Thursday, April 18, 2024
Advertisement

रूस यूक्रेन जंग के दो साल पूरे, भड़के बाइडेन, Russia पर लगाए 500 से ज्यादा प्रतिबंध

रूस और यूक्रेन की जंग को आज 24 फरवरी को दो साल पूरे हो गए। इस दौरान जंग में कई उतार चढ़ाव आए। जहां रूस ने पहले साल आक्रामकता के साथ यूक्रेन के शहरों को ध्वस्त किया। वहीं दूसरे साल में यूक्रेन को पश्चिमी देशों का साथ मिल गया। सैन्य और आर्थिक मदद मिलने पर यूक्रेन ने जोरदार पलटवार किया।

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Updated on: February 24, 2024 16:56 IST
रूस यूक्रेन जंग के दो साल पूरे- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV रूस यूक्रेन जंग के दो साल पूरे

Two Years of Russia Ukraine War: रूस और यूक्रेन में जंग के दो साल 24 फरवरी को पूरे हो गए। आज के दिन 24 फरवरी 2022 को यूक्रेन में अपना विशेष सैन्य अभियान शुरू किया था। इसकी दूसरी बरसी की पूर्व संध्या पर अमेरिका ने रूस के खिलाफ 500 से अधिक नए प्रतिबंधों की घोषणा की है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने एक बयान में कहा कि रुस के आर्कटिक क्षेत्र में विपक्षी नेता एलेक्सी नवलनी की मौत की वजह से भी नए  प्रतिबंध लगाए गए हैं।

वाशिंगटन ने दावा किया कि नवलनी की मौत के लिए रूसी सरकार जिम्मेदार है। बाइडेन ने कहा, ये प्रतिबंध नवलनी के कारावास से जुड़े व्यक्तियों के साथ-साथ रूस के वित्तीय क्षेत्र, रक्षा औद्योगिक आधार, खरीद नेटवर्क और कई महाद्वीपों में प्रतिबंधों का उल्लंघन करने वालों को लक्षित करेंगे। नए प्रतिबंधों के जरिए रूस की भुगतान प्रणाली, वित्तीय संस्थानों और उसके सैन्य औद्योगिक आधार, भविष्य के ऊर्जा उत्पादन और अन्य क्षेत्रों को निशाना बनाया गया है। इससे वैश्विक आर्थिक संकट का खतरा पैदा हो गया है। 

200 पन्नों की जारी की है लिस्ट

अमेरिका ने प्रतिबंधों के लिए 200 पन्नों की लिस्ट जारी की है। गौर करने वाली बात यह है कि इस लिस्ट से कंपनियां और मेटल सेक्टर, ज्यादा एनर्जी रिलेटेड पनिशमेंट और बैंकों रिलेटेड सेक्टर्स ने नाम गायब हैं। रूस की RIA समाचार एजेंसी ने अमेरिका में रूसी राजदूत अनातोली एंटोनोव के हवाले से कहा कि नए प्रतिबंध रूस के मूल हितों पर हमला हैं लेकिन मॉस्को उनकी रक्षा करता रहेगा।

300 लोगों और संस्थाओं पर बैन की कार्रवाई

शुक्रवार को ईयू, ब्रिटेन और कनाडा ने भी रूस के खिलाफ इसी तरह की कार्रवाई की है। अमेरिकी ट्रेजरी विभाग ने शुक्रवार को लगभग 300 लोगों और संस्थाओं को बैन करने की कार्रवाई की, जबकि स्टेट डिपार्टमेंट ने 250 से अधिक लोगों और संस्थाओं को बैन किया और वाणिज्य विभाग ने 90 से अधिक कंपनियों को इस लिस्ट में जोड़ा।

कई संस्थाओं पर पहले भी लगाया जा चुका है प्रतिबंध

अमेरिकी की तरफ से  शुक्रवार जारी की गई लिस्ट में उन लोगों और संस्थाओं के भी नाम शामिल हैं, जिन पर पहले भी प्रतिबंध लगाया गया था। इस लिस्ट में उस जेल के वॉर्डन का भी नाम शामिल है, जहां विपक्षी नेता एलेक्सी नवलनी की मौत हुई थी। इसके साथ ही  फेडरल पेनिटेंटरी सर्विस के डिप्टी डायरेक्टर को भी लिस्ट में जोड़ा गया है। 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement