Mars: मंगल ग्रह पर बने गड्ढे से सामने आया इंसान का कनेक्शन! नासा ने जारी की तस्वीर

Nasa: अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने हाल ही में मंगल की सतह की कई अनोखी तस्वीरें जारी की हैं। इसमें इस मंगल ग्रह पर बने गड्ढे की तस्वीर लोगों का ध्यान खींचा है. दरअसल, यह क्रेटर देखने में इंसान के कान जैसा है।

Ravi Prashant Edited By: Ravi Prashant @iamraviprashant
Updated on: August 11, 2022 18:35 IST
Mars- India TV Hindi News
Image Source : TWITTER mars

Highlights

  • यह क्रेटर करीब 1,800 मीटर लंबा है
  • आकृति मंगल की सतह पर उस अज्ञात पिंड के टकराने से बनी होगी
  • इंसानी चेहरे का भ्रम होता है

Nasa: अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने हाल ही में मंगल की सतह की कई अनोखी तस्वीरें जारी की हैं। इसमें इस मंगल ग्रह पर बने गड्ढे की तस्वीर लोगों का ध्यान खींचा है. दरअसल, यह क्रेटर देखने में इंसान के कान जैसा है। ऐसे में सोशल मीडिया पर इस तस्वीर को लेकर कई तरह की चर्चाएं हो रही हैं। कई यूजर्स का मानना ​​है कि इसे एलियंस ने बनाया है, जबकि कई लोगों का कहना है कि यह एक प्राकृतिक बनावट है। यह तस्वीर नासा के हाई-टेक मार्स रिकोनिसेंस ऑर्बिटर से ली गई है। यह ऑर्बिटर 2006 से मंगल की परिक्रमा कर रहा है। मार्स टोही ऑर्बिटर की छवि के अनुसार मंगल ग्रह की सतह पर दिखाई देने वाला यह क्रेटर करीब 1,800 मीटर लंबा है। यह क्रेटर मंगल के उत्तरी गोलार्ध में क्रिस प्लैनिटिया में स्थित है। इसे इम्पैक्ट क्रेटर बताया जा रहा है। इसका मतलब यह हुआ कि यह गड्ढा किसी ज्वालामुखी से नहीं बल्कि अंतरिक्ष में किसी पिंड के टकराने से बना है। वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि यह आकृति मंगल की सतह पर उस अज्ञात पिंड के टकराने से बनी होगी।

इंसानों की कान की तरह दिखता है ये 

इस तस्वीर को जारी करने वाली नासा टीम के सदस्य ने कहा कि जब आप पहली बार इस आंकड़े को देखते हैं, तो आपको अपने मन को समझाना होता है। यह बिल्कुल मानव कान जैसा दिखता है। नासा के प्रवक्ता ने कहा कि इस आंकड़े को देखकर हमें इंसानी चेहरे का भ्रम होता है. हालांकि, यह आकार एक प्रभाव गड्ढा है। प्रवक्ता ने कहा कि नासा जल्द ही मंगल ग्रह की कुछ और दिलचस्प तस्वीरें जारी करने के लिए तैयार है।

मंगल ग्रह पर पहले भी देखी जा चुकी हैं अजीबोगरीब रचनाएं
कुछ दिन पहले मंगल ग्रह पर एक धागे जैसी चीज देखी गई थी। कुछ लोगों ने इसे घास कहा तो कुछ लोगों ने भी कहा यो चाउमीन जैसा है।  हालांकि बाद में नासा ने बताया था कि जब भी कोई विमान पृथ्वी से मंगल ग्रह पर भेजा जाता है तो पैराशूट के जरिए उतरने के बाद सतह के टकराने से काफी मात्रा में कचरा फैल जाता है। लैंडिंग साइट पर यह चारों ओर गंदा हो जाता है। ऐसे में माना जा रहा है कि मंगल की सतह पर धागे जैसी कोई चीज भी पैराशूट के कचरे का हिस्सा हो सकती है।

Latest World News

navratri-2022