America News: भारत-अमेरिका का संबंध विश्व की शांति और स्थिरता के लिए जरूरी: अमेरिका

America News: अमेरिका की शीर्ष अधिकारी ने कहा, ‘‘वस्तु एवं सेवाओं में हमारा द्विपक्षीय व्यापार तेजी से बढ़ रहा है और 2021 में यह 160 अरब डॉलर तक पहुंच गया है। साथ ही मुश्किल मुद्दों पर काम करने की हमारी क्षमता पहले के मुकाबले कहीं अधिक बेहतर है।’’

Shashi Rai Edited By: Shashi Rai @km_shashi
Updated on: August 16, 2022 10:04 IST
Representative image- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Representative image

Highlights

  • भारत-अमेरिका रिश्ते को लेकर क्या सोचते हैं बाइडन?
  • अमेरिका की शीर्ष अधिकारी 'कैथरीन ताइ' ने दिया बड़ा बयान
  • बाइडन का मानना है भारत-अमेरिका का संबंध विश्व की शांति और स्थिरता के लिए जरूरी: ताइ

America News: अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन का मानना है कि भारत-अमेरिका संबंध, वैश्विक शांति, स्थिरता और आर्थिक लचीलेपन के लिए जरूरी है। अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि (यूएसटीआर) कैथरीन ताइ ने सोमवार को भारत के स्वतंत्रता दिवस पर इंडिया हाउस में अमेरिका में भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘राष्ट्रपति बाइडन का मानना है कि हमारे दो महान लोकतंत्रों के बीच संबंध वैश्विक शांति, स्थिरता और आर्थिक लचीलेपन के लिए आवश्यक है।’’पिछले साल भारत की यात्रा करने वाली ताइ ने कहा कि उन्होंने उस यात्रा के दौरान देश की जीवंत संस्कृति का वास्तविक रूप देखा था। ताइ ने कहा मुश्किल मुद्दों पर काम करने के लिए दोनों देश अब बेहतर स्थिति में हैं। 

भारतीय आतिथ्य सत्कार का मुकाबला करना मुश्किल: अमेरिका 

उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि, मैं हमेशा दुनियाभर में हमारे महत्वपूर्ण व्यापार साझेदारों के बीच तुलना करने से बचती हूं लेकिन मैं यह मानूंगी कि भारतीय आतिथ्य सत्कार का मुकाबला करना मुश्किल है।’’ उन्होंने कहा, ''भारत और अमेरिका अपने मतभेदों के बावजूद 21वीं सदी में आगे बढ़ते हुए एक जैसी चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। हमारे नेता एक साथ मिलकर उन चुनौतियों से निपटने के लिए स्पष्ट रूप से पहले से ज्यादा प्रतिबद्ध हैं और मुझे इसका हिस्सा बनकर खुशी है।’’ अमेरिका की शीर्ष अधिकारी ने कहा, ‘‘वस्तु एवं सेवाओं में हमारा द्विपक्षीय व्यापार तेजी से बढ़ रहा है और 2021 में यह 160 अरब डॉलर तक पहुंच गया है। साथ ही मुश्किल मुद्दों पर काम करने की हमारी क्षमता पहले के मुकाबले कहीं अधिक बेहतर है।’’ 

इस मौके पर उनके साथ बाइडन प्रशासन के कई वरिष्ठ सदस्य भी शामिल हुए। इसके अलावा अंतरिक्ष यात्री और नासा की उप-प्रशासक, नोबेल पुरस्कार से सम्मानित डॉ. विलियम डी फिलिप्स तथा राज सुब्रह्मण्यम और पुनीत रंजन समेत अमेरिका-भारत सीईओ मंच के कई सदस्य भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए। 

मिलकर करेंगे चुनौतियों का सामना: बाइडन

बता दें, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने भारत के 76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर बधाई देते हुए कहा कि भारतीय-अमेरिकी समुदाय ने अमेरिका को एक अधिक समावेशी और मजबूत राष्ट्र बनाया है और आने वाले सालों में वैश्विक चुनौतियों का सामना करने के लिए मिलकर काम करना जारी रखेंगे। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि वह भारत की लोकतांत्रिक यात्रा के सम्मान में उसके लोगों के साथ हैं।

Latest World News

navratri-2022