1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. दिल्ली
  4. Jahangirpuri Violence : आरोपी सोनू चिकना की आज कोर्ट में पेशी, संवेदनशील इलाकों में ड्रोन से निगरानी

Jahangirpuri Violence : आरोपी सोनू चिकना की आज कोर्ट में पेशी, संवेदनशील इलाकों में ड्रोन से निगरानी

देर शाम दिल्ली पुलिस ने जहांगीरपुरी में फ्लैग मार्च निकाला। इलाके में हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में हैं।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: April 19, 2022 9:50 IST
Jahangirpuri Delhi- India TV Hindi
Image Source : PTI Jahangirpuri Delhi

Highlights

  • जहांगीरपुरी हिंसा मामले में अब तक 25 आरोपी गिरफ्तार
  • मस्जिद पर भगवा झंडा लहराने की बात गलत-दिल्ली पुलिस कमिश्नर
  • गृह मंत्री अमित शाह ने सख्त एक्शन लेने का दिया निर्देश

नई दिल्ली : जहांगीर हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने अबतक कुल 25 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वही दंगे के दौरान फायरिंग करनेवाले शख्स सोनू चिकना को पुलिस ने कर देर शाम गिरफ्तार किया। उसे आज कोर्ट में पेश किया जाएगा। देर शाम दिल्ली पुलिस ने जहांगीरपुरी में फ्लैग मार्च निकाला। इलाके में हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में हैं। पुलिस पर पथराव करने वाली सलमा और दगाइयों को बोतलें सप्लाइ करने वाले शेख को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। इस बीच केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को निर्देश दिया है कि दंगाईयों पर सख्त एक्शन लिया जाए। 

शोभायात्रा के लिए नहीं ली गई थी प्रशासन से इजाजत 

दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने कहा कि हिंसक झड़पों में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा, चाहे वे किसी भी वर्ग, पंथ या धर्म के हों। दिल्ली पुलिस ने यह स्वीकार किया कि हिंदू संगठनों द्वारा आयोजित तीसरी हनुमान जयंती शोभायात्रा को प्रशासनिक अनुमति नहीं दी गई थी। हनुमान जयंती के दिन हिंसा की घटना में आठ पुलिसकर्मियों और एक नागरिक सहित नौ लोग घायल हो गए थे। 

200 से अधिक वीडियो की पड़ताल 

इस मामले में अभी तक कुल 25 लोगों को पकड़ा गया है। इनमें दो किशोर भी शामिल हैं। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी एवं विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के एक स्थानीय नेता प्रेम शर्मा से पूछताछ की और बाद में उसे छोड़ दिया। पुलिस के अनुसार, वह 200 से अधिक वीडियो की पड़ताल कर रहे हैं ताकि उन लोगों की पहचान की जा सके जो हिंसा के पीछे थे। अस्थाना ने कहा कि 16 अप्रैल की झड़पों की जांच के लिए 14 टीमों का गठन किया गया है। 

निगरानी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल

जहांगीर पुरी के संवेदनशील इलाकों में 500 से अधिक पुलिसकर्मी और अतिरिक्त बलों की छह कंपनियां तैनात हैं। अधिकारी ने बताया कि कुल 80आंसू गैस दल और पानी की बौछार करने वाले दलों को तैनात किया गया है। संवेदनशील इलाकों में छतों की निगरानी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है। किसी भी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए सभी वरिष्ठ अधिकारियों को घटनास्थल पर मौजूद रहने के निर्देश दिए गए हैं।