Wednesday, February 28, 2024
Advertisement

तेलंगाना विधानसभा चुनाव: 'BJP-BRS या Congress', तीनों में से किसे चुनेगी जनता-वोटिंग आज

तेलंगाना में आज यानी 30 नवंबर, गुरुवार को मतदान होने वाला है। यहां मुख्य मुकाबला-बीजेपी-कांग्रेस और बीआरएस के बीच है। 119 विधानसभा सीटों के लिए प्रदेश के 3.17 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

Kajal Kumari Edited By: Kajal Kumari @lallkajal
Updated on: November 30, 2023 6:20 IST
telangana election voting today- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO तेलंगाना में आज है वोटिंग

हैदराबाद: तेलंगाना में विधानसभा चुनाव गुरुवार को होने वाले हैं और यहां मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ भारत राष्ट्र समिति (BRS), भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस के बीच है। राज्य के सभी 119 निर्वाचन क्षेत्रों में सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मतदान होगा, जबकि वोटों की गिनती 3 दिसंबर को होगी। 119 सीटों वाली राज्य विधानसभा के लिए विधायकों का चुनाव करने के लिए 3.17 करोड़ मतदाता गुरुवार यानी 30 नवंबर को अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। बता दें कि राष्ट्रीय और क्षेत्रीय दलों सहित 109 दलों के कुल 2,290 उम्मीदवार मैदान में हैं। प्रतियोगियों में 221 महिलाएं और एक ट्रांसजेंडर शामिल हैं।

इस बार कुल 103 विधायक फिर से चुनाव लड़ रहे हैं, जिनमें से अधिकांश सत्तारूढ़ बीआरएस से हैं। सुर्खियों में रहने वाले कुछ निर्वाचन क्षेत्रों में गजवेल, हुजूराबाद, कोरुटला, महेश्वरम, गोशामहल, महबूबनगर, एलबी नगर, वारंगल पूर्व और पश्चिम, भूपालपल्ली, खैरताबाद, अंबरपेट, बोथ, निर्मल, आदिलाबाद, रामागुंडम, पेद्दापल्ली, कोठागुडेम, आर्मूर, निज़ामाबाद शहरी , पाटनचेरु, सेरिलिंगमपल्ली, हुस्नाबाद, दुब्बाक, कलवाकुर्थी और अन्य सीटें शामिल हैं। ।

केसीआर के नाम से मशहूर के चन्द्रशेखर राव दो सीटों,अपनी मूल सीट गजवेल और कामारेड्डी से चुनाव लड़ रहे हैं। जहां गजेवाल में उनका मुकाबला भाजपा नेता ईटेला राजेंदर से है, वहीं कांग्रेस की राज्य इकाई के प्रमुख रेवंत रेड्डी कामारेड्डी में उनका मुकाबला कर रहे हैं। केसीआर से मुकाबला करने के अलावा, ईटेला और रेवंत रेड्डी दोनों दो सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं, जिसमें भाजपा नेता हुजूराबाद से और कांग्रेस के सबसे अच्छे दावेदार रेड्डी कोडंगल से चुनाव लड़ रहे हैं।

इन सीटों पर दिलचस्प रहेगा मुकाबला

सबसे ज्यादा चर्चा में रहने वाली सीटों में कोरुतला सीट है, जहां से बीजेपी ने लोकसभा सदस्य अरविंद धर्मपुरी को बीआरएस के कल्वाकुंतला संजय और कांग्रेस के नरसिंगा राव जुव्वाडी के खिलाफ मैदान में उतारा है। इसके अलावा, महेश्वरम से, बीआरएस ने पटलोला सबिता इंद्रा रेड्डी को के लक्ष्मा रेड्डी (कांग्रेस) और एंडेला श्रीरामुलु यादव (भाजपा) के खिलाफ खड़ा किया है।

गोशामहल से, भारतीय जनता पार्टी ने अपने हिंदुत्व के फायरब्रांड नेता टी राजा सिंह को मैदान में उतारा है, जिनका निलंबन पिछले महीने पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ उनकी टिप्पणी से पैदा हुए विवाद के बाद पार्टी द्वारा जारी कारण बताओ नोटिस के जवाब के बाद रद्द कर दिया गया था। 2018 में, टी राजा को कुल मतदान का 45.18 प्रतिशत वोट मिले।

महबूबनगर से वी श्रीनिवास गौड़ (बीआरएस) को भाजपा के एपी मिथुन कुमार रेड्डी और कांग्रेस के येन्नम श्रीनिवास रेड्डी के खिलाफ मैदान में उतारा गया है। एलबी नगर में भाजपा के सामा रंगा रेड्डी का मुकाबला कांग्रेस के मधु यास्खी गौड़ और देवीरेड्डी सुधीर रेड्डी (बीआरएस) से होगा। एक अन्य प्रमुख निर्वाचन क्षेत्र भूपलपल्ली होगा, जहां से बीआरएस ने गांद्रा वेंकट रमण रेड्डी को मैदान में उतारा है, जबकि कांग्रेस और भाजपा ने क्रमशः गांद्रा सत्यनारायण राव और जी कीर्ति रेड्डी को मैदान में उतारा है।

इस बार त्रिकोणीय है मुकाबला

रामागुंडम में बीआरएस के कोरुकांति चंदर पटेल का मुकाबला कांग्रेस के मक्कन सिंह राज ठाकुर और भाजपा की कंडुला संध्या रानी से होगा। सूची में शामिल एक अन्य प्रमुख विधानसभा क्षेत्र पेद्दापल्ली है, जहां से कांग्रेस ने भाजपा के प्रदीप कुमार दुग्याला और बीआरएस के दसारी मनोहर रेड्डी के खिलाफ चिंताकुंटा विजया रमण राव को मैदान में उतारा है।

कांग्रेस नेता मल्लू भट्टी विक्रमार्क, जो दक्षिणी राज्य में सबसे पुरानी पार्टी के सत्ता में आने पर मुख्यमंत्री पद की उम्मीद कर रहे हैं, और बीआरएस के कमल राजू लिंगला मधिरा विधानसभा क्षेत्र में कड़ी टक्कर देंगे। पिछले चुनाव में मल्लू भट्टी ने कमल राजू को मामूली अंतर से हराया था। इसके अलावा, निज़ामाबाद शहरी निर्वाचन क्षेत्र से, बीआरएस ने भूपति रेड्डी रेकुलपल्ली (कांग्रेस) और भाजपा के दिनेश कुमार कुलाचारी के खिलाफ गोवर्धन बाजीरेड्डी को मैदान में उतारा है।

यदि केसीआर कार्यालय में एक और कार्यकाल जीतते हैं, तो यह पहला अवसर होगा जब किसी दक्षिणी राज्य के मुख्यमंत्री को कार्यालय में लगातार तीसरा कार्यकाल मिलेगा। 2018 में, बीआरएस (तब तेलंगाना राष्ट्र समिति) ने 119 में से 88 सीटें जीतीं और उसका वोट शेयर 47.4 प्रतिशत था। कांग्रेस केवल 19 सीटों के साथ दूसरे स्थान पर रही।

(इनपुट-एएनआई)

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें तेलंगाना सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement