ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. दिल्ली
  4. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 100 लो फ्लोर वातानुकूलित बसों को हरी झंडी दिखाई

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 100 लो फ्लोर वातानुकूलित बसों को हरी झंडी दिखाई

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि 'दिल्ली के सार्वजनिक परिवहन के बेड़े में आज से 100 लो-फ़्लोर AC CNG बसें भी जुड़ गई हैं जो बाहरी दिल्ली के घुम्मनहेड़ा डिपो से दिल्ली के ग्रामीण क्षेत्र में चलेंगी। आने वाले दिनों में कई CNG और इलेक्ट्रिक बसें भी आने वाली हैं।'

IndiaTV Hindi Desk Written by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: January 14, 2022 16:57 IST
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 100 लो फ्लोर वातानुकूलित बसों को हरी झंडी दिखाई- India TV Hindi
Image Source : TWITTER/@ARVINDKEJRIWAL दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 100 लो फ्लोर वातानुकूलित बसों को हरी झंडी दिखाई

Highlights

  • आने वाले दिनों में कई CNG और इलेक्ट्रिक बसें भी आने वाली हैं- केजरीवाल
  • 'दिल्ली के सार्वजनिक परिवहन बस सेवा के बेड़े में कुल बसों की संख्या 6,900 हो गई है'

नयी दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को राजघाट डिपो पर 100 लो फ्लोर वातानुकूलित बसों को हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर उन्होंने दावा किया गया कि इसके साथ ही दिल्ली के सार्वजनिक परिवहन बस सेवा के बेड़े में कुल बसों की संख्या 6,900 हो गई है, जो अबतक का सबसे बड़ा बेड़ा है। वहीं, कार्यक्रम में शामिल दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि शहर का परिवहन विभाग अप्रैल तक 300 ई-बसों को लाने की कोशिश कर रहा है।

CM अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘‘इन 100 बसों को शामिल करने के साथ सार्वजनिक परिवहन बसों के बेड़े में इनकी संख्या बढ़कर 6,900 हो गई है, जो अबतक का सर्वाधिक है। इससे पहले राष्ट्रमंडल खेलों (वर्ष 2010)के दौरान बेड़े में सबसे अधिक करीब 6000 बसें थी।’’ उन्होंने कहा कि सरकार ई-बसों सहित कई और बसें खरीद रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि 'दिल्ली के सार्वजनिक परिवहन के बेड़े में आज से 100 लो-फ़्लोर AC CNG बसें भी जुड़ गई हैं जो बाहरी दिल्ली के घुम्मनहेड़ा डिपो से दिल्ली के ग्रामीण क्षेत्र में चलेंगी। आने वाले दिनों में कई CNG और इलेक्ट्रिक बसें भी आने वाली हैं।'

केजरीवाल ने कहा, ‘‘निविदा की प्रक्रिया और अन्य औपचारिकताओं की वजह से नयी बसों को आने में दो से तीन साल का समय लगता है, यह एक रात में नहीं हो सकता। जब हमारी सरकार बनी, तब बसों की कमी थी क्योंकि कई वर्षों से नयी बसों की खरीद नहीं की गई थी। जब हमने खरीद की प्रक्रिया शुरू की, तब बसों की संख्या बढ़ी।’’ केजरीवाल ने कहा कि 100 नयी बसों में से अधिकतर गुमनहेड़ा डिपो से ग्रामीण मार्गों पर चलेंगी।

उन्होंने कहा, ‘‘हम सार्वजनिक परिवहन को मजबूत करने को लेकर प्रतिबद्ध हैं ताकि सुनिश्चित हो सके कि लोगों को नियमित अंतराल पर यात्रा के लिए बसें मिलें।’’ इस बीच, परिवहन मंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘बधाई हो। आज हमने बीएस-VI मानक वाले 100 और वातानुकूलित सीएनजी बसों को अपने बेड़े में शामिल किया। माननीय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के शानदार नेतृत्व में दिल्ली में वर्ष 2022 में और आधुनिक बसें देखने को मिलेंगी, जिनमें 100 प्रतिशत बिजली से चलने वाली बसों को भी बेड़े में शामिल किया जा रहा है।’’

गहलोत ने बताया कि प्रोटोटाइप ई-बस को मुख्यमंत्री सोमवार को हरी झंडी दिखाएंगे। उन्होंने बताया कि फरवरी के पहले या दूसरे हफ्ते में 50 और ई-बसें आएंगी और अप्रैल तक 300 ऐसी बसों को लाने की कोशिश की जा रही है। 

elections-2022