1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. इलेक्‍शन
  4. इलेक्‍शन न्‍यूज
  5. कांग्रेस को चुनाव नतीजों के पहले सता रहा डर! जानिए पार्टी उम्मीदवारों को क्यों दिलाई शपथ?

कांग्रेस को चुनाव नतीजों के पहले सता रहा डर! जानिए पार्टी उम्मीदवारों को क्यों दिलाई शपथ?

गोवा के दो प्रमुख धार्मिक स्थल पणजी स्थित महालक्ष्मी मंदिर और बामबोलिम स्थित होली क्रॉस के सामने 36 कांग्रेसी उम्मीदवारों को पार्टी की तरफ से कसम दिलाई गई। शपथ विधी के इस कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम सहित तमाम गोवा कांग्रेस के बड़े नेता भी मौजूद थे।

Dinesh Mourya Reported by: Dinesh Mourya @dineshmourya4
Updated on: January 22, 2022 22:27 IST
कांग्रेस को चुनाव से पहले सता रहा डर! जानिए पार्टी उम्मीदवारों को क्यों दिलाई शपथ?- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO कांग्रेस को चुनाव से पहले सता रहा डर! जानिए पार्टी उम्मीदवारों को क्यों दिलाई शपथ?

Highlights

  • कांग्रेसी उम्मीदवारों को शपथ दिलाई गई कि चुनकर आने के बाद वो पार्टी नहीं छोड़ेंगे
  • पिछले चुनाव में जीतकर आने वाले 17 कांग्रेसी उम्मीदवारों में से 15 विधायक पार्टी छोड़कर चले गए थे
  • गोवा की सभी 40 विधानसभा सीटों के लिए 14 फरवरी को वोटिंग, मतगणना 10 मार्च को होगी

Goa Vidhan Sabha Chunav 2022: चुनाव नतीजों के पहले ही कांग्रेस को डर सताने लगा है कि कहीं जीतने के बाद उनके नेता पार्टी छोड़कर ना चले जाएं। इसलिए आज गोवा विधानसभा चुनाव के सभी कांग्रेसी उम्मीदवारों को शपथ दिलाई गई कि चुनकर आने के बाद वो पार्टी नहीं छोड़ेंगे। कांग्रेस और गोवा के लोगों का विश्वास नहीं तोड़ेंगे, 5 साल तक कांग्रेस के साथ रहेंगे। 

गोवा के दो प्रमुख धार्मिक स्थल पणजी स्थित महालक्ष्मी मंदिर और बामबोलिम स्थित होली क्रॉस के सामने 36 कांग्रेसी उम्मीदवारों को पार्टी की तरफ से कसम दिलाई गई। शपथ विधी के इस कार्यक्रम के दौरान गोवा विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के वरिष्ठ चुनाव पर्यवेक्षक पी चिदंबरम सहित तमाम गोवा कांग्रेस के बड़े नेता भी मौजूद थे। पिछले चुनाव में जीतकर आने वाले 17 कांग्रेसी उम्मीदवारों में से 15 विधायक पार्टी छोड़कर चले गए थे। 

शपथ लेने के बाद गोवा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिगंबर कामत ने कहा कि, अगर बच्चा छोड़कर चला जाता है तो सिर्फ अभिभावक ही जिम्मेदार नहीं होते हैं, बच्चा भी जिम्मेदार होता है। हमारे लोगों को खरीदने वाले भी जिम्मेदार होते हैं। वहीं राज्य में टीएमसी और आम आदमी पार्टी ये प्रचार कर रही है कि, कांग्रेस को वोट देना मतलब बीजेपी को वोट देना है क्योंकि, जीतने के बाद कांग्रेसी विधायक बीजेपी में शामिल हो जाएंगे। 

बता दें कि, गोवा की सभी 40 विधानसभा सीटों के लिए आगामी 14 फरवरी को वोटिंग होगी और वोटों की ग‍िनती 10 मार्च को होगी। गोवा विधानसभा चुनाव में मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के बीच है। वहीं आम आदमी पार्टी (आप), महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) समेत अन्य दलों ने भी अपने उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं।

erussia-ukraine-news