाग्य से होता है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपके काम मन मुताबिक पूरे होने में समय लग सकता है। आपका ध्यान धार्मिक चीजों से थोड़ा हट सकता है। इसके अलावा जीवन में सुख-साधन जुटाने के लिए आपको अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। अत: 12 जुलाई तक मंगल के अशुभ फलों से बचने के लिए बड़े भाई या जो आपके लिए बड़े भाई जैसे हैं उनका सम्मान करें और उनके कार्यों में हर संभव मदद करें।

कन्या राशि:

मंगल आपके आठवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के आठवें स्थान का संबंध हमरे आयु से है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। आपको अपनी मेहनत का पूरा लाभ मिलेगा। लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जन्मपत्रिका में पहले चौथे सातवें आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल के गोचर से जातक अस्थायी रूप से मांगलिक कहलाता है यानि आपके आठवें स्थान पर मंगल के इस गोचर से आप 12 जुलाई तक अस्थायी रूप से मांगलिक कहलायेंगे। ऐसे में अगर आप विवाहित हैं तो आपको इस बात पर विशेष ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले चौथे सातवें आठवें या बारहवें स्थान पर जा रहा है। अगर हां तो ठीक है अन्यथा मंगल के इस गोचर के उपाय आपको जरूर करने चाहिए। अतः 12 जुलाई तक मंगल के अस्थायी तौर पर मांगलिक प्रभाव से बचने के लिए किसी जरूरतमंद को खाना खिलाएं। 

तुला राशि:

मंगल आपके सातवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के सातवें स्थान का संबंध हमारे जीवनसाथी से है। आपको बता दूं कि जन्मपत्रिका में पहले चौथे सातवें आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल के गोचर से जातक अस्थायी रूप से मांगलिक कहलाता है यानि आपके सातवें स्थान पर मंगल के इस गोचर से आप 12 जुलाई तक के लिए अस्थायी तौर पर मांगलिक कहलाएंगे। ऐसे में अगर आप विवाहित हैं तो आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि क्या आपके जीवनसाथी की जन्मपत्रिका में भी मंगल पहले चौथे सातवें आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर हां तो ठीक है अन्यथा मंगल के इस गोचर के उपाय आपको जरूर करने चाहिए। अतः 12 जुलाई तक मंगल के अशुभ फलों से बचने के लिए आपको अपनी बुआ या बहन को कुछ मीठा देना चाहिए और उनका आशीर्वाद लेना चाहिए। 

वृश्चिक राशि:

मंगल आपके छठे स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के छठे स्थान का संबंध हमारे मित्र शत्रु और स्वास्थ्य से है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपको मित्रों का पूरा सहयोग मिलेगा। शत्रु पक्ष आपसे दूरी बनाकर रहेगा। आपको व्यापार से लाभ मिलेगा। संतान पक्ष से सहयोग मिलता रहेगा। अतः 12 जुलाई तक मंगल के शुभ फल बनाये रखने के लिए आपको किसी कन्या को कुछ गिफ्ट देना चाहिए। अगर आपकी खुद की कोई कन्या है तो आप उसे भी कुछ गिफ्ट कर सकते हैं। 

धनु राशि:

मंगल आपके पांचवें स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के पांचवे स्थान का संबंध हमारे संतान बुद्धि विवेक और रोमांस से है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आप विद्या के क्षेत्र में आगे रहेंगे। किसी भी तरह की परीक्षाओं में आपको सफलता जरूर मिलेगी। आपके ऊपर गुरु का हाथ बना रहेगा। आपका विवेक बना रहेगा। साथ ही लवमेट के साथ आपके रिश्ते अच्छे रहेंगे। लिहाजा 12 जुलाई तक मंगल के शुभ फल बनाये रखने के लिए आपको रात को सोते समय अपने सिरहाने पर पानी रखकर सोना चाहिए और अगले दिन उस पानी को किसी पेड़-पौधे की जड़ में डाल देना चाहिए। 

मकर राशि:

मंगल आपके चौथे स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के चौथे स्थान का संबंध हमारे भवन भूमि वाहन और माता से है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपको अपने काम में माता से मदद मिलेगी। इसके अलावा आपको यहां एक जरूरी बात और बता दूं कि जन्मपत्रिका में पहले चौथे सातवें आठवें या बारहवें स्थान पर मंगल का गोचर जातक को अस्थायी रूप से मांगलिक बनाता है। अतः आपके चौथे स्थान पर मंगल का ये गोचर आपको 12 जुलाई तक के लिए अस्थायी रूप से मांगलिक का प्रभाव देगा। ऐसे में अगर आप शादी-शुदा हैं तो आपको इस बात पर ध्यान देने की जरूरत है कि क्या आपके जीवनसाथी की कुंडली में भी मंगल पहले चौथे सातवें आठवें या बारहवें जा रहा है। अगर हां तो ठीक है अन्यथा सतर्क होकर आपको मंगल के इस गोचर के उपाय जरूर करने चाहिए। लिहाजा मंगल के अशुभ फलों से बचने के लिए आपको बरगद के पेड़ में दूध डालना चाहिए और दूध चढ़ाने के बाद जो मिट्टी गिली हो उससे मस्तक पर तिलक लगाना चाहिए।

कुंभ राशि:

मंगल आपके तीसरे स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के तीसरे स्थान का संबंध हमारे पराक्रम भाई-बहन और यश से है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपको भाई-बहनों का पूरा साथ मिलेगा। वे आपके कार्यों में आपकी मदद करेंगे। साथ ही आपकी बातों से दूसरे लोग प्रभावित होंगे। आपका स्वास्थ्य भी अच्छा बना रहेगा। लिहाजा मंगल के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए आपको अपने बड़े भाई को कुछ गिफ्ट करना चाहिए।

मीन राशि:

मंगल आपके दूसरे स्थान पर गोचर करेंगे। जन्मपत्रिका के दूसरे स्थान का संबंध हमारे धन और स्वभाव से है। मंगल के इस गोचर के प्रभाव से आपको अपनी मेहनत के बल पर आर्थिक लाभ जरूर मिलेगा।ससुराल पक्ष के साथ रिश्ते अच्छे रहेंगे। परिवार के सदस्यों के साथ आपका अच्छा तालमेल रहेगा। लिहाजा मंगल के शुभ फल पाने के लिए आपको धार्मिक कार्यों में अपना सहयोग देते रहना चाहिए।

(आचार्य इंदु प्रकाश देश के जाने-माने ज्योतिषी हैं, जिन्हें वास्तु, सामुद्रिक शास्त्र और ज्योतिष शास्त्र का लंबा अनुभव है। इंडिया टीवी पर आप इन्हें हर सुबह 7.30 बजे भविष्यवाणी में देखते हैं।)

ये भी पढ़ें-

Vat Savitri Vrat 2024: वट सावित्री व्रत कब है? जानिए सही डेट, पूजा मुहूर्त और महत्व

क्या होता है मंगल दोष? वैवाहिक जीवन पर क्या होता है इसका असर, जानें इसे दूर करने के उपाय

 

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें धर्म सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement