1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. इलेक्‍शन
  4. इलेक्‍शन न्‍यूज
  5. यूपी चुनावों के पहले फेज में सपा के 75, BJP के 51% कैंडिडेट्स के खिलाफ क्रिमिनल केस: ADR

UP Elections 2022: एडीआर ने कहा, यूपी चुनाव के पहले चरण में 25 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले

एडीआर ने कहा कि कुल 623 उम्मीदवार मैदान में हैं और उनमें से 8 के हलफनामों का विश्लेषण नहीं किया जा सका क्योंकि वे स्कैन नहीं किए गए थे या अधूरे थे।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: February 02, 2022 23:06 IST
UP Elections 2022, UP Elections 2022 News, UP Elections 2022 Candidates Criminal cases- India TV Hindi News
Image Source : PTI REPRESENTATIONAL उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए 25 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले हैं।

Highlights

  • ADR ने कहा कि प्रमुख दलों में, समाजवादी पार्टी के 28 उम्मीदवारों में से 21 (75 प्रतिशत) के खिलाफ आपराधिक केस हैं।
  • ADR ने कहा कि 12 उम्मीदवार ऐसे भी हैं जिन्होंने ‘महिलाओं के खिलाफ अपराध’ से संबंधित मामले घोषित किए हैं।
  • AAP के 52 उम्मीदवारों में से 5 (10 फीसदी) ने अपने खिलाफ 'गंभीर आपराधिक मामले' घोषित किए हैं।

नोएडा/नयी दिल्ली: चुनाव सुधारों की वकालत करने वाले समूह एडीआर के अनुसार, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए 25 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले हैं, जिनमें से 12 महिलाओं के खिलाफ अपराध के आरोप हैं और 6 पर हत्या का आरोप है। ‘द एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स’ (ADR) ने कहा कि उसने राज्य के 11 जिलों में 58 विधानसभा सीटों से राजनीतिक दलों के 615 उम्मीदवारों और निर्दलीय उम्मीदवारों के स्व-हलफनामों का विश्लेषण किया है। इन सीटों पर 10 फरवरी को चुनाव होने हैं।

‘कुल 623 उम्मीदवार मैदान में हैं, 156 के खिलाफ केस’

एडीआर ने कहा कि कुल 623 उम्मीदवार मैदान में हैं और उनमें से 8 के हलफनामों का विश्लेषण नहीं किया जा सका क्योंकि वे स्कैन नहीं किए गए थे या अधूरे थे। उम्मीदवारों की आपराधिक पृष्ठभूमि पर, एडीआर ने कहा, ‘विश्लेषण किए गए 615 उम्मीदवारों में से 156 (25 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं, जबकि 121 (20 प्रतिशत) ने अपने खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले घोषित किए हैं।’ 

सपा के 75 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ क्रिमिनल केस
ADR ने कहा कि प्रमुख दलों में, समाजवादी पार्टी (सपा) के 28 उम्मीदवारों में से 21 (75 प्रतिशत), राष्ट्रीय लोकदल (RLD) के 29 उम्मीदवारों में से 17 (59 प्रतिशत) उम्मीदवारों के खिलाफ क्रिमिनल केस हैं। उसने कहा कि इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी (BJP) के 57 उम्मीदवारों में से 29 (51 प्रतिशत), कांग्रेस के 58 उम्मीदवारों में से 21 (36 प्रतिशत), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के 56 उम्मीदवारों में से 19 (34 प्रतिशत) और आम आदमी पार्टी (AAP) के 52 उम्मीदवारों में से 8 (15 प्रतिशत) ने अपने हलफनामों में अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं।

‘सपा के 61 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ गंभीर मामले’
एडीआर ने कहा कि प्रमुख दलों में, सपा के 28 उम्मीदवारों में से 17 (61 प्रतिशत), RLD के 29 उम्मीदवारों में से 15 (52 प्रतिशत), BJP के 57 उम्मीदवारों में से 22 (39 प्रतिशत), कांग्रेस के 58 उम्मीदवारों में से 11 (19 फीसदी), बसपा के 56 उम्मीदवारों में से 16 (29 फीसदी) और AAP के 52 उम्मीदवारों में से 5 (10 फीसदी) ने अपने खिलाफ 'गंभीर आपराधिक मामले' घोषित किए हैं। समूह के अनुसार, 12 उम्मीदवार ऐसे भी हैं जिन्होंने ‘महिलाओं के खिलाफ अपराध’ से संबंधित मामले घोषित किए हैं और उनमें से एक ने रेप (IPC की धारा 376) से संबंधित मामला घोषित किया है।

>independence-day-2022