Dengue से बचाव के लिए गिलोय, तुलसी और पपीता का ऐसे करें इस्तेमाल, नहीं गिरेंगे प्लेटलेट्स

दिल्ली-एनसीआर में तेजी से डेंगू बुखार (Dengue fever) के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इस फैलते संक्रमण से बचना बेहद जरूरी है।

Akanksha Tiwari Written By: Akanksha Tiwari @akankshamini
Updated on: October 15, 2022 10:11 IST
how to increase platelets- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK Dengue से बचाव के लिए गिलोय, तुलसी और पपीता का ऐसे करें इस्तेमाल

Highlights

  • दिल्ली-एनसीआर में डेंगू से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है
  • डेंगू से पीड़ित मरीजों में प्लेटलेट्स तेजी से गिरने लगते हैं
  • पपीते के पत्ते का जूस पीने से प्लेटलेट्स बढ़ जाते हैं

Dengue: देश में इन दिनों डेंगू बुखार से पीड़ित रोगियों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। अक्टूबर के महीने में डेंगू और चिकनगुनिया (Dengue and Chikungunya) के मरीज बढ़ने लगे हैं। डेंगू एडीज मच्छर के काटने से होता है, जब ये मच्छर किसी व्यक्ति को काटता है तो खून के रास्ते डेंगू वायरस भी शरीर में जाता है। इस बीमारी से हर साल कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ती है। लेकिन अगर हम समय से सतर्क हो जाएं और पहले से बचाव के उपाय करने लगें तो इस बीमारी से बचा जा सकता है। इसके लिए सबसे पहले ध्यान दें कि अपने आसपास पानी न इकट्ठा होने दें। डेंगू का मच्छर साफ पानी में ही पैदा होता है और दिन के समय में लोगों को काटता है। इसके लिए जरूरी है कि आप घर से बाहर निकलने पर शरीर को कपड़ों से ढक कर निकलें और घर के खिड़की दरवाजों को बंद रखें। इसके साथ ही आप नीम का तेल या फिर लेमन ग्रास के तेल को भी ऑयल बर्नर में डालकर जला सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: Benefits of Herbal Tea: स्‍ट्रेस को दूर भगाती हैं ये 5 तरह की हर्बल टी, मिलते हैं अनगिनत फायदे

अगर कोई व्यक्ति डेंगू की चपेट में आ गया है तो उसमें कुछ लक्षण पहले दिन से दिखने लगते हैं। जिनमें हल्के बुखार के साथ सिर में दर्द का होना और फिर अचानक से बुखार तेज होगा। इसके साथ ही हड्डियों और जोड़ों में दर्द का उठना और कुछ भी खाते ही मतली का आना। अगर आपके शरीर में डेंगू के कारण प्लेटलेट्स कम होने लगेंगे तो आपकी त्वचा पर लाल चकत्ते दिखेंगे। यहां हम आपको बताने वाले हैं कुछ उपाय जिन्हें अपनाकर आप डेंगू होने पर खुद को जल्द फिट कर पाएंगे।

Health Tips: दिन की शुरुआत होती है सुस्त तो डायट में शामिल करें ये 5 चीजें

तुलसी

आयुर्वेद के अनुसार, डेंगू बुखार में तुलसी काफी फायदेमंद साबित होती है। इसके लिए आप 8 से 10 तुलसी के पत्तों के साथ 4 काली मिर्च को 1 गिलास पानी में डालकर तब तक उबाल लें जब तक की ये आधा ना रह जाए। फिर इस पानी का दिन में 3 बार सेवन करें। इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। यह पानी पीने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है और यह शरीर में एंटी बैक्टीरियल की तरह काम करता है।

बचपन से ही हो रही बच्चों को इन विटामिन की कमी, स्वामी रामदेव से जानिए योग और आयुर्वेदिक उपचार

पपीता

डेंगू बुखार से पीड़ित रोगियों के लिए पपीता रामबाण की तरह है। पपीते के पत्तों में मौजूद पपेन शरीर के पाचन तंत्र को सही रखता है, इसका जूस बनाकर पीने से शरीर में प्लेटलेट्स तेजी से बढ़ते हैं। इसका सेवन प्लेटलेट्स कम होने पर जरूर करें।

गिलोय

आजकल लोग गिलोय की लता घर में भी लगाने लगे हैं। कोरोना काल के बाद से लोगों को गिलोय का असली महत्व पता चल चुका है। यह हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। गिलोय एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है इसके पत्ते के रस का सेवन डेंगू में लाभदायक साबित होता है और इससे प्लेटलेट्स भी तेजी से बढ़ते हैं। 

(डिस्कलेमर: ये आर्टिकल सामान्य जानकारी के लिए है, किसी भी उपाय को अपनाने से पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें)

Latest Health News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन