Bihar News: लालू यादव के बयान पर केंद्रीय मंत्री ने बोला हमला, बोले- 'हिम्मत है तो बिहार में RSS को बैन करके दिखाएं'

Bihar News: सिंह ने आगे कहा, "लालू यादव की याददाश्त कमजोर हो गई है, 1990 में जब वे पहली बार मुख्यमंत्री बने थे, तब वे इस आरएसएस और बीजेपी का गुणगान कर रहे थे, आज वोट बैंक की जरूरत है तो पीएफआई की तारीफ कर रहे हैं।"

Shailendra Tiwari Written By: Shailendra Tiwari @@Shailendra_jour
Published on: September 29, 2022 10:16 IST
Union Minister Giriraj singh- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO Union Minister Giriraj singh

Highlights

  • 'क्या लालू यादव कह सकते हैं कि वह पीएफआई के सदस्य हैं?'
  • आरजेडी सुप्रीमो ने की थी मांग
  • RSS एक हिंदू कट्टरपंथी संगठन है- लालू

Bihar News: केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने आरएसएस को बैन करने के लालू यादव के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि अगर उनमें हिम्मत है तो बिहार में आरएसएस को बैन करके दिखाएं। सिंह ने लालू यादव पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि लालू यादव पहली बार 1990 में जब बिहार के मुख्यमंत्री बने थे तब वो इसी आरएसएस और बीजेपी का गुणगान किया करते थे, लेकिन आज वोट बैंक के लालच में वो पीएफआई जैसे संगठन की तारीफ कर रहे हैं।

'क्या लालू यादव कह सकते हैं कि वह पीएफआई के सदस्य हैं?'

गिरिराज सिंह ने लालू यादव को चुनौती देते हुए ट्वीट कर कहा, "हमें आरएसएस का स्वयंसेवक होने पर गर्व है, क्या लालू यादव कह सकते हैं कि वह पीएफआई के सदस्य हैं? बिहार में उनकी सरकार है, हिम्मत है तो बिहार में आरएसएस को बैन कर दो।"  लालू यादव को 1990 की याद दिलाते हुए सिंह ने आगे कहा, "लालू यादव की याददाश्त कमजोर हो गई है, 1990 में जब वे पहली बार मुख्यमंत्री बने थे, तब वे इस आरएसएस और बीजेपी का गुणगान कर रहे थे, आज वोट बैंक की जरूरत है तो पीएफआई की तारीफ कर रहे हैं।"

आरजेडी सुप्रीमो ने की थी मांग

केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा बुधवार को पीएफआई पर बैन लगाए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर भी बैन लगाने की मांग की थी। जिस पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने आरजेडी सुप्रीमो को यह चुनौती दी है।

क्या था मामला

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) को बैन कर दिया है। सरकार ने पीएफआई को 5 साल के लिए प्रतिबंधित संगठन घोषित किया है। इसे लेकर कई नेताओं की प्रतिक्रिया आई है। इस बीच, आरजेडी प्रमुख और माकपा महासचिव सीताराम येचुरी का भी बयान आया था। पीएफआई के बैन को लेकर इन्होंने आरएसएस (RSS) पर सवाल उठाए गए थे। 

RSS एक हिंदू कट्टरपंथी संगठन है- लालू

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बुधवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) को एक 'हिंदू कट्टरपंथी संगठन' करार दिया और कहा कि उस पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए। राजद प्रमुख ने कहा, "वे बिना मतलब पीएफआई का भय दिखाते रहे हैं। यह आरएसएस है, जो हिंदू कट्टारपंथ से जुड़ा है और इसे पहले प्रतिबंधित किया जाना चाहिए।" 

किसी संगठन पर प्रतिबंध लगाना कोई समाधान नहीं- येचुरी 

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि किसी संगठन पर प्रतिबंध लगाना कोई समाधान नहीं है, क्योंकि वे अलग नाम से फिर सामने आ जाते हैं। येचुरी ने कहा कि आरएसएस (RSS) पर तीन बार प्रतिबंध लगा, क्या इसने काम करना बंद कर दिया है? येचुरी ने कहा, "प्रतिबंध कोई समाधान नहीं है। पहले भी प्रतिबंधित संगठन नया नाम लेकर आते रहे हैं। सिमी को देखिए, इस पर प्रतिबंध लगा दिया गया और नतीजा क्या हुआ।" उन्होंने कहा, "सभी प्रकार की आतंकी गतिविधियों को रोका जाना चाहिए और इसी तरह बुलडोजर की राजनीति भी होनी चाहिए।"

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें बिहार सेक्‍शन