Saturday, May 25, 2024
Advertisement

'सत्ता में आए तो पश्चिमी यूपी को अलग राज्य बनाएंगे', बसपा प्रमुख मायावती का बड़ा बयान

मेरठ में बसपा के उम्मीदवार देवव्रत कुमार त्यागी के समर्थन में रैली करते हुए मायावती ने जोर देकर कहा कि केंद्र में हमारी पार्टी सत्ता में आयी तो पश्चिमी उप्र को अलग राज्य बनाया जाएगा। साल 2011 में यूपी से अलग तीन राज्य बनाने का प्रस्ताव भी पास किया गया था।

Edited By: Subhash Kumar @ImSubhashojha
Updated on: April 23, 2024 20:37 IST
बसपा प्रमुख मायावती।- India TV Hindi
Image Source : PTI बसपा प्रमुख मायावती।

लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती भी अपने प्रत्याशियों के समर्थन में एक के बाद एक रैली कर रही हैं। अब उन्होंने मेरठ में पार्टी उम्मीदवार देवव्रत कुमार त्यागी के समर्थन में जनसभा को संबोधित किया है। इस सीट पर 26 अप्रैल को दूसरे चरण में चुनाव होंगे। जनसभा में मायावती ने दावा किया कि अगर उनकी पार्टी केंद्र की सत्ता में आयी तो पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश को अलग राज्‍य बनाया जाएगा। आइए जानते हैं कि मायावती ने और क्या-क्या कहा है।

आरक्षण को लेकर सपा पर हमला

लोहिया नगर क्षेत्र के अलीपुर मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए मायावती ने समाजवादी पार्टी पर भी बड़ा हमला बोला। मायावती ने आरोप लगाते हुए कहा कि सपा नहीं चाहती कि अनुसूचित जाती (एससी)- अनुसूचित जनजाति (एसटी) वर्ग के लोगों को आरक्षण का लाभ मिले। मायावती ने कहा कि सरकारी नौकरियों में दलितों, आदिवासियों को दिया जाने वाला आरक्षण वर्षों से अभी तक पूरा नहीं हुआ।। उन्होंने भाजपा और कांग्रेस को भी कटघरे में खड़ा किया।

मायावती ने अपनी जनसभा में प्रोमोशन में आरक्षण का भी मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि सपा ने अपनी सरकार में एससी-एसटी वर्ग के सरकारी कर्मचारियों को प्रोमोशन में आरक्षण खत्म कर दिया था। उन्होंने याद दिलाया कि बसपा जब पदोन्नति में आरक्षण को प्रभावी बनाने के लिए राज्यसभा में संशोधन विधेयक लेकर आई तो सपा सांसदों ने इस बिल को फाड़ दिया था। मायावती ने लोगों से पूछा कि ऐसी समाजवादी पार्टी दलितों शोषितों का क्या भला कर सकती है?

पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश को अलग राज्‍य बनाएंगे- मायावती

मेरठ की रैली में मायावती ने यूपी के पश्चिमी क्षेत्र को मिलाकर अलग से राज्‍य बनाने का भी वादा किया। उन्होंने लोगों को याद दिलाया कि बसपा ने अपनी सरकार में यूपी से अलग तीन राज्य बनाने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा था लेकिन इसे अमल में नहीं लाया गया। आपको बता दें कि साल 2011 में यूपी में बसपा की सरकार थी और मायावती राज्य की सीएम थीं। उन्होंने उत्तर प्रदेश को विभाजित कर के पूर्वांचल, पश्चिमी उप्र और बुंदेलखंड को अलग राज्‍य बनाने का प्रस्ताव पारित किया था। (इनपुट: भाषा)

ये भी पढ़ें- यूपी: मेरठ में जिधर देखो उधर लोग ही लोग, बीजेपी प्रत्याशी अरुण गोविल के समर्थन में CM योगी ने किया रोड शो, देखें VIDEO

यूपी: मुख्तार अंसारी की विसरा रिपोर्ट पर बड़े भाई अफजाल अंसारी ने उठाए सवाल, कही ये बड़ी बात

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें उत्तर प्रदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement