Tuesday, June 18, 2024
Advertisement

सारण में क्यों चली गोली, रोहिणी आचार्य पर क्या है आरोप, क्यों राजपूत vs यादव हुआ मामला?

सारण सीट पर 20 मई को वोटिंग के बाद से तनाव फैला हुआ है। वोटिंग के दिन रोहिणी आचार्य के बूथ पर आने से फैले तनाव ने हिंसा का रूप ले लिया जिसमें 1 शख्स की गोली लगने से मौत हो गई है।

Reported By : Nitish Chandra Edited By : Subhash Kumar Updated on: May 22, 2024 13:17 IST
सारण में चुनाव के बाद हिंसा। - India TV Hindi
Image Source : ANI सारण में चुनाव के बाद हिंसा।

बिहार की सारण लोकसभा सीट पर चुनाव के बाद काफी हिंसा देखने को मिली है। 20 मई को पांचवें फेज में सारण सीट पर वोटिंग हुई जहां राजद की ओर से लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य और भाजपा की ओर से राजीव प्रताप रूडी मैदान में हैं। हालांकि, वोटिंग के अगले दिन ही क्षेत्र में तनाव फैल गया जब दो पक्षों के बीच हुए विवाद के कारण 1 राजद समर्थक की गोली लगने से मौत हो गई। वहीं, 2 लोग घायल भी हैं। आइए जानते हैं क्या इस घटना की इनसाइड स्टोरी और ये कि अब तक पुलिस ने इस मामले में क्या-क्या कार्रवाई की है। 

रोहिणी पर क्या है आरोप?

दरअसल, वोटिंग के दिन रोहिणी सारण के भिखारी चौक पोलिंग बूथ पर दो बार पहुंची थीं। चश्मदीदों के मुताबिक दूसरी बार रोहिणी को देखकर बीजेपी समर्थक भड़क गए और नारेबाजी शुरू कर दी। इस दौरान रोहिणी पर बीजेपी समर्थकों को डराने धमकाने के आरोप लगे। उनपर वोटिंग प्रभावित करने का आरोप भी लगा। बूथ पर रोहिणी आचार्य के विरोध से नाराजगी फैल गई और वोटिंग के दौरान नारेबाजी और पथराव भी हुआ। 

राजपूत वर्सेज यादव में तब्दील हुआ हंगामा?

सारण हिंसा को लेकर चश्मदीदों ने बड़ा खुलासा किया है। चश्मदीदों ने बताया है कि ये हिंसा राजपूत Vs यादव गुट के बीच भड़की है। वोटिंग के अगले दिन भिखारी चौक पर RJD-BJP समर्थकों के बीच हंगामा हुआ। इसमें BJP समर्थकों पर गोली चलाने का आरोप लगा। लोगों ने बताया कि एक दूसरे को ललकारते हुए अचानक अटैक किया गया है। रोहिणी पर हंगामे के बाद दो गुट भिड़ गए जिसके बाद पूरा हंगामा राजपूत वर्सेज यादव में तब्दील हो गया था। 

FIR में ज्यादातर एक ही पक्ष के नाम

सारण की घटना के बाद पुलिस एक्शन मोड में है। पुलिस ने इस मामले में अब तक 12 नामजद, 50 अज्ञात लोगों को खिलाफ केस दर्ज किया है। इनमें से 2 को गिरफ्तार कर लिया गया है। FIR में दर्ज सभी नामजद आरोपी राजपूत ही हैं। अज्ञात लोगों में भी ज्यादातर एक ही गुट के लोगों के नाम शामिल हैं। चश्मदीदों के मुताबिक आगे की कार्रवाई जारी है। 

सेल्फ डिफेंस या जानबूझकर चली गोली?

सारण के एसपी के मुताबिक सीसीटीवी फुटेज और चश्मदीदों के मुताबिक आगे की कार्रवाई जारी है। थाना प्रभारी लाइन हाजिर हुए हैं और जो भी इन्वेस्टिगेशन में क्लीयर होगा उसके मुताबिक एक्शन लिया जाएगा। भाजपा प्रत्याशी राजीव प्रताप रूडी के आत्मरक्षा में गोली चलने के बयान पर SP ने कहा है कि ये तो न्यायालय तय करेगा। क्षेत्र में भारी पुलिसबल तैनात किया गया है। वहीं, 2 दिन तक इंटरनेट भी बंद कर दिया गया है। 

डिप्टी सीएम ने भी रोहिणी पर उठाए सवाल

छपरा में हुए विवाद पर बिहार के उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने भी रोहिणी आचार्य पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि हम लोगों ने जांच के लिए कहा है, इसकी जांच होनी चाहिए। इतने पुलिस वाले उनके साथ क्यों घुम रहे हैं। ये जांच का विषय है। पाटलीपुत्र में भी लालू यादव या राबड़ी के अंगरक्षक मीसा भारती के साथ घूम रहे हैं। जांच करने के बाद तुरंत कार्रवाई की जाएगी। एक ही बूथ पर अगर कोई रोहिणी आचार्य उम्मीदवार दो बार जाकर परेशान करे तो ये दुर्भाग्यपूर्ण है।

ये भी पढ़ें- छपरा में बवाल के बाद नगर थानाध्यक्ष सस्पेंड, जिले में बंद की गई मोबाइल इंटरनेट सेवा, इलाके में पुलिस का फ्लैग मार्च


बिहार: सारण में चुनाव के बाद हिंसा, 2 पक्षों के बीच फायरिंग, एक की मौत और 2 घायल, लालू की बेटी हैं उम्मीदवार

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें बिहार सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement